नई दिल्ली (विश्वास टीम)। अगर आप कोई कंपनी या मीडिया हाउस चलाते हैं और आपके पास रजिस्टर्ड वेब एड्रेस है तो आपको अलर्ट होने की जरूरत है, क्योंकि इंटरनेट पर ऐसे कई गिरोह सक्रिय हैं जो लोगों को मेल करके पैसे ऐंठ रहे हैं। चीन से आए ऐसे मेल आपके वेब एड्रेस पर खतरा बताते हुए पैसे की मांग कर रहे हैं। हमारी पड़ताल में ये फर्जी पाए गए हैं और हम आपको सलाह देते हैं कि अगर ऐसा कोई मेल प्राप्त हो तो उसका जवाब ना दें।   

बीते रविवार (16 दिसंबर, 2018) को देश की जानी-मानी मीडिया कंपनी को ऐसा ही मेल भेजकर ठगी करने की कोशिश की गई। मेल ‘लियो रेन’ नाम के एक आदमी ने किया है जिसका परिचय चीन के इंटरनेशनल डिपार्टमेंट के मैनेजर के रूप में दिया गया है। मेल में कहा गया कि ये मेल चीन इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑफिस से किया जा रहा है। इसके अनुसार P.T.S Investment Co.Ltd आपके डोमेन को चीन में ‘.asia/.cn/.com.cn/.hk/.tw’ के नाम से रजिस्टर कर रही है। वो आगे आगाह करते हुए लिखता है कि हमने चेक किया है कि ये डोमेन आपकी कंपनी के नाम पर रजिस्टर्ड है। यदि आपने P.T.S को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डोमेन लेने की ऑथरिटी दी है तो फिर हम कार्रवाई आगे बढ़ाते हैं। अगर आपने स्वीकृति नहीं दी है तो टेलीफोन पर हमसे सात वर्किंग डेज में संपर्क करें। अगर आपने सात दिनों तक संपर्क नहीं किया तो ये एड्रेस P.T.S को दे दिया जाएगा। इसके बाद मेल में फोन नंबर सहित पूरा पता और साथ ही वेबसाइट का नाम भी दिया गया है।

पड़ताल
सबसे पहले हमने मेल के साथ दिए गए पते को जांचने का फैसला किया। इस पते को हमने गूगल में डाला तो हमें कई सारी खबरें दिखाई दीं। सभी खबरें वेब एड्रेस के नाम पर जालसाजी की खबरों को लेकर थीं। पहली नजर में तो ये धोखाधड़ी का मामला नजर आया है। 

हमें सबसे पहले nutter.com का लिंक दिखाई दिया। इस वेबसाइट ने स्टोरी की है कि इस पते से बिल्कुल हूबहू मैसेज किसी और को भी किया गया है। इस स्टोरी में बताया गया है कि डोमेन नेम के नाम पर धोखाधड़ी की जा रही है।

इसके बाद हमने P.T.S Investment Co.,Ltd नाम की कंपनी को खोजा, ताकि पता लगाया जा सके कि ये कंपनी करती क्या है। हालांकि, हमें इस नाम की कोई कंपनी नहीं मिली।

दरअसल, ये मेल करके लोगों को डराने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे मेल से वेब एड्रेस के ओनर को लगता है कि उसके एड्रेस पर खतरा पैदा हो गया है और कंपनी की वर्चुअल आइडेंडिटी पर संकट है। मेल में जताया गया है कि अगर आप कंपनी के वेब एड्रेस को ‘.cn, com.cn, .asia, इत्यादि’ के नाम से डोमेन बुक कराकर अपनी कंपनी की इंटरनेशनल आइडेंटिडी को बचा सकते हैं।

हम आपको आगाह करते हैं कि आप इनके चक्कर में बिल्कुल ना पड़े, क्योंकि ऊपर दिए गए आखिरी डोमेन नेम का भारत में कोई अस्तित्व नहीं है। वे सिर्फ आपको डोमेन सेल करके पैसा कमाना चाहते हैं। हम आपको ये भी बताना चाहते हैं कि आप अपना बिजनेस चीन या एशिया कहीं पर भी यूएस डोमेन पर कर सकते हैं। इसके लिए आपको चीन से संबंधित डोमेन नेम लेने की कोई जरूरत नहीं है। हमारे देश में डोमेन (.com, .net, .org, .co., .us, .gov, आदि) चलते हैं।

इस तरह के मेल सिर्फ भारत के यूजर्स को ही नहीं मिल रहे हैं, बल्कि दुनिया के अन्य देशों के यूजर्स को भी मिल रहे हैं। दरअसल, इनका मकसद लोगों को डराकर पैसे कमाने का है।

हमारी जांच के दौरान कई वेबसाइट के नाम और लोगों के कॉन्टैक्ट नंबर मिले हैं, जो कि आपको चूना लगा सकते हैं। 

हमारी पड़ताल में ये मेल पूरी तरह फेक साबित हुआ है। हम सलाह देते हैं कि आप ऐसे मेल पर ध्यान नहीं दें। 

पूरा सच जानें…सब को बताएं
सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल करसकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : दावा किया जा रहा है कि वेब एड्रेस को कही और भी रजिस्टर किया जा रहा है
Claimed By : P.T.S Investment Co.Ltd
Fact Check : False

1 टिप्पणी

  1. मेरे साथ ऐसे हो चुका है।
    आज कल तो मेरे वेबसाइट पर भी खूब स्पैमिंग वॉली कमेंट्स भी करते है, ताकि हैक कर सके।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here