X

Fact Check: पुरी जगन्नाथ मंदिर प्रशासन ने ममता बनर्जी को प्रवेश से नहीं रोका, झूठा दावा हो रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: April 22, 2021

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को लेकर एक दावा वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स दावा कर रहे हैं कि ममता बनर्जी को जगन्नाथ पुरी गई थीं दर्शन के लिए, लेकिन मंदिर प्रशासन ने उन्हें यह कहते हुए अनुमति नहीं दी कि वह हिंदू नहीं हैं। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ममता बनर्जी को लेकर किया जा रहा ये दावा गलत साबित हुआ है। ममता बनर्जी हाल-फिलहाल पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर के दर्शन को गई ही नहीं।

ममता बनर्जी 2017 में जगन्नाथ मंदिर के दर्शन को गई थीं और तब कुछ पुजारियों ने विरोध किया था। हालांकि, तब भी जगन्नाथ मंदिर प्रशासन की तरह मुख्य प्रशासक की तरफ से ममता बनर्जी की यात्रा का स्वागत किया गया था और उन्होंने मंदिर में दर्शन भी किया था। ममता बनर्जी 2020 में भी पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर में दर्शन को जा चुकी हैं।

क्या हो रहा है वायरल

फेसबुक पेज वैश्विक सनातन परिवार ने 19 अप्रैल 2021 को एक पोस्ट किया है। इस पोस्ट में दावा किया गया है कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जगन्नाथ जी के दर्शन किए बगैर वापस लौटना पड़ा। पोस्ट में दावा किया गया है कि मंदिर प्रशासन ने यह कहकर ममता बनर्जी को मंदिर में दर्शन करने की अनुमति नहीं दी कि वह हिंदू नहीं हैं।

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है। फेसबुक यूजर अनामिका मिश्रा ने भी यही वायरल दावा अपनी प्रोफाइल से पोस्ट किया है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने सबसे पहले इंटरनेट पर सर्च कर यह जानना चाहा कि क्या ममता बनर्जी जगन्नाथ मंदिर पहुंची और उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया गया। हमें ऐसी कोई प्रामाणिक मीडिया रिपोर्ट नहीं मिली, जो ममता बनर्जी की किसी हालिया जगन्नाथ मंदिर यात्रा या मंदिर में उन्हें प्रवेश नहीं करने के दावे की पुष्टि करती हो। अगर ममता बनर्जी को जगन्नाथ मंदिर में प्रवेश नहीं करने दिया जाता, तो यह एक बड़ी खबर होती और प्रामाणिक मीडिया हाउस इसे रिपोर्ट जरूर करते। इसके उलट हमें कई पुरानी रिपोर्ट ऐसी मिलीं, जिनमें ममता बनर्जी के जगन्नाथ मंदिर में दर्शन करने की खबरें रिपोर्ट की गई हैं।

हमें 26 फरवरी 2021 को टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों की घोषणा से पहले पुरी के जगन्नाथ मंदिर के पुजारियों ने ममता बनर्जी के कोलकाता स्थित आवास पर पूजा-अर्चना की। इसी रिपोर्ट में बताया गया है कि ममता बनर्जी अक्सर पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर आती-जाती हैं। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

इसी तरह हमें 26 फरवरी 2020 को orissadiary.com पर प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि ममता बनर्जी ने 4 दिवसीय ओडिशा यात्रा के दौरान पुरी के जगन्नाथ मंदिर में दर्शन किया और इस दौरान पुरी के तत्कालीन कलक्टर बलवंत सिंह उनके साथ रहे।

ममता बनर्जी और पुरी के जगन्नाथ मंदिर के बारे में इंटरनेट पर पड़ताल के दौरान हमें 18 अप्रैल 2017 को टाइम्स ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर प्रकाशित एक पुराना आर्टिकल मिला। इस आर्टिकल में बताया गया है कि तब जगन्नाथ मंदिर के कुछ पुजारियों को ममता बनर्जी की यात्रा का विरोध करने के लिए हिरासत में लिया गया था। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

हमें outlookindia.com पर भी 19 अप्रैल 2017 को प्रकाशित एक स्टोरी मिली। इसमें बताया गया है कि कुछ समूहों के विरोध के बीच ममता बनर्जी ने जगन्नाथ मंदिर का दर्शन किया। इस रिपोर्ट के मुताबिक, मंदिर के पुजारियों और प्रशासन की तरफ से तब ममता बनर्जी का स्वागत किया गया था। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

विश्वास न्यूज की अबतक की पड़ताल से ये साफ हो चुका था कि ममता बनर्जी ने हाल में पुरी जगन्नाथ मंदिर की कोई यात्रा नहीं की है। हालांकि, वह इससे पहले कई बार जगन्नाथ मंदिर दर्शन को जा चुकी हैं और मंदिर प्रशासन ने उनका स्वागत भी किया है। विश्वास न्यूज ने इस संबंध में जगन्नाथ मंदिर की सुरक्षा से जुड़े अधिकारी कौशिक नायक से भी संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि ममता बनर्जी और जगन्नाथ मंदिर को लेकर किया जा रहा वायरल दावा सही नहीं है। ऐसी कोई घटना यहां नहीं हुई है। विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे को कोलकाता में मौजूद हमारे सहयोगी दैनिक जागरण ब्‍यूरो चीफ जेके वाजपेयी संग भी शेयर किया। उन्होंने भी पुष्टि करते हुए बताया कि ममता बनर्जी हाल में जगन्नाथ मंदिर की यात्रा पर नहीं गई हैं और वायरल दावा फर्जी है।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे को शेयर करने वाले फेसबुक पेज वैश्विक सनातन परिवार को स्कैन किया। फैक्ट चेक किए जाने तक इस फेसबुक पेज के 95271 फॉलोअर्स थे।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में ममता बनर्जी को लेकर किया जा रहा ये दावा गलत साबित हुआ है। ममता बनर्जी हाल-फिलहाल पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर के दर्शन को गई ही नहीं। ममता बनर्जी 2017 में जगन्नाथ मंदिर के दर्शन को गई थीं और तब कुछ पुजारियों ने विरोध किया था। हालांकि, तब भी जगन्नाथ मंदिर प्रशासन की तरह मुख्य प्रशासक की तरफ से ममता बनर्जी की यात्रा का स्वागत किया गया था और उन्होंने मंदिर में दर्शन भी किया था। ममता बनर्जी 2020 में भी पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर में दर्शन को जा चुकी हैं।

  • Claim Review : ममता बनर्जी को जगन्नाथ पुरी गई थीं दर्शन के लिए, लेकिन मंदिर प्रशासन ने उन्हें यह कहते हुए अनुमति नहीं दी कि वह हिंदू नहीं हैं।
  • Claimed By : फेसबुक पेज वैश्विक सनातन परिवार
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later