X

Fact Check : नेहरू के नाम पर फैलाई जा रही है ब्रिटिश एक्‍टर सिलास कार्सन की तस्‍वीर

  • By Vishvas News
  • Updated: April 18, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। सोशल मीडिया पर देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम पर उनकी फर्जी तस्‍वीर वायरल हो रही है। इस तस्‍वीर में नेहरू को एक महिला के काफी करीब दिखाया गया है। विश्‍वास टीम की जांच में पता चला कि वायरल पोस्‍ट गलत है। तस्‍वीर में दिख रहे शख्‍स सिलास कार्सन (Silas Carson) हैं। वायरल तस्‍वीर जवाहरलाल नेहरू पर आधारित नाटक ‘ड्रॉइंग द लाइन’ (Drawing the Line) की है।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में

फेसबुक यूजर सुजीत सिंह राजपूत ने 17 अप्रैल 2019 को जवाहरलाल नेहरू की कथित तस्‍वीर को अपलोड किया। तस्‍वीर में नेहरू जैसे दिखने वाले एक शख्‍स के साथ एक महिला भी खड़ी है। तस्‍वीर के ऊपर लिखा हुआ है कि अपने प्‍यारे चचाजान आजादी की लड़ाई के वक्‍त एक अंग्रेजन का गला काटने का प्रयास करते हए।

इस तस्‍वीर को बड़ी संख्‍या में फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सऐप पर भी फैलाया जा रहा है।

पड़ताल

विश्‍वास टीम ने सबसे पहले वायरल तस्‍वीर को गूगल रिवर्स इमेज के माध्‍यम से सर्च किया। कई पेजों को स्‍कैन करने के बाद आखिरकार हमें एक लिंक मिला। यह लिंक metro.co.uk नाम की एक वेबसाइट का था। यह वेबसाइट ब्रिटेन में रजिस्‍टर्ड है।

हमारी पड़ताल में पता चला कि तस्‍वीर में दिख रहे शख्‍स नेहरू और एडविना नहीं हैं। तस्‍वीर फेक है। दरअसल यह एक नाटक ‘ड्रॉइंग द लाइन’ की तस्‍वीर है। इस नाटक को होवार्ड ब्रेनटन ने लिखा था। नेहरू के रूप में दिख रहे शख्‍स का नाम सिलास कार्सन है, जबकि एडविना के किरदार में लूसी ब्‍लैक हैं।

कब और कहां खेला गया था यह नाटक?

हमें यह पता करना था कि यह तस्‍वीर कब की और कहां की है। इसके लिए हमने गूगल सर्च में हमने नाटक का नाम Drawing The Line टाइप करके सर्च किया। कई पेजों के बाद हमें एक जगह hampsteadtheatre.com का एक लिंक मिला। यहां हमें नेहरू पर आधारित नाटक ‘ड्रॉइंग द लाइन’ का लिंक मिला। यह नाटक 3 दिसंबर 2013 से लेकर 11 जनवरी 2014 के बीच खेला गया था। Hampstead Theatre लंदन में स्थित है। पचास साल पुराना यह थिएटर दुनियाभर के दर्शकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।

hampsteadtheatre.com पर ही हमें ‘ड्रॉइंग द लाइन’ नाटक की कुछ तस्‍वीरें भी मिलीं। इसमें एक तस्‍वीर वही थी, जो नेहरू के नाम पर वायरल हो रही है।

क्‍या है नाटक में?

इसके बाद हमने ‘ड्रॉइंग द लाइन’ नाटक के बारे में जानकारी जुटाई। ‘ड्रॉइंग द लाइन’ भारत-पाकिस्‍तान के बंटवारे की पृष्ठभूमि में लिखा गया एक नाटक है। इसमें लॉर्ड माउंटबेटन, उनकी पत्‍नी लेडी माउंटबेटन और जवाहरलाल नेहरू के रिश्‍तों पर प्रकाश डालने का प्रयास किया गया है। नाटक में सिलास कार्सन ने नेहरू और लूसी ब्‍लैक ने एडविना का रोल किया था।

अंत में हमने फेसबुक पर फर्जी तस्‍वीर फैलाने वाले फेसबुक यूजर सुजीत सिंह राजपूत की सोशल स्‍कैनिंग की। StalkScan की मदद से हमें पता चला कि सुजीत ने फरवरी 2013 में फेसबुक अकाउंट बनाया था। जमशेदपुर के रहने वाले सुजीत एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। उनके निशाने पर अक्सर विपक्षी पार्टियां ही रहती हैं।

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की जांच में पता चला कि तस्‍वीर में दिख रहे शख्‍स जवाहरलाल नेहरू नहीं हैं। ये ‘ड्रॉइंग द लाइन’ नाटक में नेहरू की भूमिका निभाने वाले ब्रिटेन के एक्‍टर सिलास कार्सन हैं।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : अपने प्‍यारे चचाजान आजादी की लड़ाई के वक्‍त एक अंग्रेजन का गला काटने का प्रयास करते हए।
  • Claimed By : सुजीत सिंह राजपूत
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later