X

Fact Check: पीएम मोदी के नहीं, इटालियन पेंटर मोदिग्लिआनी के नाम पर है मोदी एप्‍पल का नाम

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक पोस्‍ट वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया के एक निवासी ने भारतीय प्रधानमंत्री से प्रभावित होकर अपनी सेब कंपनी का नाम ‘मोदी एप्पल’ रख लिया। असल में यह पोस्‍ट गलत है। विश्‍वास टीम की जांच में पता चला कि इस ऑस्ट्रेलियाई कंपनी का नाम है तो ‘मोदी एप्पल’ मगर यह भारतीय प्रधानमंत्री के नाम पर नहीं, बल्कि इटालियन पेंंटर अमेदिओ मोदिग्लिआनी के नाम पर है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

वायरल हो रही पोस्ट में 4 फोटो शेयर किये जा रहे हैं जिसके साथ डिस्क्रिप्शन लिखा है – “मेलबॉर्न, ऑस्ट्रेलिया: नरेंन्द्र मोदी जी से प्रभावित फिलिपो ने अपने नए सेब के व्यवसाय को मोदी के नाम पर रखा। भारत के बाजारों में भी मिलेगा ये सेब।😊🙏”

इस पोस्ट में 2 दावे किये गए हैं…

1) मोदी सेब का नाम भारतीय प्रधानमंत्री से प्रभावित होकर रखा गया।
2) यह सेब जल्द ही भारत में भी मिलेगा।

पड़ताल

इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने इन दोनों दावों को जांचने का फैसला किया। हमने सबसे पहले ‘मोदी एप्पल’ को इंटरनेट पर सर्च किया। पहले पेज पर ही हमें ‘मोदी एप्पल’ का फेसबुक पेज और वेबसाइट दोनों मिल गए।

जब हमने ‘मोदी एप्पल’ के फेसबुक पेज के About us सेक्शन को खोला तो हमने पाया कि यहां साफ़-साफ़ लिखा है, “मोदी एप्पल का नाम कला की दुनिया से जुड़े अम्बेडो मोदिग्लिआनी के नाम पर रखा गया है। अम्बेडो मोदिग्लिआनी लिवोर्नो में पैदा हुआ एक कलाकार थे जिनके दोस्त उन्हें प्यार से मोदी के नाम से बुलाते थे।”

हमने ऑस्ट्रेलिया स्थित ‘मोदी एप्पल’ के दफ्तर में भी बात की और हमें बताया गया “जैसा कि कंपनी की वेबसाइट में लिखा है, मोदी एप्पल का नाम इटालियन चित्रकार अमेदिओ मोदिग्लिआनी के नाम पर है।”

इस पोस्ट में किये गए दूसरे दावे की पड़ताल में हमने पाया कि यह दवा सही है। इस सेब की कम्पनी की वेबसाइट पर न्यूज़ सेक्शन में कहा गया है कि भारतीय कंपनी I.G. INTERNATIONAL Pvt Ltd के साथ मिलकर Consorzio Italiano Vivaist ‘मोदी एप्पल’ ब्रांड को भारत में ला रही है।

इस संदर्भ में हमें इकोनॉमिक टाइम्स की भी एक खबर मिली जहां लिखा है, “इटली की लोकप्रिय सेब कंपनी ने आधिकारिक तौर पर आईजी इंटरनेशनल के साथ मिलकर मोदी सेब को भारत में लॉन्च करने के लिए टाइअप किया है।”

आपको बता दें कि वायरल हो रही सारी तस्वीरें ‘मोदी एप्पल, ऑस्ट्रेलिया’ के फ़ेसबुक पेज से उठाई गयी है।

इस पोस्ट को Tinkle Gupta नामक एक फेसबुक यूजर ने RSS नामक एक फेसबुक पेज पर शेयर किया था। आपको बता दें कि यह पेज आरएसएस ऑफिशियल पेज नहीं है। StalkScan सर्च करने पर हमने पाया कि Tinkle Gupta के इंट्रो के अनुसार, वे एक विशेष राजनेता के प्रशंसक है। वे छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं और उनके 2000 से अधिक फेसबुक फ्रेंड्स हैं।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल हो रही खबर गलत है। असल में इस ऑस्ट्रेलियाई कंपनी का नाम है तो मोदी एप्पल मगर यह भारतीय प्रधानमंत्री के नाम पर नहीं, बल्कि इटालियन चित्रकार अमेदिओ मोदिग्लिआनी के नाम पर है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later