X

Fact Check: 2012 में लखनऊ में हुई हिंसक प्रदर्शन की तस्वीर दिल्ली हिंसा के नाम पर वायरल

असम और म्यामांर में मुस्लिमों के खिलाफ हुई हिंसा के विरोध में उत्तर प्रदेश के लखनऊ में साल 2012 में हुए उग्र प्रदर्शन की तस्वीर को दिल्ली के जहांगीपुरी में हुई हिंसा का बताकर भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: April 18, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एक तस्वीर में सड़क पर भीड़ को लाठी-डंडों के साथ उग्रतापूर्वक प्रदर्शन करते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि दिल्ली के जहांगीरपुरी की तस्वीर है, जहां मुस्लिम समुदाय ने हिंदुओं पर हमला किया।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। वायरल हो रही तस्वीर का दिल्ली में हुई हालिया हिंसा या उसके बाद की किसी घटना से कोई ताल्लुक नहीं है। यह तस्वीर उत्तर प्रदेश के लखनऊ में 2012 में हुई हिंसक प्रदर्शन की है, जिसमें फोटो पत्रकारों के साथ कई लोग घायल हुए थे और भीड़ ने कई वाहनों को आग के हवाले भी कर दिया था।

क्या है वायरल?

ट्विटर यूजर ‘Raj Shekhar’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”Muslim mob attack hindu in delhi & all people say muslim are in danger in India #HindusUnderAttackInIndia #Hindus #DelhiRiots.” (”मुस्लिम भीड़ ने दिल्ली में हिंदुओं पर हमला किया और लोग कहते हैं कि भारत में मुस्लिम खतरे में है।”)

कई अन्य यूजर्स ने इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल हो रही तस्वीर के साथ किए गए दावे को जांचने के लिए हमने गूगल रिवर्स इमेज की मदद ली। सर्च में यह तस्वीर कई पुरानी रिपोर्ट्स में लगी मिली। 18 अगस्त 2012 को द हिंदू की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में वायरल तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है।

द हिंदू की वेबसाइट पर अगस्त 2012 में प्रकाशित रिपोर्ट में इस्तेमाल की गई तस्वीर, जिसे जहांगीरपुरी हिंसा का बताकर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है

दी गई जानकारी के मुताबिक, असम और म्यांमार में मुस्लिमों के खिलाफ हुआ यह प्रदर्शन उग्र और हिंसक हो गया, जिसमें कई लोग घायल हुए और भीड़ ने कई गाड़ियों में आग भी लगा दी।

कई अन्य रिपोर्ट्स में इस उग्र और हिंसक प्रदर्शन का जिक्र है। इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 18 अगस्त 2012 को प्रकाशित रिपोर्ट में भी बताया गया है कि असम और म्यांमार में मुस्लिमों के खिलाफ हुई हिंसा के विरोध में लखनऊ में उग्र और हिंसक प्रदर्शन हुआ।

इंडिया टुडे की वेबसाइट पर 18 अगस्त 2012 को प्रकाशित रिपोर्ट

हमारी अब तक की पड़ताल से यह स्पष्ट है कि वायरल हो रही तस्वीर दिल्ली के जहांगीरपुरी में हिंसा या उसके बाद कि किसी घटना से संबंधित नहीं है। हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के संवाददाता शुजाऊद्दीन ने भी पुष्टि करते हुए बताया कि वायरल हो रही तस्वीर जहांगीरपुर में हुई हिंसा से संबंधित नहीं है।

वायरल तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर की प्रोफाइल विचारधारा विशेष से प्रेरित है। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक हनुमान जन्मोत्सव पर निकाली गई शोभायात्रा पर जहांगीरपुरी में शनिवार को किए गए हमले को लेकर दिल्ली पुलिस की कार्रवाई जारी है। अब तक 22 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं। वीडयो फुटेज के जरिये आरोपितों की पहचान की जा रही है।

निष्कर्ष: असम और म्यामांर में मुस्लिमों के खिलाफ हुई हिंसा के विरोध में उत्तर प्रदेश के लखनऊ में साल 2012 में हुए उग्र प्रदर्शन की तस्वीर को दिल्ली के जहांगीपुरी में हुई हिंसा का बताकर भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुई हिंसा की तस्वीर
  • Claimed By : FB User- Raj Shekhar
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later