X

Fact Check: छत्तीसगढ़ के धार्मिक जुलूस में हुई घटना में नहीं है कोई कम्युनल एंगल, भ्रामक पोस्ट हुई वायरल

विश्वास न्यूज़ ने इस वीडियो की पड़ताल की तो हमने पाया कि यह वीडियो छत्तीसगढ़ के जशपुर में हुए एक धार्मिक जुलूस का है। इसमें जुलूस पर गाडी चढाने वाले और जुलूस निकालने वाले दोनों एक ही मज़हब के हैं। वायरल वीडियो के साथ जो कम्युनल दावा किया जा रहा है, वह भ्रामक है।

  • By Vishvas News
  • Updated: October 18, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़). सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है, जिसमें सड़क पर बहुत-से लोगों को जुलूस निकालते हुए देखा जा सकता है। इसी वीडियो में एक तेज़ रफ़्तार गाड़ी दिखाई देती है, जो लोगों को रौंदते हुए आगे बढ़ जाती है। अब इसी दर्दनाक वीडियो को सोशल मीडिया यूजर यह कहते हुए वायरल कर रहे हैं कि जानबूझकर दूसरे धर्म के लोगों पर गाड़ी चढ़ा दी। जब विश्वास न्यूज़ ने इस वीडियो की पड़ताल की तो हमने  पाया कि यह वीडियो छत्तसगढ़ के जशपुर में हुए एक धार्मिक जुलूस का है। इसमें जुलूस पर गाडी चढाने वाले और जुलूस निकालने वाले दोनों एक ही धर्म के हैं। वायरल वीडियो के साथ जो कम्युनल दावा किया जा रहा है, वह भ्रामक है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर ने वायरल वीडियो को अपलोड करते हुए लिखा, ‘A speeding vehicle runs over a Hindu religious procession in Jashpur, Chattisgarh, without any provocation whatsoever.This is second such instance of communal profiling and assault on Hindus while CM Bhupesh Baghel is busy helping the Gandhi siblings find political ground in UP’.

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

अपनी पड़ताल को शुरू करते हुए सबसे पहले हमने गूगल पर ‘जशपुर जुलूस इंसिडेंट’ कीवर्ड के साथ सर्च किया और हमारे हाथ जागरण की एक खबर लगी। 16 अक्टूबर 2021 को पब्लिश हुई खबर में वायरल वीडियो के ही स्क्रीनशॉट को देखा जा सकता है। खबर में दी गयी जानकारी के मुताबिक, ‘छत्तीसगढ़ में जशपुर जिले के पत्थलगांव में शुक्रवार को मां दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के लिए निकाले गए जुलूस में तेज रफ्तार वाहन (महिंद्रा क्वांटो) घुस गया। इसकी चपेट में आने से पत्थलगांव निवासी गौरव की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीन लोगों ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया।’ पूरी खबर यहाँ देखें।

हमने अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाया और हमें 15 अक्टूबर 2021 का एएनआई का इसी मामले से जुड़े अपडेट का एक ट्वीट मिला। इसमें दी गयी जानकारी के मुताबिक, ‘जशपुर के पत्थलगांव में एक तेज रफ्तार कार ने लोगों को कुचलने की घटना के दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों – बबलू विश्वकर्मा और शिशुपाल साहू – मप्र के रहने वाले हैं और छत्तीसगढ़ से गुजर रहे थे। उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है : जशपुर एसपी कार्यालय’

न्यूज़ सर्च में हमारे हाथ दैनिक भास्कर की वेबसाइट पर एक खबर लगी। इसमें दी गयी जानकारी के मुताबिक, ‘छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां करीब 150 लोग जुलूस की शक्ल में दुर्गा विसर्जन के लिए जा रहे थे। कार की टक्कर से 1 व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 26 लोग घायल हो गए। घायलों में 4 की हालत गंभीर है। तस्कर कार में गांजा भरकर ओडिशा से मध्य प्रदेश के सिंगरौली आ रहे थे। घटना के बाद लोगों ने कार को आग के हवाले कर दिया। वहीं, पुलिस ने आरोपियों को दबोच लिया है।’

नईदुनिया के बिलासपुर एडिशन में भी हमें इसी मामले से जुड़ी खबर मिली। खबर नीचे देख सकते हैं।

विश्वास न्यूज़ ने वायरल पोस्ट से जुड़ी पुष्टि के लिए छत्तीसगढ़ से प्रकाशित नईदुनिया में जशपुर के रिपोर्टर रविंद्र थवाईत से संपर्क किया और वायरल वीडियो से जुड़ी जानकारी हासिल करने की कोशिश की। उन्होंने हमें बताया, ‘गाड़ी चला रहे दोनों लोग मध्य प्रदेश के रहने वाले थे और गाड़ी में गांजा लेकर जा रहे थे। इनको एएसआई केके साहू ने रोका था, लेकिन गाड़ी चेक नहीं की थी। फिर घबराकर इन लोगों ने गाड़ी तेज़ी से चलानी शुरू कर दी और तभी जुलूस की तरफ चल दी और यह हादसा हो गया।’

भ्रामक पोस्ट को शेयर करने वाले फेसबुक पेज, ‘India With MODI’ की सोशल स्कैनिंग में हमने पाया कि इस पेज को 926,449 लोग फॉलो करते हैं। इस पेज पर काफी एक्टिवली पोस्ट शेयर की जाती हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने इस वीडियो की पड़ताल की तो हमने पाया कि यह वीडियो छत्तीसगढ़ के जशपुर में हुए एक धार्मिक जुलूस का है। इसमें जुलूस पर गाडी चढाने वाले और जुलूस निकालने वाले दोनों एक ही मज़हब के हैं। वायरल वीडियो के साथ जो कम्युनल दावा किया जा रहा है, वह भ्रामक है।

  • Claim Review : A speeding vehicle runs over a Hindu religious procession in Jashpur, Chattisgarh, without any provocation whatsoever.This is second such instance of communal profiling and assault on Hindus while CM Bhupesh Baghel is busy helping the Gandhi siblings find political ground in UP
  • Claimed By : India With MODI
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later