X

Fact Check : ममता बनर्जी की चोट पर तंज कसने के लिए इस्तेमाल की गई पुरानी तस्वीर

  • By Vishvas News
  • Updated: May 11, 2021

विश्‍वास न्‍यूज (नई दिल्‍ली)। पश्चिम बंगाल के चुनाव भले ही खत्‍म हो गए हों, लेकिन अभी भी इससे जुड़ी फर्जी पोस्‍टों के वायरल होने का दौर थमा नहीं है। अब राज्‍य की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी की दो तस्‍वीरों का एक कोलाज वायरल करते हुए उन पर तंज कसाते हुए लिखा गया कि पश्चिम बंगाल का हेल्‍थ केयर सिस्‍टम दुनिया में सबसे अच्‍छा है।

कोलाज की पहली तस्वीर में ममता व्हीलचेयर पर बैठी नजर आ रही हैं और इसके ऊपर 1 मई 2021 लिखा हुआ है, जबकि दूसरी तस्वीर में वो सड़क पर चलते हुए अपने समर्थकों का हाथ जोड़कर अभिवादन करती दिख रही हैं। तस्वीर के ऊपर 2 मई 2021 लिखा गया। विश्वास न्यूज ने पड़ताल में वायरल पोस्‍ट फर्जी साबित हुई। पहली तस्‍वीर मार्च की है। जबकि दूसरी तस्‍वीर 2019 की है। हालांकि, 5 मई को जब ममता बनर्जी ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, तब तक उनके पैर की चोट ठीक हो गई थी और वे चल कर शपथ लेने पहुंची थीं।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर Avinash Singh ने यह तस्वीर शेयर करते हुए अंग्रेजी में कैप्शन लिखा, जिसका हिंदी अनुवाद है: भारत के पश्चिम बंगाल में विश्व का बेस्ट पब्लिक हेल्थ केयर सिस्टम है।

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने वायरल पोस्ट की पड़ताल के लिए सबसे पहले कोलाज की पहली तस्वीर, जिसमें ममता बनर्जी व्हीलचेयर पर बैठी हुई हैं, उसे गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढा। हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह तस्वीर मिली। 14 मार्च को छपी इन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह तस्वीर तब की है, जब बनर्जी 10 मार्च को घायल हो गई थीं और दो दिन अस्पताल में रहने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया था। वहीं, 14 मार्च को बनर्जी ने नंदीग्राम दिवस के अवसर पर व्हीलचेयर पर ही रोडशो किया था। तस्वीर के लिए फोटोग्राफर सलिल बेरा को क्रेडिट दिया गया है।

इसके बाद बारी थी कोलाज की दूसरी तस्वीर की। हमने इसे भी गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढा तो हमें यह तस्वीर भी कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में मिली। 20 मई को पब्लिश हुई इस आर्टिकल में तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखे गए अंग्रेजी टेक्स्ट का हिंदी अनुवाद है: 16 मई 2019 को कोलकाता में लोकसभा चुनाव के सातवें व अंतिम चरण से पहले कैम्पेनिंग के आखिरी दिन इलेक्शन रैली में अपने समर्थकों का अभिवादन करतीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी। इसके साथ ही तस्वीर के लिए पीटीआई के फोटोग्राफर स्वपन महापात्रा को क्रेडिट दिया गया है।

लिहाजा यह साफ है कि दोनों ही तस्वीरें 1 व 2 मई 2021 की नहीं हैं।

ज्यादा जानकारी के लिए हमने कोलकाता में दैनिक जागरण के ब्यूरो चीफ जे के वाजपेयी से संपर्क किया। उन्होंने कहा कि दोनों तस्वीरें पुरानी हैं। 1 व 2 मई को चुनाव खत्म हो चुका था इसलिए ममता अपने घर पर ही थीं। 2 मई को मतगणना थी।

आपको बता दें कि ममता बनर्जी 5 मई 2021 को तीसरी बार मुख्यमंत्री बनीं। उस समय तक उनके पैर की चोट ठीक हो चुकी थी। यह चोट उन्हें मार्च में लगी थी। वीडियो में देखा जा सकता है ममता खुद चलकर शपथ ग्रहण करने पहुंची थीं।

अब बारी थी फेसबुक पर पोस्ट को साझा करने वाले यूजर Avinash Singh की प्रोफाइल को स्कैन करने का। प्रोफाइल को स्कैन करने पर हमने पाया कि यूजर उत्तर प्रदेश के वाराणसी का रहने वाला है। यूजर फेसबुक पर काफी एक्टिव है और खबर लिखे जाने तक फ्रेंड लिस्ट में उसके 873 लोग जुड़े हुए थे।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में यह साफ हुआ कि वायरल पोस्ट में नजर आ रही ममता बनर्जी की दोनों ही तस्वीरें अलग-अलग समय की हैं। यह तस्वीरें 1 मई 2021 व 2 मई 2021 की नहीं है।

  • Claim Review : ममता बनर्जी पैर में चोट का नाटक कर रही थीं। 1 मई को व्हीलचेयर पर थीं, जबकि 2 मई को पैदल चलती दिखीं।
  • Claimed By : FB User: Avinash Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later