X

Fact Check: सीएम योगी ने शहीद की चिता का नहीं, बल्कि होलिका की राख का लगाया तिलक, वीडियो गलत दावे के साथ हुआ वायरल

विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। वायरल वीडियो शहीद की चिता का नहीं, बल्कि होलिका दहन का है। होलिका दहन की रात जलाई गई होलिका की राख को सीएम योगी ने अपने माथे पर लगाया था।

  • By Vishvas News
  • Updated: April 1, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर सीएम योगी आदित्यनाथ का 29 सेकंड का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि सीएम योगी जमीन पर पड़ी राख को उठाकर अपने माथे पर लगाते हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह राख बॉर्डर पर शहीद हुए एक जवान के अंतिम संस्कार की थी, जिसे सम्मान देने के लिए सीएम योगी ने उसकी राख को अपने माथे पर लगा लिया। विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। वायरल वीडियो होलिका दहन का है। होलिका दहन की रात जलाई गई होलिका की राख को सीएम योगी ने अपने माथे पर लगाया था। 

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर Pramukh Anil Kasana  ने 22 मार्च 2022 को वायरल वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ” एक वीरगति को प्राप्त योद्धा का सम्मान।”

एक अन्य फेसबुक यूजर ओमप्रकाश चतुर्वेदी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, “सीएम योगी एक महान संत हैं। जिन्होंने शहीद को सम्मान देने के लिए उसकी चिता की राख को तिलक के तौर पर माथे पर लगाया।” फैक्ट चेक के उद्देश्य से पोस्ट में लिखी गई बातों को हूबहू लिखा गया है। पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल –

वायरल वीडियो की सच्चाई जानने के लिए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो TimesGroup के पत्रकार Sameer Dixit के आधिकारिक ट्विटर आकाउंट पर 22 मार्च 2022 को अपलोड मिला। कैप्शन में दी गई जानकारी के अनुसार, योगी आदित्यनाथ ने होलिका दहन के बाद राख को माथे पर लगाया था।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने गूगल पर कुछ कीवर्ड्स के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल वीडियो में पीले कपड़ों में नजर आ रहे संत Santoshdas Satuababa का फेसबुक अकाउंट प्राप्त हुआ। अकाउंट को खंगालने के बाद हमें वायरल वीडियो से जुड़ी कुछ तस्वीरें 19 मार्च को अपलोड प्राप्त हुई।

सर्च के दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी एक रिपोर्ट ईटीवी भारत की वेबसाइट पर 19 मार्च 2022 को प्रकाशित मिली। रिपोर्ट के अनुसार, योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर मंदिर में होलिका दहन की राख का तिलक पहले खुद लगाया, फिर वहां उपस्थित संतों और अन्य लोगों को लगाया। इसके बाद उन्होंने घंटाघर चौक से भगवान नरसिंह के जुलूस का नेतृत्व किया।

अधिक जानकारी के लिए हमने सीएम योगी के कैमरापर्सन विनय से संपर्क किया। हमने वायरल वीडियो को उनके साथ शेयर किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा गलत है। वीडियो गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर का है, मैं उस समय वहीं पर मौजूद था। यह वीडियो होली के दिन सुबह के समय का है। सुबह-सुबह योगी जी ने तिलक लगाकर होली की शुरुआत की थी। वीडियो में पीले कपड़ों में नजर आ रहे संत का नाम संतोष दास सतुआ बाबा है। गोरखपुर में होली की सुबह नरसिंह यात्रा शुरू करने से पहले होलिकादहन के राख लगाने की परंपरा है। 

पड़ताल के अंत में पोस्ट को वायरल करने वाले यूजर की जांच की गई। फेसबुक यूजर Pramukh Anil Kasana के सोशल स्कैनिंग में पता चला कि यूजर के 21 हजार फॉलोअर्स हैं। यूजर उत्तर प्रदेश के लोनी का रहने वाला है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की पड़ताल में वायरल दावा गलत निकला। वायरल वीडियो शहीद की चिता का नहीं, बल्कि होलिका दहन का है। होलिका दहन की रात जलाई गई होलिका की राख को सीएम योगी ने अपने माथे पर लगाया था।

  • Claim Review : UP CM MrYogi Adityanath is a great saint who put the ashes on the forehead of a soldier from Uttar Pradesh who died a heroic death. It is truly our great fortune to have such people as rulers of our country
  • Claimed By : ओमप्रकाश चतुर्वेदी
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later