X

Fact Check: CAA के समर्थन में हैदराबाद में RSS की रैली का दावा गलत, स्वयंसेवकों के पथ संचलन का वीडियो हो रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: January 3, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के स्वयंसेवकों के एक वीडियो को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के समर्थन में निकाली गई रैली के दावे के साथ वायरल किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि हैदराबाद में संघ के स्वयंसेवकों की यह रैली सीएए और नरेंद्र मोदी के समर्थन में निकली रैली थी।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा गलत निकला। हैदराबाद में आरएसएस के स्वयंसेवकों के पथ संचलन के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल वीडियो में?

फेसबुक यूजर ममता गुप्ता (Mamta Gupta) ने वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है, ”Hyderabad was on the verge of violence with rallies by Owaisi and other Muslim outfits. Then RSS announced its rally in support of CAA and Modi. Just one rally and Hyderabad became peaceful. No more threat of violence, no burning of vehicles and no disruption. See below video to know how one rally from RSS changed everything in Hyderabad 👇.”

इसके हिंदी अनुवाद को ऐसे पढ़ा जा सकता है, ‘ओवैसी और अन्य मुस्लिम संगठनों की रैली के कारण हैदराबाद हिंसा के कगार पर था। इसके बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने सीएए और मोदी के समर्थन में रैली निकाली। एक रैली हुई और हैदराबाद शांत हो गया। कोई हिंसा की धमकी नहीं, कोई वाहन नहीं जलाए गए और कोई बाधा नहीं हुई।’

पड़ताल

वीडियो के की-फ्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ के तेलुगू वेबसाइट तेलुगू समयम डॉट कॉम पर अपलोड किया गया वीडियो मिला, जिसमें संघ के स्वयंसेवकों के मार्च को देखा जा सकता है। वीडियो के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक यह संघ के स्वयंसेवकों का पथ संचलन था, जिसका समापन सरुरनगर के इनडोर स्टेडियम में हुआ।

न्यूज सर्च में अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ में 25 दिसंबर को प्रकाशित एक खबर का लिंक मिला, जिसमें आरएसएस की रैली का जिक्र है।  खबर के मुताबिक, ‘सरुरनगर और उसके आस-पास का इलाका राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के घोष की ध्वनि से गूंज उठा, जब हजारों की संख्या में स्वयंसेवक अनुशासित तरीके से सड़कों पर उतरे।’ खबर के मुताबिक, ‘यह रैली सरुरनगर इनडोर स्टेडियम में खत्म हुई, जो संघ के विजय संकल्प शिविरम की जगह थी।’

‘द न्यूज मिनट’ की खबर के मुताबिक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने स्टेडियम में मौजूद स्वयंसेवकों को संबोधित किया और अपने संबोधन के दौरान उन्होंने सीएए और एनआरसी का जिक्र तक नहीं किया।

देश गुजरात एचडी के यू-ट्यूब चैनल पर अपलोड किए गए वीडियो में भी इस मार्च को देखा जा सकता है।

वीडियो में दी गई जानकारी के मुताबिक स्वयंसेवकों का यह मार्च 25 दिसंबर को हैदराबाद में हुआ था। तेलंगाना पुलिस की तरफ से दी गई जानकारी से भी इसकी पुष्टि होती है। रचाकोंडा पुलिस के वेरिफाइड ट्विटर हैंडल पर 25 दिसंबर को हुए इस मार्च को लेकर ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की गई है।

विश्वास न्यूज ने इस मामले को लेकर तेलंगाना में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख आयुष नदमपल्ली से बात की। उन्होंने बताया कि संघ के तीन दिनों का शिविर था और इसी दौरान 25 दिसंबर को स्वयंसेवकों क ‘पथ संचलन’ हुआ। उन्होंने कहा कि जो वीडियो वायरल किया जा रहा है वह स्वयंसेवकों के इसी ‘पथ संचलन’ कार्यक्रम का है।

उन्होंने कहा, ’25 दिसंबर की शाम वनस्थलीपुरम, हस्तिनापुर और मंसूराबाद से स्वयंसेवकों का पथ संचलन निकला था और हैदराबाद के एल बी नगर इलाके में तीनों का विलय हुआ। यहां से संयुक्त पथ संचलन सरुरनगर स्टेडियम में जाकर रुका, जहां संघ प्रमुख मोहन भागवत जी ने उन्हें संबोधित किया।’ उन्होंने कहा कि तेलंगाना के गठन के बाद यह स्वयंसेवकों का पहला ‘पथ संचलन’ था।

निष्कर्ष: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों के मार्च का वीडियो गलत दावे के साथ वायरल हो रहा है। हैदराबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘विजय संकल्प शिविरम’ के सर्वजनिका उत्सव के दौरान हुए पथ संचलन कार्यक्रम के वीडियो को सीएए के समर्थन में निकाली गई रैली के दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : CAA के समर्थन में आरएसएस ने निकाली हैदराबाद में रैली
  • Claimed By : FB user-Mamta Gupta
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later