X

Fact Check: अनानास वाले गर्म पानी से नहीं मरते हैं कैंसर के सेल्स, वायरल दावा फर्जी

अनानास वाले गर्म पानी से कैंसर के सेल्स नहीं मरते हैं। साथ ही अल्कलाइन वाटर से भी कैंसर को ठीक नहीं किया जा सकता है। अभी तक किसी भी अध्ययन में यह साबित नहीं हुआ है।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 8, 2022
hot pineapple water, cancer, fact check, fake news, rajiv gandhi cancer institute,

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर कैंसर के इलाज को लेकर एक पोस्ट वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि अनानास वाला गर्म पानी कैंसर कोशिकाओं को मार सकता है। यह कैंसर के इलाज का एक प्रभावी उपाय है।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि कैंसर के इलाज को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल दावा फेक है। अनानास वाले गर्म पानी से कैंसर के सेल्स नहीं मरते हैं। कैंसर स्पेशलिस्ट ने इस दावे को सिरे से नकार दिया है।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर Ada Nwando Blog (आर्काइव लिंक) ने 1 दिसंबर को पोस्ट किया,

HOT PINEAPPLE WATER
Hot pineapple water can save you a lifetime. Hot pineapple ~ can kill cancer cells.
Cut 2 to 3 pieces of pineapple thinner in a cup, add hot water, it will be “alkaline water”, drink every day, it is good for anyone.
Hot pineapple releases anti-cancer substances, which are the latest advances in effective cancer treatment in medicine.
The hot pineapple fruit has the effect of killing cysts and tumors. Proven to repair all types of cancer.
Hot pineapple water can kill all germs and toxins from the body as a result of alergic/allergies.
The type of medicine with pineapple extract only destroys violent cells, it does not affect healthy cells.
In addition, amino acids and pineapple polyphenols in pineapple juice can regulate high blood pressure effectively preventing the blockage of inner blood vessels, adjusting blood circulation and reducing blood clots.

(अनानास वाला गर्म पानी आपके जीवन को बचा सकता है। गर्म अनानास कैंसर के सेल्स को मार सकता है।
एक कप में अनानास के बारीक—बारीक दो से तीन टुकड़े करिए, उसमें गर्म पानी मिलाइए, यह एक अल्कलाइन वाटर बन जाएगा। इसे रोज पीजिए। यह सबके लिए अच्छा है।
गर्म अनानास कैंसर रोधी पदार्थ छोड़ता है, जो कैंसर के इलाज में नई प्रभावी तकनीक है।
गर्म अनानास फल में सिस्ट और ट्यूमर को मारने की क्षमता होती है। यह सभी प्रकार के कैंसर को ठीक कर सकता है।
गर्म अनानास का पानी एलर्जी/एलर्जी से हुए शरीर के सभी कीटाणुओं और विषाक्त पदार्थों को मार सकता है।
अनानास के अर्क वाली औषधि केवल वॉयलेंट सेल्स को नष्ट करती है, यह स्वस्थ कोशिकाओं पर कोई असर नहीं डालती है।
इसके अलावा, अनानास के रस में अमीनो एसिड और अनानास पॉलीफेनोल्स इनर ब्लड सेल्स के ब्लॉकेज से बचाते हुए हाई ब्लडप्रेशर को प्रभावी ढंग से नियंत्रित कर सकते हैं, ब्लड सर्कुलेशन को एडजस्ट कर सकते हैं और रक्त के थक्कों को कम कर सकते हैं।)

पड़ताल

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले कीवर्ड से इसे सर्च किया। वीओआई डॉट आईडी वेबसाइट पर हमें इससे संबंधित खबर मिली। 3 अगस्त 2021 को छपी रिपोर्ट के अनुसार, सिलोम हॉस्पिटल्स सेमांगी के क्लीनिकल न्यूट्रिशन स्पेशलिस्ट डॉ. इंगे पर्माधी ने कहा कि अनानास वाले गर्म पानी से कैंसर सही नहीं होता है। अनानास या अन्य खाद्य पदार्थों के सेवन से कैंसर कोशिकाओं को ठीक नहीं किया जा सकता है। वहीं, इंडोनेशियाई न्यूट्रिशनिस्ट एसोसिएशन (पर्सगी) के साइंटफिक डिवीजन के अध्यक्ष डॉ. मारुदुत सिटोम्पुल के अनुसार, अनानास की पीएच वैल्यू करीब 4 होती है और यह एसिडिक होता है। अगर इसको पानी में भिगोकर फरमेंटेशन प्रक्रिया की जाती है तो यह अधिक एसिडिक हो जाएगा।

कैंसर डॉट नेट में 16 फरवरी 2021 को छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, अल्कलाइन वाटर वह पानी है जिसका पीएच लेवल नल के पानी से अधिक होता है। किसी चीज का पीएच बताता है कि वह 0 से 14 के पैमाने पर कितना एसिडिक या बेसिक (जिसे अल्कलाइन भी कहा जाता है) है। इसमें लिखा है कि अभी तक किसी भी अध्ययन में यह साबित नहीं हुआ है कि अल्कलाइन वाटर पीने से कैंसर का इलाज हो सकता है। इस दावे को लेकर डायटीशियन एंड न्यूट्रीशनिस्ट जूली एलजी लैनफोर्ड का कहना है कि अल्कलाइन वाटर से कैंसर सही नहीं होता है। शुक्र है, हमारे गुर्दे और फेफड़े हमारे पीएच को नियंत्रित करते हैं, जहां उन्हें होना चाहिए। हां, अल्कलाइन वाटर हमारे शरीर को हानि नहीं पहुंचाता है।

इस बारे में हमने राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर में कार्यरत कैंसर विशेषज्ञ डॉ. संदीप पुरोहित से बात की और उनके साथ वायरल मैसेज को शेयर किया। उनका कहना है, ‘अनानास वाले गर्म पानी से कैंसर सेल्स नहीं मरते हैं। साथ ही कोई भी फल, जिसमें विटामिन सी होता है, एक एंटी-ऑक्सीडेंट है, जो अनहेल्दी भोजन और जीवनशैली के कारण उत्पन्न हानिकारक ऑक्सीडेंट को बेअसर करने में मदद कर सकता है, लेकिन यह कैंसर कोशिकाओं को नहीं मारता है।

वहीं, अपोलो हॉस्पिटल नोएडा के कैंसर स्पेशलिस्ट डॉ. मनीष सिंघल का कहना है, ‘अनानास वाले गर्म पानी से कैंसर ठीक होने का मैसेज अफवाह ​है। अपने इलाज को मत छोड़ें और अनानास वाले गर्म पानी से नुकसान न होने दें।

गलत मैसेज को शेयर करने वाले फेसबुक पेज Ada Nwando Blog को हमने स्कैन किया। 18 अगस्त को बने इस पेज के 20 फॉलोअर्स हैं।

इससे पहले गर्म नारियल पानी से कैंसर ठीक होने का मैसेज वायरल हो चुका है। ​विश्वास न्यूज की रिपोर्ट को यहां पढ़ा जा सकता है।

निष्कर्ष: अनानास वाले गर्म पानी से कैंसर के सेल्स नहीं मरते हैं। साथ ही अल्कलाइन वाटर से भी कैंसर को ठीक नहीं किया जा सकता है। अभी तक किसी भी अध्ययन में यह साबित नहीं हुआ है।

  • Claim Review : अनानास वाला गर्म पानी कैंसर कोशिकाओं को मार सकता है।
  • Claimed By : FB User- Ada Nwando Blog
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later