X

Quick Fact Check: बिहार चुनाव में मतदान में धांधली के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान हरियाणा में हुई घटना का है

  • By Vishvas News
  • Updated: November 17, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो वायरल हो रहे हैं, जिसमें ईवीएम को हैक किए जाने का दावा किया गया है। ऐसा ही एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि यह बिहार में मतदान के दौरान किसी पोलिंग बूथ पर हुई धांधली की घटना से जुड़ा है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा भ्रामक निकला। वायरल हो रहा वीडियो हरियाणा में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान का है, जिसे बिहार का बताकर वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘محمد زبير الدهلوي’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”यह है हमारे पोलिंग बूथ का हाल! इस वीडियो को “बिहार वोटिंग मतदान में धांधली” का बताया जा रहा है अगर यह सच है तो इस पर संज्ञान लिया जाए।”

यूजर्स ने इस वीडियो को शेयर करते हुए शंका जाहिर की है, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने इसे बिहार की किसी पोलिंग बूथ पर होने वाली धांधली की घटना का बताकर अपनी प्रोफाइल से शेयर किया है।

पड़ताल

इससे पहले भी यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है और तब विश्वास न्यूज ने इसकी पड़ताल की थी। हमारी जांच में यह वीडियो हरियाणा के पृथला निर्वाचन क्षेत्र में मौजूद असावती मतदान केंद्र का था, जहां पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान 12 मई को छठे चरण के तहत वोटिंग हुई थी।

वीडियो में दिख रहा है कि नीली टी-शर्ट पहने पोलिंग एजेंट मतदान केन्द्र में वोट डालने पहुंची महिलाओं के मतदान को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है। जैसी ही एक महिला वोट डालने पहुंचती है, पोलिंग एजेंट ईवीएम के पास पहुंचता है और मशीन का बटन दबा देता है। तुरंत बाद जब दूसरी महिला वोट डालने ईवीएम के पास पहुंचती है तो वह यही काम फिर से करता है।

वीडियो के सामने आने के बाद संबंधित व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया था। फरीदाबाद जिला चुनाव कार्यालय की तरफ से दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘वीडियो में दिख रहा व्यक्ति पोलिंग एजेंट है, जिसे दोपहर बाद गिरफ्तार कर लिया गया। मामले में FIR दर्ज कर लिया गया है।’

जिला चुनाव कार्यालय फरीदाबाद के मुताबिक, ‘पोलिंग एजेंट ने कम से कम 3 महिला मतदाताओं के वोट को प्रभावित करने की कोशिश की। ऑब्जर्वर और एआरओ ने अपनी टीम के साथ पृथवा निर्वाचन क्षेत्र के असावती बूथ का दौरा किया और उन्होंने पाया कि मतदान में कोई गड़बड़ी नहीं हुई।’

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे 10 दिसंबर को आए थे और इसके बाद नीतीश कुमार के नेतृत्व में एक बार फिर से बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की सरकार बनाने में सफल रही है। 16 नवंबर को पटना में नीतीश कुमार ने लगातार चौथी बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

बिहार चुनाव के नतीजे आने के बाद भी कई दलों ने ईवीएम को लेकर सवाल उठाए थे, जिस पर चुनाव आयोग की तरफ से स्पष्टीकरण जारी किया गया था। india.com पर प्रकाशित रिपोर्ट में चुनाव आयुक्त सुदीप जैन के बयान के मुताबिक, ‘यह समय-समय पर साबित हो चुका है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने भी कई बार ईवीएम की विश्वसनीयता पर मुहर लगाई है। चुनाव आयोग ने भी वर्ष 2017 में ईवीएम चैलेंज का आयोजन किया था। ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाने का कोई आधार नहीं है और इसमें कोई सच्चाई नहीं है।’

वायरल वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर ने अपनी प्रोफाइल में खुद को नई दिल्ली का रहने वाला बताया है।

निष्कर्ष: बिहार चुनाव के दौरान पोलिंग बूथ पर मतदान के दौरान धांधली के दावे के साथ वायरल हो रहा वीडियो पिछले साल लोकसभा चुनाव के दौरान हरियाणा में हुई घटना का है, जिसमें बिहार विधानसभा चुनाव का बताकर वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : बिहार चुनाव के दौरान मतदान केंद्र पर धांधली
  • Claimed By : Twitter User - محمد زبير الدهلوي
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later