X

Fact Check: मेडिकल ऑक्सीजन का विकल्प नहीं है कार्बो वेजीटैबिलिस होम्योपैथी दवा, वायरल पोस्ट का दावा भ्रामक

  • By Vishvas News
  • Updated: May 14, 2021

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सोशल मीडिया पर इससे जुड़ी भ्रामक खबरें भी खूब शेयर की जा रही हैं। ऐसी ही एक पोस्ट एक यूजर ने विश्वास न्यूज के साथ वॉट्सऐप पर शेयर की है। इस पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि अगर किसी को सांस लेने में कठिनाई हो रही है, तो चिंता करने की बात नहीं है। दावे के मुताबिक, होम्योपैथी दवा कार्बो वेजीटैबिलिस 30 या 200 पोटेंसी में 2-3 बूंद लेने से ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाने में मदद मिलती है। इसमें आगे दावा किया गया है कि यह दवा होम्योपैथिक ऑक्सीजन सिलेंडर है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये दावा भ्रामक निकला है। होम्योपैथी के एक्सपर्ट डॉक्टर्स का कहना है कि कार्बो वेज दवा से ऑक्सीजन का स्तर जरूर सुधर सकता है, लेकिन ये सबकुछ मरीज के लक्षणों पर निर्भर करता है कि उसे कौन-सी दवा देनी है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, इस दवा को ऑक्सीजन सिलेंडर का विकल्प नहीं समझा जा सकता।

क्या हो रहा है वायरल

विश्वास न्यूज को अपने वॉट्सऐप चैटबॉट पर यूजर्स की तरफ से एक पोस्ट मिली है। इस पोस्ट में लिखा है, ‘जरूरी सूचना कूछ दिन से देश के सभी NEWS CHANNEL पर एक खबर चल रही है…OXYGEN की कमी…आप सब भी देख रहे होगे…डरने की कोई बात नही मिञो…जिस भी भाई को सांस लेने मे दिकत हो रही है या सांस लेने मे घबराहट होती है!!! Carbo vegetabilis 30 or 200 (Homeopathy medicine) की दो तीन बूंदे अपनी जीभ पर डाले फिर result देखे..इस medicine को Homeopathy मे oxygen cylinder कहा गया है..ये शरीर मे oxygen की माञा को पूरी करती है….ऐ medicine हर homeopathy store पर है…जिस भाई को भी सांस लेने मे दिकत है ….homeopathic oxygen cylinder(CARBO VEG.) अपने घर रख सकता है…फिर मिलेगे।’

यहां पोस्ट में लिखी गई बातों को फैक्ट चेक के उद्देश्य से ज्यों का त्यों पेश किया गया है। हमें यही पोस्ट फेसबुक पर भी वायरल मिली है। फेसबुक यूजर Nitesh Pillai ने 26 अप्रैल 2021 को इसे पोस्ट किया है। इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देख सकते हैं।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने सबसे पहले जरूरी कीवर्ड्स की मदद से कोर्बो वेज 30/200 होम्योपैथी दवा के बारे में इंटरनेट पर पड़ताल शुरू की। इंटरनेट पर हमें कहीं भी ऐसी कोई भरोसेमंद जानकारी नहीं मिल पाई कि यह दवा ऑक्सीजन का स्तर बढ़ा सकती है या मेडिकल ऑक्सीजन के विकल्प के रूप में काम आ सकती है।

हमें अपनी पड़ताल के दौरान यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की आधिकारिक वेबसाइट पर एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट के मुताबिक, कार्बो वेज पेट की सूजन और गैस की समस्या के साथ अन्य बीमारियों में कारगर है। हालांकि, किसी भी कोई दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए।

विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे के संबंध में डॉक्टर संजीव कोहली से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, ‘यह पोस्ट भ्रामक है। होम्योपैथिक दवाओं का इस्तेमाल लक्षणों के आधार पर होता है। यह दवा ऑक्सीजन का विकल्प नहीं हो सकती।’

हमने एमडी (होम्योपैथी) प्रोफेसर डॉक्टर एके गुप्ता से भी संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, ‘होम्योपैथिक दवा कार्बो वेजीटैबिलिस मरीजों में सांस की परेशानी की स्थिति में कारगर है। बेहोशी जैसी अवस्थाओं में यह पाया गया कि मरीज सामान्य हुए हैं। यह मरीजों को आसानी से सांस लेने में मदद करता है इसलिए ऑक्सीजन स्तर भी सुधरता है। यह सब तब होता है, जब मरीजों में इस तरह के लक्षण होते हैं। लेकिन लोगों का यह सोचना कि इनसे यह ऑक्सीजन का विकल्प बन जाएगा, गलत है। लक्षणों को अच्छे से समझा जाना जरूरी है और सेल्फ मेडिकेशन नहीं किया जाना चाहिए। किसी समस्या के ठीक इलाज के लिए लोगों को अपने होम्योपैथी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।’

आपको बता दें कि अभी हाल में ही ऐसी पोस्ट काफी वायरल हुईं, जिनमें एस्पिडोस्पर्मा क्यू को ऑक्सीजन के विकल्प के रूप में पेश किया गया। विश्वास न्यूज ने इस दवा से भी जुड़े दावों का खुलासा किया था। तब किए गए फैक्ट चेक को यहां नीचे देखा जा सकता है।

निष्कर्ष: कार्बो वेजीटैबिलिस होम्योपैथी दवा मेडिकल ऑक्सीजन का विकल्प नहीं हो सकती है। वायरल पोस्ट का दावा भ्रामक है।

  • Claim Review : होम्योपैथी दवा कार्बो वेजीटैबिलिस 30 या 200 पोटेंसी में 2-3 बूंद लेने से ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाने में मदद मिलती है। इसमें आगे दावा किया गया है कि यह दवा होम्योपैथिक ऑक्सीजन सिलेंडर है।
  • Claimed By : वॉट्सऐप यूजर
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later