X

Fact Check: नागा साधुओं के साथ अमित शाह की वायरल तस्वीर फर्जी है

  • By Vishvas News
  • Updated: September 6, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल एक तस्वीर में गृहमंत्री अमित शाह को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और कुछ नागा साधुओं के साथ बैठे देखा जा सकता है। पोस्ट के साथ दावा किया जा रहा है कि तस्वीर हाल की है जब गृहमंत्री अमित शाह ने नागा साधुओं के साथ मुलाकात की। विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा फर्जी निकला। असली तस्वीर में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा कुछ नागा साधुओं के साथ बैठे थे। किसी ने एडिट करके तस्वीर में गृहमंत्री अमित शाह की तस्वीर को चिपका दिया।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक ‎यूजर अजय कुमार सिंह‎ ने ‘Ravish Kumar True India ( plz apne dosto ko invite kijiye)’ नाम के फेसबुक पेज पर 30 अगस्त को वायरल तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, “कोरोना वायरस की दवा की खोज में हमारे वैज्ञानिकों के साथ गृहमन्त्री विचार विमर्श करते हुवे।”

वायरल पोस्ट का आर्काइव लिंक यहाँ देखें।

पड़ताल

इस तस्वीर की पड़ताल करने के लिए हमने इस तस्वीर का स्क्रीनशॉट लिया और इसे गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें असली तस्वीर ‘BTv News Kannada’ के एक यूट्यूब चैनल पर 2 अक्टूबर 2017 को अपलोडेड एक वीडियो में मिली। खबर के मुताबिक, ये तस्वीर येदियुरप्पा के बेंगलुरु स्तित डॉलर्स कॉलोनी के घर की है, जहां पर येदियुरप्पा ने कुछ नागा साधुओं से मुलाकात की थी। वीडियो में देखा जा सकता है कि येदियुरप्पा के साथ बगल में कोई नहीं बैठा है।

उस समय कुछ अन्य मीडिया हाउसेस ने भी इस खबर को चलाया था। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के अनुसार कई नागा साधु अचानक येदियुरप्पा के घर पहुंच गए थे, जिसके बाद येदियुरप्पा ने साधुओं से मुलाकात की। साधुओं ने उन्हें कर्नाटक का दोबारा मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया। उस समय येदियुरप्पा कर्नाटक बीजेपी के अध्यक्ष थे।

अब हमें यह जानना था कि अमित शाह की तस्वीर कहाँ से ली गयी है। इसके लिए हमने वायरल तस्वीर में से अमित शाह की तस्वीर का स्क्रीनशॉट लिया और इसे गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें indianexpress.com वेबसाइट की एक खबर में यह फोटो मिली। इस तस्वीर में अमित शाह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और लालकृष्ण आडवाणी के साथ बैठे दिख रहे हैं। अमित शाह वाले हिस्से को इसी तस्वीर में से उठाया गया है। यह फोटो मई 2019 की है जब लोक सभा चुनाव में जीत के बाद अमित शाह और मोदी, मुरली मनोहर जोशी और आडवाणी से मिले थे।

इस विषय में पुष्टि के लिए हमने दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा से संपर्क किया। उन्होंने कहा “यह तस्वीर फोटोशॉप्ड है।”

इस पोस्ट को फेसबुक ‎यूजर अजय कुमार सिंह‎ ने ‘Ravish Kumar True India ( plz apne dosto ko invite kijiye)’ नाम के फेसबुक पेज पर 30 अगस्त को पोस्ट किया था। Ravish Kumar True India ( plz apne dosto ko invite kijiye) फेसबुक पेज के कुल 102.0K फ़ॉलोअर्स हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा फर्जी निकला। असली तस्वीर में कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा कुछ नागा साधुओं के साथ बैठे थे। किसी ने एडिट करके तस्वीर में गृहमंत्री अमित शाह की तस्वीर को चिपका दिया।

  • Claim Review : कोरोना वायरस की दवा की खोज में हमारे वैज्ञानिकों के साथ गृहमन्त्री विचार विमर्श करते हुवे।
  • Claimed By : अजय कुमार सिंह
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later