X

Fact Check: लड़की को सूटकेस में ले जाने की पुरानी सीसीटीवी फुटेज मणिपाल मामले के भ्रामक दावे से वायरल

मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन में एक छात्र द्वारा लड़की को सूटकेस में छुपाने का मामला सामना आया है, लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल सीसीटीवी फुटेज का उससे कोई संबंध नहीं है। सीसीटीवी फुटेज की तस्वीर 20 मार्च 2019 को एक फेसबुक पेज पर अपलोड की गई थी। हालांकि, हमें यह नहीं पता चला कि यह फुटेज कहां की है।

  • By Vishvas News
  • Updated: February 4, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर 38 सेकंड की एक सीसीटीवी फुटेज वायरल हो रही है। इसमें गेट पर कुछ लोग खड़े हैं और सूटकेस से कोई निकल रहा है। दावा किया जा रहा है कि मणिपाल यूनिवर्सिटी का एक छात्र अपनी गर्लफ्रेंड को सूटकेस में बंद कर ले जा रहा था। इस सीसीटीवी का संबंध मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन (MAHE) से जोड़ा गया।

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में दावे को भ्रामक पाया। मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन में एक छात्र द्वारा लड़की को सूटकेस में रखने की घटना हुई थी, लेकिन वायरल सीसीटीवी फुटेज का संस्थान से कोई संबंध नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में

ट्विटर यूजर Prerna Lidhoo (आकाईव) ने 2 फरवरी 2022 को सीसीटीवी फुटेज पोस्ट करते हुए लिखा,
The funniest video I’ve seen today
Apparently, a Manipal Univ. student was smuggling his gf out in a trolley bag. Someone’s watching too much Netflix.
(आज मैंने सबसे ज्यादा मजाकिया वीडियो देखा। मणिपाल यूनिवर्सटी का एक छात्र अपनी गर्लफ्रेंड को ट्रॉली बैग में स्मगल कर रहा था। कोई बहुत ज्यादा नेटफ्लिक्स देखता है।)

ट्विटर यूजर Shibubuu ने भी सीसीटीवी फुटेज पोस्ट करते हुए लिखा,
In my life, I’ve seen a lot of crazy things. However, that Manipal lad trying to sneak a girl out via a suitcase is right at the top
(मैंने अपने जीवन में बहुत सारा पागलपन देखा है। हालांकि, मणिपाल का लड़का एक सूटकेस में लड़की को बाहर निकालने की कोशिश कर रहा है, यह सबसे ऊपर है।)

फेसबुक यूजर Bollywood Buddy ने भी इस वीडियो को पोस्ट करते हुए मिलता-जुलता दावा किया।

पड़ताल

वायरल दावे की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले कीवर्ड से इसको सर्च किया। इसमें हमें 4 फरवरी 2022 की timesofindia की खबर मिली। इसके मुताबिक, मंगलवार रात को मणिपाल इंजीनियरिंग कॉलेज के हॉस्टल में एक छात्र ट्रॉली बैग लेकर आया। यह देखकर वहां मौजूद केयरटेकर ने उससे बैग के बारे में पूछा। छात्र ने कहा कि उसने यह सामान ऑनलाइन मंगाया था। बैग को जब खोला गया तो उसमें से एक लड़की बाहर निकली। वह भी कॉलेज की छात्रा है।

इसकी और पड़ताल करने पर हमें newindianexpress में छपी खबर मिली। इसके मुताबिक, इस घटना के बाद MAHE ने मामले में शामिल लोगों पर कार्रवाई की है। साथ ही संस्थान ने पुराने सीसीटीवी फुटेज को इससे संबंधित बताकर वायरल करने वाले मीडिया संस्थानों पर कार्रवाई करने की बात की है।

इस बारे में हमने MAHE में संपर्क किया। वहां की पीआर टीम की सदस्य सोनाली ने हमें संस्थान का आधिकारिक स्टेटमेंट भेजा। इसके अनुसार, वायरल वीडियो का MAHE के किसी कॉलेज या संस्थान से कोई संबंध नहीं है। इस वीडियो की इमेज 20 मार्च 2019 को फेसबुक पर एक अकाउंट से पोस्ट की गई है।

इसके बाद हमने वायरल वीडियो की पड़ताल के लिए गूगल के InVID टूल से फ्रेम कैप्चर किया। उसे रिवर्स इमेज से सर्च करने पर हमें फेसबुक पेज Intrigin MAG पर यह फोटो मिली। इसे 20 मार्च 2019 को पोस्ट किया गया था। इसमें लिखा है,
The ‘gutsy’ girl who tried to sneak through the college gates inside a suitcase is believed to be a student of same University.
Seeing things to be a bit fishy and suspicious about the suitcase and guys carrying it, the guard stopped them for a check which resulted in reveal of this unsuccessful attempt. (माना जा रहा है कि सूटकेस में बंद यह लड़की उसी विश्वविद्यालय की छात्रा है। सूटकेस को संदिग्ध देखकर गार्ड ने उसको रोका और यह मामला सामने आया।)
पोस्ट में इस वीडियो को देहरादून के एक निजी विश्वविद्यालय से जोड़ा गया।

वायरल वीडियो को और तलाशने पर हमें इसके बारे में कोई और जानकारी नहीं मिली। वहीं, देहरादून दैनिक जागरण के ब्यूरो चीफ देवेंद्र सती का कहना है, अब तक देहरादून में ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है।

निष्कर्ष: मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन में एक छात्र द्वारा लड़की को सूटकेस में छुपाने का मामला सामना आया है, लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल सीसीटीवी फुटेज का उससे कोई संबंध नहीं है। सीसीटीवी फुटेज की तस्वीर 20 मार्च 2019 को एक फेसबुक पेज पर अपलोड की गई थी। हालांकि, हमें यह नहीं पता चला कि यह फुटेज कहां की है।

  • Claim Review : लड़की को सूटकेस में ले जाने के सीसीटीवी फुटेज का मणिपाल के संस्थान से संबंध है
  • Claimed By : Twitter- Prerna Lidhoo
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later