X

Fact Check: मीनार पाकिस्तान की पुरानी तस्वीर को, पीडीएम की रैली से जोड़ कर किया जा रहा फ़र्ज़ी दावे के साथ वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: December 20, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर एक मीनार की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें हर जगह पानी देखा जा सकता है। यूजर फोटो को शेयर करते हुए दावा कर रहे हैं कि लाहौर में पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) की सार्वजनिक बैठक से पहले, सरकार ने मीनार पाकिस्तान के मैदान में पानी छोड़ा, ताकि रैली न हो सके।

विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में पाया कि हाल ही का समझते हुए जिस तस्वीर को वायरल किया जा रहा है, वह पुरानी तस्वीर है। इसके अलावा, पीडीएम की रैली 13 दिसंबर, 2020 को मीनार पाकिस्तान के मैदान में आयोजित हुई थी, लेकिन वहां रैली के दिन वायरल तस्वीर जैसा पानी ग्राउंड में नहीं नज़र आया। हालांकि, रैली से कुछ दिनों पहले मैदान में पानी ज़रूर छोड़ा गया था, लेकिन ख़बरों के मुताबिक रैली से पहले पानी सूख गया था और इतना नहीं था की रैली उस से मुतासिर होती, जैसा कि वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा है।

वायरल पोस्ट में क्या है?

ट्विटर यूजर, मियां सलीम ने मीनार पाकिस्तान की एक तस्वीर साझा की, जिसमें हर जगह पानी देखा जा सकता है। फोटो को शेयर करते हुए यूजर ने लिखा, “सरकारी आशंकाएं सामने आने लगी हैं। मीनार पाकिस्तान के मैदान में पानी छोड़ दिया गया है। गो नियाजी गो।”

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

अपनी जांच की शुरुआत करते हुए हमने सबसे पहले Google Reverse Image के ज़रिये वायरल तस्वीर को सर्च किया और 17 जुलाई, 2019 को द सन नाम के न्यूज़ पोर्टल द्वारा प्रकाशित एक आर्टिकल मिला। खबर में हमें वही तस्वीर दिखी, जो अब एक नकली संदर्भ के साथ वायरल की जा रही है। खबर में दी गयी तफ्सील के मुताबिक, भारी बारिश के कारण लाहौर में कई जगहों पर भारी पानी जमा हो गया है। हालांकि, फोटो क्रेडिट में, हमें मूल स्रोत के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली।

आगे की जांच में, हमें lahorenama.wordpress.com पर प्रकाशित एक लेख में एक वायरल तस्वीर मिली। 4 सितंबर 2014 को प्रकाशित लेख में, लाहौर शहर में बारिश की कई तस्वीरें देखी जा सकती हैं। उनमें से एक वायरल तस्वीर भी है। आर्टिकल के अनुसार, “ये आज शाम लाहौर की कुछ तस्वीरें हैं, जो कल रात की भारी बारिश की कहानी को बयां कह रही हैं।” पूरा आर्टिकल यहाँ पढ़ें।

अब यह साफ़ था कि हाल ही कि बताते हुए जिस तस्वीर को वायरल किया जा रहा है वह पुरानी है। हालांकि, विश्वास न्यूज इस बात की पुष्टि नहीं करता है कि यह तस्वीर किस साल की या किस मौके की है, लेकिन यह साफ़ है यह तस्वीर इस साल की नहीं है।

न्यूज़ सर्च में हमारे हाथ वायरल तस्वीर के हवाले से Urdu Point नाम की न्यूज़ वेबसाइट में छापा एक आर्टिकल लगा। 9 दिसंबर, 2020 को प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया, “वरिष्ठ पीएमएल-नून के नेता ख्वाजा आसिफ ने ट्विटर पर मीनार पाकिस्तान की एक पुरानी तस्वीर साझा की, जिसके बाद पीटीआई के सोशल मीडिया अकाउंट ने इसकी आलोचना की। ”। रिपोर्ट में आगे बताया गया, “पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) ने लाहौर में 13 दिसंबर को होने वाली रैली के साथ सरकार विरोधी प्रदर्शन शुरू हो चुके हैं।” एक दिन पहले मीनार पाकिस्तान में पानी खोला गया था, जिस पर पीएमएल-नून ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा था कि पानी पीडीएम की रैली को प्रभावित करने के लिए जारी किया गया है। हालांकि, पीटीआई पंजाब के अध्यक्ष एजाज चौधरी ने इससे इनकार किया और कहा कि पानी एक या दो दिन में सूख जाएगा। सरकार संतुष्ट है और भयभीत नहीं है। ” पूरी खबर यहां पढ़ें। हमें दा डॉन पर भी इस से जुडी एक खबर मिली।

बोल न्यूज़ नाम के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर हमें पीडीएम के मीनार पाकिस्तान के मैदान में 13 दिसंबर को हुई रैली का लाइव वीडियो भी मिला। हालांकि, इसमें मैदान पानी में भरा हुआ नज़र नहीं आया, जैसा वायरल पोस्ट में दावा किया जा रहा था।

अधिक पुष्टि और जानकारी के लिए जागरण न्यू मीडिया के वरिष्ठ संपादक प्रत्युष रंजन ने पाकिस्तानी वरिष्ठ पत्रकार लुबना जरार नकवी से संपर्क किया और लुबना के साथ वायरल पोस्ट शेयर की। जिसपर उन्होंने हमें जवाब दिया, “यह तस्वीर लाहौर की मीनार पाकिस्तान की है। लेकिन यह तस्वीर अभी की नहीं, बल्कि पुरानी है। ”

ट्विटर यूजर ‘मियां सलीम’ की सोशल स्कैनिंग में हमने पाया कि यूजर पाकिस्तान का रहने वाला है। इसके अलावा 981 यूजर उसे फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में पाया कि मीनार पाकिस्तान ग्राउंड की जो तस्वीर वायरल हो रही है, वह एक पुरानी इमेज है, जिसका हाल ही से कोई लेना-देना नहीं है। इसके अलावा, पीडीएम की रैली 13 दिसंबर, 2020 को मीनार पाकिस्तान के मैदान में आयोजित की गई थी, लेकिन रैली के दिन, मैदान में वायरल तस्वीर जैसा पानी का मंज़र नज़र नहीं आया।

  • Claim Review : सरकारी आशंकाएं सामने आने लगी हैं। मीनार पाकिस्तान के मैदान में पानी छोड़ दिया गया है।
  • Claimed By : Mian Saleem,PMLN
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later