X

Fact Check: कर्नाटक बस दुर्घटना में नहीं हुई 17 गायनोकोलॉजिस्ट की मौत, वायरल की जा रही पोस्ट भ्रामक है

  • By Vishvas News
  • Updated: January 19, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर कुछ तस्वीरों के एक कोलाज को शेयर करते हुए यूजर दावा कर रहे हैं कि कर्नाटक में एक बस दुर्घटना में जेजेएमएम कॉलेज के गायनोकॉलोजी डिपार्टमेंट की 17 प्रोफेसर की मौत हो गयी है। विश्वास न्यूज़ ने पोस्ट की पड़ताल की और हमारी तफ्तीश में हमने पाया कि वायरल की जा रही पोस्ट भ्रामक है। कर्नाटक के धारवाड़ में सेंट पॉल स्कूल की पूर्वी छात्राओं का एक ग्रुप सड़क हादसे का शिकार हुआ था, जिसमें दो ड्राइवर्स को मिला कर 11 लोगों की मौत हुई थी, उन्हीं में एक जेजेएमएम कॉलज की गायनोकॉलोजी की प्रोफेसर भी थी, जिनकी हादसे में मौत हो गयी। हालांकि, यह दावा की 17 गायनोकोलॉजिस्ट बस में थी और उन सबकी मौत हुई यह दोनों ही दावे भ्रामक हैं।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक पेज ‘Dr.Jitendra Singh’ ने 16 जनवरी 2021 को एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा, ”RIP 17 lady doctors all #gynaecologist professors of JJMM College Davengere, Karnataka going from Davengere to Goa on picnic trip died on spot on Bengaluru Pune highway when their minibus crashed with a sand laden tipper at DHARWAD at 7.30am on Friday”.

हिंदी अनुवाद: ”जेजेएमएम कॉलेज दावणगेरे, कर्नाटक के दावणगेरे से गोवा के लिए ट्रिप पर जाने वाले सभी #gynaecologist प्रोफेसरों की बेंगलुरु पुणे हाईवे पर उस समय मौत हो गई, जब उनका मिनीबस शुक्रवार को सुबह 7.30 बजे धारवाड़ में रेत से भरे टिप्पर से टकरा गया”।

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

अपनी पड़ताल को शुरू करते हुए सबसे पहले हमने संबंधित कीवर्ड्स के ज़रिये खबरों को सर्च करना शुरू किया। हमारे हाथ दैनिक जागरण की वेबसाइट पर 15 जनवरी 2021 पब्लिश हुई एक खबर लगी, जिसमें बताया गया, ” कर्नाटक में एक दर्दनाक सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत की खबर सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, धारवाड़ में इतिगट्टी (Itigatti) के पास एक मिनीबस और टिपर के बीच टक्कर हो गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे में गई लोगों की जान के प्रति गहरी संवेदना जताते हुए कहा कि दुख की इस घड़ी में वह पीड़ित परिवार के साथ खड़े हैं।” पूरी खबर को यहाँ पढ़े।

न्यू इंडियन न्यूज़ एक्सप्रेस में 15 जनवरी की खबर में हमें वायरल तस्वीर नज़र आई। खबर के मुताबिक, ‘कर्नाटक दावणगेरे के सेंट पॉल कॉन्वेंट के एल्युमिनाई ट्रिप के लिए गोवा जा रहीं पूर्वी छात्राओं की पुणे-बेंगलुरु नेशनल हाईवे 47 पर धारवाड़ के पास गाड़ी में टक्कर होने से 11 लोगो की मौत हो गयी। खबर में आगे बताया गया कि मृतकों में जेजेएमएम कॉलज दावणगेरे की गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर वीणा प्रकाश की भी मौत हुई है। हालांकि, खबर में हमें उस बस में सवार किसी और डॉक्टर के होने या उनकी मौत का कोई ज़िक्र नहीं मिला।

दैनिक भास्कर में हमें वायरल की जा रही बाकी दो तस्वीरें भी मिली, जिसमें इसी बस हादसे के बारे में बताते हुए खबर को लिखा गया है। खबर यहाँ पढ़ें।

विश्वास न्यूज़ ने धारवाड़ पुलिस सुपरिंटेंडेंट (रूरल) पी कृष्णकांतन से संपर्क किया और वायरल खबर के बारे में उन्हें बताया। जिस पर उन्होंने कहा, ’15 जनवरी को सेंट पॉल स्कूल की पूर्वी छात्राओं की एक बस दुर्घटना का शिकार हुई थी, जिसमें दो ड्राइवर को मिला कर 18 लोग सवार थे। घटना में 11 लोगों की मौत हुई जिसमें 9 औरतें और 2 ड्राइवर थे। 7 लोग ज़ख़्मी हैं, जिनका इलाज चल रहा है। हादसे में एक डॉक्टर की मौत भी हुई है, जो जेजेएमएम कॉलज की गायनोकॉलोजी की प्रोफेसर थी। महिलाओं के उस पूरे ग्रुप में सिर्फ एक वही डॉक्टर थीं। 17 गायनोकोलॉजिस्ट और उनकी मौत का दावा गलत है।”

विश्वास न्यूज़ ने दावणगेरे के जेजेएमएम कॉलज के गायनोकोलॉजिस्ट डिपार्टमेंट से भी संपर्क किया और उनके साथ वायरल दावा शेयर किया। उन्होंने हमें बताया गया, ”जेजेएमएम कॉलज की सिर्फ एक डॉक्टर वीणा प्रकाश गायनोकॉलोजी प्रोफेसर उस ग्रुप में थी, जिनकी हादसे में मौत हो गयी है।”

पोस्ट को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाले फेसबुक यूजर ‘Dr.Jitendra Singh’ की सोशल स्कैनिंग में हमने पाया कि यूजर को 19,805 लोग फॉलो करते है। इसके अलावा ज़्यादातर डॉक्टर्स से जुडी पोस्ट इस प्रोफाइल पर शेयर की जाती है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि कर्नाटक के धारवाड़ में हुए सड़क हादसे में 11 लोगों की मौत हुई थी, जिनमें से सर्फ एक गायनोकॉलोजी प्रोफेसर थी। हादसे में 17 गायनोकोलॉजिस्ट और उनकी मौत का दावा भ्रामक है।

  • Claim Review : 17 lady doctors all #gynaecologist professors of JJMM College Davengere, Karnataka going from Davengere to Goa on picnic trip died on spot
  • Claimed By : Dr.Jitendra Singh
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later