X

Fact Check: फुटबॉलर मेसी को दोहा में गिरफ्तार किए जाने का दावा अफवाह, वायरल तस्वीर पुरानी

फीफा वर्ल्ड कप के दौरान दोहा में लियोनेल मेसी की गिरफ्तारी की खबर फर्जी है। 2012 की तस्वीर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 30, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर अर्जेटीना के फुटबॉल खिलाड़ी लियोनेल मेसी की एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें उनके इर्द-गिर्द पुलिसवालों को देखा जा सकता है। इस तस्वीर को फीफा के वर्ल्डकप के दौरान शेयर करते हुए यूजर दावा कर रहे हैं कि दोहा पुलिस ने यौन उत्पीड़न के मामले में लियोनेल मेसी को गिरफ्तार कर लिया है।

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि दोहा पुलिस ने मेसी को गिफ्तार नहीं किया है, यह खबर फर्जी है। वायरल तस्वीर 2012 की है, जब मेसी सऊदी अरब गए थे। उस दौरान भीड़ से बीच-बचाव के लिए वह एक सुरक्षा घेरे में मौजूद थे, जैसा कि आम तौर पर सेलिब्रिटीज के आस-पास देखा जाता है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर ने वायरल पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा, ‘BREAKING : The Police of Qatar has arrested Argentinian footballer Leo Messi in Doha due to sexual harassment.”

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

सबसे पहले हमने कीवर्ड के साथ न्यूज़ सर्च किया, तमाम खोज के बाद भी हमें ऐसी कोई हाल-फिलहाल की खबर नहीं मिली। हालांकि, अगर ऐसी कोई भी खबर सच होती तो सुर्खियों में जरूर मौजूद होती।

बता दें कि कतर में FIFA वर्ल्ड कप 2022 इस वक़्त चल रहा है, जहाँ लियोनेल मेसी भी अपनी टीम की तरफ से खेलने के लिए पहुंचे हुए हैं। उनके स्कोर और गेम से जुड़ी तमाम अपडेट हमें न्यूज़ सर्च में मिली, लेकिन किसी भी प्रमाणित न्यूज़ वेबसाइट या चैनल पर मेसी के दोहा में अरेस्ट होने की कोई खबर मौजूद नहीं है।

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल लेंस के जरिये वायरल तस्वीर को सर्च किया। सर्च में यह तस्वीर 13 नवम्बर 2012 को स्पोर्ट्स डॉट याहू की वेबसाइट पर मिली। यहाँ तस्वीर में दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘अर्जेटीना के फुटबॉलर लिओनेल मेसी के सऊदी अरब में आने की एयरपोर्ट की तस्वीर, जहाँ वह सिक्योरिटी गार्ड्स के बीच में घिरे हुए हैं।”

13 नवंबर 2012 को डेली मेल की वेबसाइट पर भी वायरल तस्वीर जैसी फोटो मिली। यहाँ भी फोटो में मेसी को सऊदी एयरपोर्ट पर सिक्योरिटी गार्ड्स के बीच घिरे हुए बताया गया है।

सर्च में हमें मेट्रो डॉट यूके की वेबसाइट पर 13 नवंबर 2012 को इसी तस्वीर से मिलती-जुलती एक और तस्वीर खबर के साथ मिली। खबर में दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘जब बार्सिलोना स्टार मेसी अपने राष्ट्र की तरफ से सऊदी अरब खेलने पहुंचे तो हवाई अड्डे पर प्रशंसकों की भारी भीड़ जमा थी।। और इन्हीं सबके बीच हवाई अड्डे से ले जाते समय एक सुरक्षाकर्मी की बंदूक गलती से उनके चेहरे पर लग गई, जिसके बाद उनका रिएक्शन हैरानी वाला था।” यहाँ हमें फोटो क्रेडिट में रॉयटर्स का नाम नजर आया।

रॉयटर्स की फोटो गैलरी में सर्च करने पर यही तस्वीर मिली। यहाँ इस फोटो के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘ अर्जेटीना के लियोनेल मेसी 12 नवंबर, 2012 को रियाद में अपनी टीम के साथ पहुंचने पर सुरक्षाकर्मियों के साथ। अर्जेटीना बुधवार को सऊदी अरब के खिलाफ एक फ्रेंडली फुटबॉल मैच खेलेगा।

वायरल वीडियो से जुड़ी पुष्टि के लिए हमने हमारे साथी दैनिक जागरण में स्पोर्ट्स को कवर करने वाले संवाददता अभिषेक त्रिपाठी से संपर्क किया और उन्होंने हमें बताया कि लियोनल मेसी के दोहा में गिरफ्तार होने की खबर झूठ है।

फर्जी पोस्ट को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर की सोशल स्कैनिंग में हमने पाया कि इस पेज को 2,350 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: फीफा वर्ल्ड कप के दौरान दोहा में लियोनेल मेसी की गिरफ्तारी की खबर फर्जी है। 2012 की तस्वीर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : दोहा पुलिस ने यौन उत्पीड़न के मामले में लियोनेल मेसी को गिरफ्तार कर लिया
  • Claimed By : Yellow Yard
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later