X

Fact Check: हिसार में हुए डबल मर्डर की तस्‍वीरें गलत दावे के साथ हुई वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: July 31, 2019

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है। इस पोस्ट में एक माँ और उसके बेटे की फोटो साझा की गई हैं। इस पोस्ट में इनकी 5 फोटो शेयर की गई है जिनमें से 2 फोटो में यह माँ-बेटे की लाश दिखाई दे रही है। तस्‍वीरों को लेकर दावा किया जा रहा है कि भिखारी के वेश में 500 लोग निकले हैं, जो लोगों का कलेजा और किडनी निकाल रहे हैं। इस पोस्ट में हरियाणा के अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल और पानीपत की महिलाओं और बच्चों को सावधान रहने के लिए कहा गया है।

विश्वास टीम ने अपनी पड़ताल में इस वायरल हो रहे पोस्ट को फर्जी पाया। असल में यह तस्वीरें हरियाणा के हिसार में हुए डबल मर्डर में मारे गए बच्चे और उसकी माँ की है। यह डबल मर्डर 24 जुलाई, 2019 को बुधवार की रात में हुआ था।

क्या हो रहा है वायरल?

28 जुलाई को Gurmeet Singh नाम के फेसबुक यूजर एक पोस्ट शेयर करते हैं। इस पोस्ट में एक माँ और उसके बेटे की फोटो साझा की गई हैं। इस पोस्ट में इनकी 5 फोटो शेयर की गई है जिनमें से 2 फोटोज में यह माँ-बेटे मृत दिखाई दे रहें हैं। इस पोस्ट के डिस्क्रिप्शन में लिखा है:

“अलर्ट Ambala, Yamunanagar, kurukshetra, Karnal, Panipat
ख़ासकर घरेलू महिलाओं से अनुरोध है किसी भी अजनबी जैसे कबाड़ी वाला फेरी वाला बाबा या कोई भिखारी कोई भी हो उसके लिए दरवाज़ा ना खोले ना ही कोई बात करे बस हल्ला करके भगा दें। ग़लती से भी ये शब्द ना कहे। अभी घर में कोई नही है बाद में आना या चले जाओ” कृप्या सावधान रहे 15 से 20 लोगों की टोली आई है उनके साथ बच्चे और महीलांए हैं और उनके पास हथियार भी हैं और और आधी रात को किसी भी वक्त आते हैं और बच्चे के रोने की आवाज आती है कृपया दरवाजा ना खोले प्लीज ज्यादा से ज्यादा ग्रुप में से शेयर करें पूरे एरिया में 2 से 3 दिन के अंदर फेल जाना चाहिए। अपनी सूरक्षा अपने हाथ, सावधान रहे, जनहित मे जारी।”

इस पोस्ट को डेढ़ हजार से भी ज्यादा लोगों ने शेयर किया है।

पड़ताल

इस पोस्ट को देखते ही विश्वास टीम ने इसकी पड़ताल करने का फैसला किया। इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए हमने सबसे पहले इस पोस्ट में किए गए कमेंट्स को पढ़ा। कई कमेंट्स में इस पोस्ट को फर्जी बताया गया था और साथ ही इस पोस्ट की असलियत के बारे में कुछ प्रूफ भी दिए गए थे।

एक यूजर ने कमेंट्स में एक अखबार की कटिंग पोस्‍ट की हुई थी। इसमें एक डबल मर्डर की बात कही गई है। इसके बाद वायरल पोस्‍ट की तस्वीरों को अलग-अलग कीवर्ड के साथ गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया। इस सर्च के नतीजों में हमें दैनिक जागरण की एक खबर का लिंक मिला। इस खबर के लिंक को खोलते ही वायरल हो रहे पोस्ट की सच्चाई हमारे सामने आ गई।

इस खबर में हरियाणा के हिसार के डोभी गांव में हुए डबल मर्डर की बात कही गई है। इस खबर में एक तस्वीर भी शामिल है जो हूबहू वायरल हो रहे पोस्ट के मृतकों से मिल रही है। यह खबर 27 जुलाई को प्रकाशित की गई थी। इस खबर की हेडलाइन है: डोभी में चरित्र पर शक को लेकर सिपाही ने शिक्षिका पत्नी और इकलौते बेटे को कुल्हाड़ी से काटकर मार डाला

क्या था पूरा वाक्या?

खबर के अनुसार, डोभी गांव में बुधवार की रात को 28 वर्षीय सुनीता और उसके तीन वर्षीय बेटे निखिल की कुल्हाड़ी से गले पर वार करके हत्या कर दी। सुनीता गांव में ही एक प्राइवेट स्कूल में शिक्षिका थी। उसकी हत्या चरित्र पर संदेह को लेकर की गई है। सदर थाना पुलिस ने मृतका के सिपाही पति साहबराम, जेठ सतबीर सिंह और ननद विनोद और ननदोई के खिलाफ हत्या और आपराधिक षडयंत्र रचने का केस दर्ज किया है।

इस पूरे मामले की खबर हमें दैनिक जागरण के 26 जुलाई के E-paper संस्करण में भी मिली, जिसका स्क्रीनशॉट आप नीचे देख सकते हैं:

इस मामले में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने हिसार पुलिस प्रवक्ता हरीश भारद्धाज से संपर्क किया। उन्होंने हमारे साथ इस डबल मर्डर केस के वारदात की जानकारी को साझा किया। उन्होंने हमें बताया, “तस्वीर में दिख रही महिला और बच्चे को उसके पति और देवर ने मिलकर मारा था। इस महिला का पति हरियाणा पुलिस की दुर्गा शक्ति टीम में कॉन्स्टेबल था। इस महिला को उसके पति ने इसीलिए मारा, क्योंकि उसे अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था। इस महिला के पति को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसका भाई अभी भी फरार है।”

हरीश भारद्धाज ने हमें जानकारी देते हुए कहा, “यह वाकया बहुत भयानक था और यह दोनों ही भाई मानसिक रूप से ठीक नहीं हैं। वायरल पोस्ट में दिख रही महिला और बच्चे की तस्वीरों को उस समय मौजूद थाना प्रभारी मनोज कुमार ने क्लिक किया था। इन तस्वीरों के साथ जो क्लेम सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है वो फर्जी है।”

अंत में हमने इस वायरल पोस्ट को शेयर करने वाले यूजर Gurmeet Singh के फेसबुक प्रोफ़ाइल की सोशल स्कैनिंग की। हमें पता चला कि यह सिरसा हरियाणा के रहने वाले हैं।

निष्कर्ष: विश्वास टीम ने अपनी पड़ताल में इस वायरल हो रहे पोस्ट को फर्जी पाया। असल में यह तस्वीरें हरियाणा के हिसार में हुए डबल मर्डर मारे गए बच्चे और उसकी माँ की है। यह डबल मर्डर 24 जुलाई, बुधवार की रात में हुआ था।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews।com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : भिखारी के वेस में पांच सौ लोग निकले है जो रास्ते में जो मिलता है उसको काटकर कलेजे और कीडनी निकाल रहे है
  • Claimed By : FB User- Gurmeet Singh
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later