नई दिल्ली, विश्वास न्यूज। नोटों से संबंधित वायरल हो रही पोस्ट का भाजपा के विधायक सुधीर गाडगिल से सीधे तौर पर कोई लेना-देना नहीं है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में ये पोस्ट पूरी तरह फेक पाई गई है।

क्या है वायरल पोस्ट में

अंकित पटेल नाम के यूजर द्वारा शेयर पोस्ट में लिखा है – मोदी जी को बधाई हो

भाजपा के विधायक सुधीर गाडगिल की कार से 20 हजार करोड़ की नई करेंसी पकड़ी गई है। ये खबर आग की तरह फैला दो, क्योंकि अपने भारत की मीडिया में दिखाने की औकात नहीं

इस मैसेज के साथ पुलिस वर्दी में एक आदमी और कई लोग दिखाई दे रहे हैं। इसके साथ ही 2000 नोटों की करेंसी दिखाई दे रही है।

इस पोस्ट को 69 हजार बार शेयर किया जा रहा है। इस पर 1000 कमेंट भी किए गए हैं।

इस पोस्ट को 16 नवंबर 2018 को शेयर किया गया है। ऐसी ही पोस्ट को अन्य यूजर्स के द्वारा शेयर किया गया है।

Fact Check

बीजेपी के विधायक से मामला जुड़ा होने के कारण हमने इसे जांचने का फैसला किया। इसमें भाजपा के विधायक सुधीर गाडगिल पर उंगली उठाई गई है। हमने सबसे पहले सुधीर गाडगिल के बारे में पता किया। हमें पता चला कि वे महाराष्ट्र की सांगली सीट से विधायक हैं।

इसके बाद हमें पोस्ट में दी गई 20 हजार करोड़ रुपये को लेकर हमने गूगल सर्च किया, लेकिन हमें ऐसी कोई भी खबर नहीं मिली। इस दौरान हमें indianexpress.com की एक खबर दिखाई दी जिसमें छह करोड़ रुपये के नकद को उस्मानाबाद में सीज करने की बात कही गई है। इस खबर के मुताबिक, उस्मानाबाद जिला प्रशासन और इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने वाहन से छह करोड़ रुपये की धनराशि जब्त की है। इस राशि में 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट हैं। रिपोर्ट के अनुसार, ये पैसे सांगली की एक अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक के बताए जा रहे हैं। इस बैंक का संचालन सांगली के बीजेपी विधायक के भाई के द्वारा किया जाता है। ये खबर 16 नवंबर 2016 को वेबसाइट पर लगाई गई है।

इसके बाद हमें टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर मिली जिसमें सांगली बैंक ने जब्त किए गए छह करोड़ रुपये अपने बताए थे। खबर में बताया गया है कि बैंक के कर्मचारी 100, 500 और 1000 के पुराने नोट लेकर आ रहे थे। कुछ मिलाकर ये 6 करोड़ की रकम थी। इस खबर से पता चलता है कि इन नोटों का सांगली बैंक से संबंध है ना कि बीजेपी के विधायक से।

पोस्ट में दी गई रकम पर संदेह होना लाजमी है। क्योंकि 20 हजार करोड़ की रकम एक गाड़ी में किसी भी तरीके से नहीं लाई जा सकती है। बीस हजार करोड़ की रकम को अगर 2000 रुपये के नोट में बदला जाए तो करीब दस करोड़ नोट हो जाएंगे। ये नोट बोलेरो गाड़ी में पकड़े गए हैं जिसका बूट स्पेस 690 लीटर होता है। इसका आयतन 889800156 घन मिमी होता है, जबकि 2000 रुपये के नोट का क्षेत्रफल 10956 वर्ग मिमी है। इस प्रकार से देखा जाए तो कुल 81215 नोट गाड़ी में आ सकते हैं। इसका मतलब है कि गाड़ी में 16.24 लाख के करीब रकम आ सकती है ना कि 20 हजार करोड़े। इस प्रकार इतने नोट गाड़ी में आना पूरी तरह से असंभव है।    

फिर हमने अंकित पटेल का सोशल स्कैन किया। Stalkscan करने पर हमें पता चला कि अधिकतर पोस्ट एक विशेष विचारधारा के समर्थन में किए गए हैं।

निष्कर्ष- इस पोस्ट का बीजेपी के विधायक से सीधा कोई लेना-देना है। इसके साथ ही बीस हजार करोड़ की रकम पूरी तरह फेक है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : दावा किया गया है कि बीजेपी विधायक की गाड़ी से 20 हजार करोड़ रुपये बरामद हुए हैं
Claimed By : Ankit patel
Fact Check : False

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here