X

Fact Check: तेलंगाना पुलिस के नाम से महिलाओं की सुरक्षा के लिए वायरल हो रहा हेल्पलाइन नंबर फर्जी है

  • By Vishvas News
  • Updated: December 4, 2019

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें महिला सुरक्षा को लेकर बात की गयी है। मैसेज के अनुसार, रात को अकेले सफर करने वाली महिलाएं इस सुविधा का लाभ उठा सकतीं हैं। मैसेज के अनुसार, “तेलंगाना पुलिस ने महिलाओं के लिए एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है जिसपर गाडी का नंबर मैसज करने से गाडी को ट्रैक किया जायेगा और वाहन पर GPRS से नजर रखी जायेगी।” हमारी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल हो रहा मैसेज पूरी तरह सही नहीं है। यह सर्विस सिर्फ मुंबई शहर के लिए थी और मार्च, 2014 में शुरू हुई यह सर्विस मार्च, 2017 में बंद कर दी गई थी। तेलंगाना पुलिस के नाम से वायरल हो रहा मैसज फ़र्ज़ी है।

क्या हो रहा है वायरल?

वायरल पोस्ट के अनुसार तेलंगाना पुलिस ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है। पोस्ट में लिखा है: “Telangana police ki janib se khawateen ki hifazat ke liye ek achi service shuru kee gayi hai.(car…. cab…. auto) jis gaadi me aap baithe hai us gaadi ka number 9969777888 ko sms kariye. Fauran aapko ek sms ayega. Yani aapki gaadi GPRS se jud jayegi. Gaadi jidhar bhi jaayegi poori nazar rakhi jayegi. Ye message ko sab ladkiyon tak pahnchayiye.”

पड़ताल

इस मैसेज की सच्चाई पता करने के लिए हमने इस नंबर के बारे में सर्च किया। पड़ताल में हमें पता चला कि मुंबई पुलिस ने मार्च 2014 में मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर कंपनी MTNL के साथ मिलकर यह सर्विस शुरू की थी।

हमने मुंबई पुलिस हेडक्वाटर्स में कॉल किया तो हमें बताया गया कि इस नंबर पर कैब या ऑटो व्हीकल नंबर मैसेज करने के बाद अगर 100 नंबर पर कॉल किया जाता तो जीपीएस लोकेशन ट्रैक की जाती थी। यह सर्विस अब बंद की जा चुकी है।

मुंबई पुलिस द्वारा हमें बताया गया कि इस सर्विस को ज्यादा रिस्पॉन्स नहीं मिला था। VAS के मुकाबले ट्विटर की सर्विस लोगों को ज्यादा अच्छी लगी और इसलिए लोगों ने ट्विटर पर मुंबई पुलिस की सर्विस का इस्तेमाल ज्यादा शुरू कर दिया। इसलिए इस मोबाइल नंबर की सर्विस मार्च, 2017 में ही बंद कर दी गई थी।

हमें अपनी पड़ताल में हैदराबाद पुलिस के ट्विटर हैंडल द्वारा 3 दिसंबर 2019 को किया गया एक ट्वीट मिला, जिसमें बताया गया था कि तेलंगाना पुलिस के नाम से वायरल हो रहा यह हेल्पलाइन नंबर फ़र्ज़ी है। इस ट्वीट को आप नीचे देख सकते हैं।

इस सिलसिले में अब हमने तेलंगाना पुलिस के IT डिपार्टमेंट में भी बात की। हमारी बात हेड कॉन्स्टेबल रघुविंदर से हुई। उन्होंने हमें बताया, “वायरल हो रहा मैसज फ़र्ज़ी है। हमने इस फ़र्ज़ी मैसज को लेकर ट्वीट भी किया था।”

इस वायरल मैसेज को Bhaiya Patel‎ नाम के फेसबुक पेज द्वारा शेयर किया गया था। हमने पाया कि पेज को “14,920” लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्वास टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि तेलंगाना पुलिस के नाम से वायरल हो रहा मैसज फ़र्ज़ी है। तेलंगाना पुलिस ने महिला सुरक्षा के लिए ऐसा कोई नंबर शुरू नहीं किया है।

इसी नंबर को लेकर विश्वास टीम ने पहले भी एक खबर का पर्दाफाश किया है जिसे आप यहां क्लिक कर पढ़ सकते हैं।

  • Claim Review : तेलंगाना पुलिस ने महिलाओं के लिए एक हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है जिसपर गाडी का नंबर मैसज करने से गाडी को ट्रैक किया जायेगा और वाहन पर GPRS से नजर रखी जायेगी।
  • Claimed By : FB User- Bhaiya Patel
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later