X

Fact Check: बीएमसी ने नहीं जारी की बच्चों में Covid होने को लेकर यह एडवाइजरी, वायरल पोस्ट फ़र्ज़ी है

  • By Vishvas News
  • Updated: April 2, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) के नाम पर एक फ़र्ज़ी एडवाइजरी शेयर की जा रही है, जिसमें बीएमसी का लोगो लगा है और लिखा है कि कोरोना की दूसरी वेव चल रही है और बच्चों से लेकर 30 साल के लोगों को इससे सबसे ज़्यादा खतरा है इसलिए पेरेंट्स से विनती है की बच्चों को खुले मैदान में खेलने के लिए ना जाने दें।

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल की जा रही पोस्ट फ़र्ज़ी है। बीएमसी ने यह एडवाइजरी जारी नहीं की है। विश्वास न्यूज़ से बात करते हुए बीएमसी के पीआरओ ने भी वायरल पोस्ट को फ़र्ज़ी बताया है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर ज़फर अली शेख ने फ़र्ज़ी एडवाइजरी शेयर जिसमें लिखा है, ”Area Local Management, Important Message, To all Residents from BMC. Dear Friends We have received a message from BMC health department that there is a higher stage of corona which cannot be detected but is infected to small children till the age of 30. We request all the parents not to leave their children to play in open spaces. Avoid going public places. Avoid going to malls. Avoid going to theaters. Avoid going to beaches. Society Chairmain/ Secretary/ Members please note that your family safety is your priority so maintain social distancing and avoid social gathering in your society”.

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहां देखें।

पड़ताल

अपनी पड़ताल को शुरू करते हुए सबसे पहले हमने यह जानने की कोशिश की कि क्या बीएमसी ने ऐसी कोई एडवाइजरी जारी की है। सर्च के लिए हम बीएमसी की स्टॉप कोरोनावायरस की ऑफिशियल वेबसाइट पर गए, लेकिन वहां हमें ऐसी कोई एडवाइजरी नहीं मिली।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने बीएमसी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल ‘@mybmc’ को स्कैन किया। सर्च में हमें 31 मार्च को शेयर किया गया एक ट्वीट लगा, जिसमें वायरल एडवाइजरी को देखा जा सकता है। यहां वायरल पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा गया है, ‘The following image making rounds on social media is fake and we urge citizens to not circulate it any further. We request Mumbaikars to continue following all COVID-prevention norms and help the city beat the virus.” हिंदी अनुवाद: ”सोशल मीडिया पर वायरल हो रही यह पोस्ट फ़र्ज़ी है और हम नागरिकों से इसे आगे शेयर ना करने का आग्रह करते हैं। हम मुंबईकरों से अनुरोध करते हैं कि वे सभी COVID- रोकथाम मानदंडों का पालन करते रहें और शहर को वायरस को हराने में मदद करें।” पूरा ट्वीट नीचे देख सकते हैं।

विश्वास न्यूज़ ने पोस्ट से जुड़ी पुष्टि के लिए बीएमसी के पीआरओ तानाजी कांबले से संपर्क किया और उन्होंने हमें बताया- यह फ़र्ज़ी है, बीएमसी ने यह एडवाइजरी जारी नहीं की है।

27 मार्च 2021 की livemint की खबर के मुताबिक, महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना वायरस केसेस के तहत नाइट कर्फ्यू 15 अप्रैल तक लगा रहेगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को लेकर भी गाइडलाइंस जारी गई हैं। खबर यहां पढ़ें।

पोस्ट को फ़र्ज़ी दावे के साथ शेयर करने वाले फेसबुक यूजर ज़फर अली शेख की सोशल स्कैनिंग में से पता चला कि यूजर महाराष्ट्र का रहने वाला है। वहीं, यूजर को 127 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि वायरल की जा रही पोस्ट फ़र्ज़ी है। बीएमसी ने यह एडवाइजरी जारी नहीं की है। विश्वास न्यूज़ से बात करते हुए बीएमसी की पीआरओ ने भी वायरल पोस्ट को फ़र्ज़ी बताया है।

  • Claim Review : कोरोना की दूसरी वेव चल रही है और बच्चों से लेकर 30 साल के लोगों को इससे सबसे ज़्यादा खतरा है
  • Claimed By : Zafarali Shaikh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later