X

Fact Check: नोटों से सजा हुआ यह मंदिर तिरुपति बालाजी मंदिर नहीं है

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। तस्वीर में नजर आ रहा मंदिर तिरुपति का बालाजी मंदिर नहीं, बल्कि आंध्र प्रदेश के नेल्लोर में स्थित श्री कन्याका परमेश्वरी मंदिर है।

  • By Vishvas News
  • Updated: July 1, 2022

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही पोस्ट में भारतीय मुद्रा के नोटों से सजा हुआ मंदिर देखा जा सकता है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि यह तिरुपति का बालाजी मंदिर है, जिसे फूलों की जगह नोटों से सजाया गया है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। तस्वीर में नजर आ रहा मंदिर तिरुपति का बालाजी मंदिर नहीं, बल्कि आंध्र प्रदेश के नेल्लोर में स्थित श्री कन्याका परमेश्वरी मंदिर है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट में दावा किया गया है, ‘#तिरुपति_बालाजी मंदिर आंध्र प्रदेश में फूलों की जगह भारतीय नोटों से हुई सजावट की अनोखी कारीगरी की झलक। जय तिरूपति बालाजी।’

https://twitter.com/rskhandal143/status/1536690642990280704

पड़ताल

रिवर्स इमेज सर्च में हमें इससे मिलता-जुलता वीडियो SV TELUGU TV नाम के यूट्यूब चैनल पर 12 अक्टूबर 2021 को अपलोडेड मिला। वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन लिखा था, “अनुवादित: करेंसी नोटों से सजा श्री कन्याका परमेश्वरी मंदिर, नेल्लोर, एपी”

यहाँ से हिंट लेते हुए हमने कीवर्ड सर्च किया। हमें इस विषय में कई ख़बरें और वीडियो मिले। 13 अक्टूबर 2021 को छपी जागरण डॉट कॉम की एक खबर के अनुसार, “आंध्र प्रदेश के एक मंदिर की सजावट आकर्षण का केंद्र बनी हुई है। मंदिर को पांच करोड़ रुपये से अधिक के नोटों से सजाया गया है। नेल्लोर जिले के वासवी कन्याका परमेश्वर मंदिर में देवता को 5.16 करोड़ रुपये के करेंसी नोटों से सजाया गया है। यह सजावट 100 से ज्यादा स्वयंसेवकों ने मिलकर की है, जिसमें कई घंटों का समय लगा है। मंदिर को सजाने के लिए 2,000 रुपये, 500 रुपये, 200 रुपये, 100 रुपये, 50 रुपये और 10 रुपये के नोट का उपयोग किया गया है।” खबर में मंदिर की एक तस्वीर भी देखी जा सकती है, जो वायरल वीडियो से मेल खाती है।

हमें यह खबर इसी डिस्क्रिप्शन के साथ telanganatoday.com पर भी मिली।

हमें कहीं भी तिरुपति मंदिर के हाल-फिलहाल में नोटों से सजाये जाने की कोई खबर नहीं मिली।

तिरुपति बालाजी मंदिर के जनसंपर्क अधिकारी एसटी कृष्णन से इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने हमें बताया, ‘यह वीडियो तिरुपति बालाजी मंदिर का नहीं है।’

वायरल वीडियो को ट्विटर पर राकेश (भाजपा) – (श्री परशुराम 🪓 वंशज) नाम के हैंडल ने शेयर किया था। यूजर के 5,616 फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ। तस्वीर में नजर आ रहा मंदिर तिरुपति का बालाजी मंदिर नहीं, बल्कि आंध्र प्रदेश के नेल्लोर में स्थित श्री कन्याका परमेश्वरी मंदिर है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later