X

Fact Check: वीडियो में दिख रही लड़की नहीं है रूसी राष्ट्रपति पुतिन की बेटी जिसे दिया गया है COVID-19 का वैक्सीन

  • By Vishvas News
  • Updated: August 13, 2020

By Vishvas News

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। ट्विटर पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है, जिसमें एक वीडियो में एक लड़की को वैक्सीन दिया जा रहा है। वीडियो के साथ मौजूद कैप्शन में यह दावा किया जा रहा है कि यह लड़की और कोई नहीं, बल्कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी है, जिसे कोरोनावायरस का वैक्सीन दिया जा रहा है। विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो में नजर आ रही लड़की पुतिन की बेटी नहीं है

11 अगस्त 2020 को रूसी राष्ट्रपति ने यह घोषणा की थी कि उनके देश ने विश्व की पहली ऐसी वैक्सीन तैयार कर ली है, जिससे कोरोनावायरस से लड़ने के लिए इम्यूनिटी बढ़ाई जा सकती है। पुतिन की एक बेटी को यह वैक्सीन दी गई है, लेकिन वीडियो में नजर आ रही लड़की पुतिन की बेटी नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

यह पोस्ट ट्विटर पर वायरल हो रहा है, जिसमें एक लड़की को वैक्सीन लेते देखा जा सकता है। वीडियो के साथ मौजूद कैप्शन में अंग्रेजी में लिखा गया है, जिसका हिंदी अनुवाद है: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी को पहला वैक्सीन लग रहा है।

पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने वायरल दावे की पड़ताल के लिए इस वीडियो के कीफ्रेम्स InVID टूल से काटे और इनमें से एक को गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढा। हमें यह वीडियो रशिया टुडे की वेबसाइट पर एक न्यूज रिपोर्ट में भी मिल गया। 20 जुलाई 2020 को छपे इस आर्टिकल का शीर्षक है:  Covid-19 vaccine created by Russian military is closer to approval after last volunteers discharged from hospital (VIDEO) हॉस्पिटल से आखिरी वॉलन्टियर्स डिस्चार्ज होने के बाद रूसी मिलिट्री का तैयार किया गया Covid-19 वैक्सीन अप्रूवल के एक कदम और करीब होगा।

इस आर्टिकल में यह लिखा गया है कि जिन भी लोगों पर रूसी Covid-19 वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल किया गया था उन्हें मॉस्को के मिलिट्री हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इस आर्टिकल में कहीं नहीं लिखा गया है कि वीडियो में दिख रही लड़की पुतिन की बेटी है।

हमें यह वीडियो यूट्यूब पर भी मिला, जहां यह वीडियो 25 जुलाई को अपलोड किया गया था और इसमें इस लड़की का इंटरव्यू भी शामिल है।

इस वीडियो के साथ रूसी भाषा में डिस्क्रिप्शन लिखा गया है, जिसका हिंदी अनुवाद है: वॉलन्टियर नतालिया मिलिट्री डॉक्टर बनने की तैयारी कर रही है। वो किरोव मिलिट्री मेडिकल एकेडमी में फाइनल कोर्स की कैडेट है। उसकी इंग्लिश अच्छी है। वह पानी वाले स्पोर्ट्स खेलती है। उसने रूसी व इंटरनेशलन चैम्पियनशिप व रेगाटाज में कई इनाम भी जीते हैं।

वायरल वीडियो में नजर आ रही लड़की का नाम नतालिया है।

हमने गूगल सर्च पर कीवर्ड्स की मदद से जब नतालिया के बारे में ढूंढा तो हमें 14 जुलाई को छपी एक न्यूज रिपोर्ट मिली, जिसमें लिखा गया है कि वीडियो में नजर आ रही लड़की नतालिया है और वे वैक्सीन ट्रायल के लिए वॉलन्टियर बनी थीं।
पुतिन की दो बेटियां हैं मारिया वारोंटसोवा और कैट्रीना तिखोनोवा।

पुतिन की एक बेटी को कोविड19 वैक्सीन दिया गया है। हालांकि, वीडियो में नजर आ रही लड़की पुतिन की बेटी नहीं है।

रशिया टुडे में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, पुतिन ने मंगलवार सुबह ही यह घोषणा की थी कि रूस कोरोना वायरस का वैक्सीन रजिस्टर करने वाला पहला देश बन गया है। उन्होंने बताया था कि इस वैक्सीन की मदद से कोरोनावायरस से लड़ने के लिए शरीर में इम्यूनिटी को बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने ही यह खुलासा भी किया था कि उनकी एक बेटी को यह वैक्सीन लगाया गया है।

विश्वास न्यूज ने रशिया टुडे के क्लाइंट सर्विस टीम के चनिंडू से संपर्क किया जिन्होंने ईमेल पर बताया कि वीडियो में नजर आ रही लड़की एक जनरल वॉलन्टियर है, जिसने वैक्सीन की टेस्टिंग में मदद करने की सहमति दी थी। रशिया टुडे ने यह कहीं नहीं लिखा है कि यह लड़की पुतिन की बेटी है। हम यह पुष्टि करते हैं कि वीडियो में दिख रही यह लड़की पुतिन की बेटी नहीं है।

ट्विटर पर यह पोस्ट Soundar नामक यूजर ने साझा की थी। जब हमने यूजर की प्रोफाइल को स्कैन किया तो पाया कि यूजर चेन्नई, तमिलनाडु का रहने वाला है।

निष्कर्ष: वायरल वीडियो में नजर आ रही लड़की रूसी राष्ट्रपति पुतिन की बेटी नहीं, बल्कि एक वॉलन्टियर है, जिसका नाम नतालिया है।

  • Claim Review : वायरल वीडियो में नजर आ रही लड़की रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन की बेटी है।
  • Claimed By : Twitter user: Sounder
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later