X

Fact Check: खुले आसमान के नीचे सोने वाले ये युवा यूपीटीईटी के अभ्यर्थी नहीं हैं, वायरल फोटो राजस्थान के युवकों की है

वायरल फोटो राजस्थान के बेरोजगार युवक और युवतियों की है। ये अपनी मांगों को लेकर प्रियंका गांधी से मिलने आए थे। शनिवार की रात को ये इको गार्डन में सो गए थे। इस फोटो का यूपीटीईटी से कोई संबंध नहीं है।

  • By Vishvas News
  • Updated: November 29, 2021
UPTET 2021 Viral Image

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। यूपीटीईटी का पेपर लीक होने के बाद परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। इसके बाद सोशल मीडिया पर एक फोटो काफी वायरल हो रही है। इसमें कई युवक रात में सड़क पर लेटे हुए हैं। सभी ने गर्म कपड़े पहने हुए हैं। दावा किया जा रहा है कि ये सभी यूपीटीईटी के अभ्यर्थी हैं, जो परीक्षा देने के लिए आए हुए हैं।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में इस दावे को गलत पाया। वायरल फोटो यूपीटीईटी के अभ्यर्थियों की नहीं, बल्कि राजस्थान के युवाओं की है, जो लखनऊ में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से मिलने आए थे। शनिवार की रात इन लोगों ने खुले आसमान के नीचे गुजारी थी।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक पेज Yashpal Singh Tomar के नाम से बने पेज पर 28 नवंबर को फोटो पोस्ट करते हुए लिखा, कभी सोचिएगा कि आपको जाड़े की रात ऐसे गुजारनी पड़ी हो और सुबह पता चले कि परीक्षा ही रद्द हो गयी। UP TET का पेपर हुआ लीक, परीक्षा रद्द। एक महीने बाद दोबारा होगी परीक्षा। मथुरा गाजियाबाद बुलंदशहर के व्हाट्सएप ग्रुप पर वायरल हुआ था पेपर। अभ्यर्थियों को दोबारा नहीं देनी होगी कोई भी फीस, एसटीएफ मामले की जांच में जुटी।

#TET परीक्षा के पेपर लीक हो जाने से नौजवान परेशान है। यूपी सरकार की तरफ़ से अगले महीने फिर से परीक्षा कराए जाने की बात कही गई है। क़रीब 22 लाख लोगों की मेहनत ख़राब हो जाती है। आखिर सिस्टम के अंदर की मदद से ही तो पेपर लीक होता है तो ज़िम्मेदार कौन?

इसके अलावा कई और फेसबुक यूजर्स ने भी इस फोटो को इसी तरह के दावे के साथ शेयर किया।

टि्वटर पर भी कई यूजर्स ने फोटो को इसी दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

न्यूज सर्च में हमें UPPViralCheck का 28 नवंबर 2021 का ट्वीट मिला। इसमें कहा गया है, वायरल फोटो UPTET के अभ्यर्थियों की नहीं है, अपितु राजस्थान के युवकों की है। UPTET के परीक्षार्थियों को उनके एडमिट कार्ड के आधार पर सुविधापूर्वक यूपीएसआरटीसी की बसों से घर भेजा जा रहा है और यह परीक्षा राजकीय व्यय पर पुनः एक माह में आयोजित करायी जायेगी। कृपया भ्रामक खबर ना फैलाएं।

इसकी और पड़ताल करने के लिए हमने इसकी सर्च जारी रखी। इसमें हमें granthshala में 28 नवंबर को प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इसमें वायरल फोटो का इस्तेमाल किया गया है। इसके अनुसार, राजस्थान के बेरोजगार युवा लखनऊ में प्रियंका गांधी से शिकायत करने आए थे। शनिवार की रात इनको खुले आसमान के नीचे गुजारनी पड़ी। इनमें कई महिलाएं भी शामिल थीं। प्रर्दशनकारी 46 दिनों से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। 

इसको और सर्च करने पर हमें राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ का फेसबुक पेज भी मिल गया। इसमें प्रदर्शन से संबंधित वीडियो और फोटो पोस्ट की गई हैं।  

इसकी और जानकारी के लिए हमने राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव से बात की। उनका कहना है कि वे लखनऊ में प्रियंका गांधी से मिलने आए थे। यहां उनको इको गार्डन में रुकने को बोला गया था। दो दिन वे वहीं पर रुके थे। वायरल फोटो इको गार्डन की है। 

वायरल फोटो को गलत दावे के साथ Yashpal Singh Tomar पेज पर शेयर किया गया है। इस पेज को 2 लाख 78 हजार से लोग फॅालो करते हैं।

निष्कर्ष: वायरल फोटो राजस्थान के बेरोजगार युवक और युवतियों की है। शनिवार की रात को ये इको गार्डन में सो गए थे। इस फोटो का यूपी टीईटी से कोई संबंध नहीं है।

  • Claim Review : खुले आसमान के नीचे सोने वाले ये युवा यूपीटीईटी के अभ्यर्थी हैं
  • Claimed By : FB USER- Yashpal Singh Tomar
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later