X

Fact Check: चित्रकूट में हुई पुरानी घटना की खबर को हाल का बताकर भ्रामक दावे से किया जा रहा है वायरल

चित्रकूट में दिसंबर 2019 में बंद पड़े पुलिस सेवा केंद्र के अंदर महिला का शव मिला था। उससे रेप की आशंका जताई गई थी लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई थी। इस मामले में पुलिस फाइनल रिपोर्ट लगा चुकी है।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 13, 2021
chitrakoot bargarh police news

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर दो स्क्रीनशॉट काफी तेजी से वायरल हो रहे हैं। इन पर इंडिया न्यूज का लोगो लगा हुआ है। इस पर लिखा है, चित्रकूट पुलिस चौकी के अंदर लड़की से रेप। दूसरे पर लिखा है, बारगढ़ पुलिस चौकी के अंदर हुई वारदात। इसके साथ में उत्तर प्रदेश में मौजूदा कानून—व्यवस्था पर तंज कसते हुए लिखा हुआ है, उत्तर प्रदेश में बेटियां सुरक्षित हैं और रात 12 बजे के अंधेरे में अकेली चल सकती हैं, कहने वाले अमित शाह की दूरबीन कहां है??

विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में इस दावे को भ्रामक पाया। दिसंबर 2019 में बंद पड़े पुलिस सेवा केंद्र में युवती का शव मिला था। उससे रेप की आशंका जताई गई थी।

क्या है वायरल पोस्ट में

रवि अवस्थी ने इस स्क्रीनशॉट को 11 दिसंबर को पोस्ट किया है।

फेसबुक पर कई अन्य यूजर्स ने भी इस स्क्रीनशॉट को शेयर किया है।

ट्विटर पर भी Andresh Yadav ने इसको पोस्ट कया है।

पड़ताल

वायरल हो रहे स्क्रीनशॉट को हमने कीवर्ड की मदद से सर्च किया। इसमें हमें livehindustan में 3 दिसंबर 2019 को छपी खबर का लिंक मिला। इसके मुताबिक, चित्रकूट के बारगढ़ घाटी में बने पुलिस सेवा केंद्र में युवती का शव मिला है। पुलिस सेवा केंद्र बंद पड़ा है। आशंका जताई जा रही है कि गोली मारकर उसकी हत्या की गई और शव पुलिस बूथ के अंदर फेक दिया गया। युवती के साथ रेप की आशंका है। पुलिस ने अनुमान लगाया है कि युवती की शादी हो चुकी है।

इस स्क्रीनशॉट की पड़ताल के लिए हमने और न्यूज सर्च की। इसमें हमें दैनिक जागरण की खबर का लिंक मिला। 3 दिसंबर 2019 को छपी खबर के मुताबिक, बारगढ़ घाटी के पास स्थित खंडहर हो चुके पुलिस सेवा केंद्र में अज्ञात महिला का शव मिला है। हत्या करके शव यहां फेंकने की आशंका जताई गई है।

ट्विटर पर हमें Chitrakoot Police का ट्वीट भी मिला। 8 दिसंबर को किए इस ट्वीट में लिखा है, सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एक महिला की दुष्कर्म के पश्चात हत्या कर देने की भ्रामक अफवाह फैलाने के संदर्भ में कोतवाली कर्वी में 04 व्यक्तियों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कर 02 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस मामले में चित्रकूट के एडिशनल एसपी शैलेन्द्र कुमार राय का कहना है, घटना दो साल पहले की है। बारगढ़ में अज्ञात महिला का शव मिला था। इस मामले में केस दर्ज हुआ था और अंतिम रिपोर्ट लगाई गई थी। यह 2019 का मामला है। भ्रामक पोस्ट फैलाने पर चार लोगों पर केस दर्ज किया गया है।

चित्रकूट दैनिक जागरण के रिपोर्टर हमेराज कश्यप का कहना है, इस मामले में महिला से रेप की पुष्टि नहीं हुई थी। महिला की पहचान भी नहीं हो पाई थी। इस स्क्रीनशॉट को वायरल करने पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

स्क्रीनशॉट को वायरल करने वाले Ravi Awasthi की प्रोफाइल को स्कैन किया। रवि एक राजनीतिक दल की विचारधारा से प्रेरित हैं।

निष्कर्ष: चित्रकूट में दिसंबर 2019 में बंद पड़े पुलिस सेवा केंद्र के अंदर महिला का शव मिला था। उससे रेप की आशंका जताई गई थी लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हुई थी। इस मामले में पुलिस फाइनल रिपोर्ट लगा चुकी है।

  • Claim Review : चित्रकूट में हाल में पुलिस चौकी में हुई घटना
  • Claimed By : FB User- Ravi Awasthi
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later