नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। सोशल मीडिया पर आज कल एक पोस्ट वायरल हो रही है जिसमे एक तस्वीर को शेयर किया गया है। इस तस्वीर में बीजेपी और शिवसेना के झंडे के साथ एक इस्लामिक झंडे को भी देखा जा सकता है। पोस्ट में क्लेम किया गया है कि यह तस्वीर बीजेपी की कश्मीर रैली की है और इसमें दिख रहा झंडा पाकिस्तानी झंडा है। हमारी पड़ताल में हमने पाया कि यह तस्वीर 2009 में मालेगाव में हुई बीजेपी शिवसेना रैली की है, कश्मीर रैली की नहीं और इस फोटो में दिख रहा झंडा इस्लामी झंडा है, पाकिस्तानी झंडा नहीं।

Claim

वायरल पोस्ट में लिखा है “कश्मीर में भाजपा की रैली में भाजपा के झंडे के साथ पाकिस्तानी झंडा..😢😢”

इसके बाद अब कई लोग समझाते फिर रहे है … " भाई ये पाकिस्तान का झंडा नही है, ये इस्लामी झंडा है । इसमें कोई आपत्ति की बात नही है । "

Posted by Cartoons Against Corruption on Monday, 8 April 2019

Fact Check

पड़ताल शुरू करने के लिए हमने सबसे पहले इस तस्वीर के स्क्रीनशॉट को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। इस जांच में हमारे हाथ 2010 का Malegaon – My HomeTown नाम का एक ब्लॉग लगा जिसमे इस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया था। इस ब्लॉग के अनुसार यह तस्वीर 2009 में मालेगाव में हुई बीजेपी रैली की है।

हमने इन कीवर्ड्स के साथ इस स्क्रीनशॉट को फिरसे सर्च किया और हमारे हाथ www.ummid.com की 2009 की एक खबर लगी। इस खबर में बताया गया था कि दादाजी दगाडू भूसे के लिए हुई बीजेपी शिवसेना की रैली में इस्लामिक झंडा नज़र आया और इसमें इस वायरल फोटो को भी देखा जा सकता है।

इस मामले में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने मालेगाव से शिव सेना के MLA दादाजी दगडू भूसे से बात की और उन्होंने हमें बताया कि “यह पाकिस्तान का झंडा नहीं बल्कि इस्लाम से जुड़े हरे रंग का झंडे हैं जो 2009 में शिवसेना और भाजपा के झंडे के साथ रैली में लहराए गया था। मालेगाव क्षेत्र में बड़ी संख्या में मतदाता मुस्लिम हैं, इसलिए मेरी रैली में धार्मिक हरी झंडी के साथ कोई भी आ सकता है, लेकिन मुझे लगता है कि इस झंडे को पाकिस्तान का झंडा कहना पूरी तरह से गलत है।”

इस विषय में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने आल इंडिया तंज़ीम उलेमा इस्लाम के दिल्ली प्रदेश के सेक्रेक्टरी सगीर अहमद से बात जिन्होंने हमें बताया कि चाँद तारा बना हरा झंडा इस्लामी झंडा होता है जिसे इस्लाम में शुभ माना जाता है। इस झंडे का किसी मुल्क से कोई लेना देना नहीं है। साफ़ है कि इस्लामी झंडे और पाकिस्तानी झंडे में काफी फर्क है। इस्लामी झंडे में हरे पृष्ट पर चाँद और तारा बना होता है जबकि पाकिस्तानी झंडे में चाँद और तारे के साथ लेफ्ट साइड में एक सफ़ेद पट्टी भी होती है।

इस पोस्ट को Vinay Srivastava नाम के एक फेसबुक यूजर ने शेयर किया था।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल हो रहा पोस्ट गलत है। ये तस्वीर बीजेपी की कश्मीर रैली की नहीं बल्कि 2009 में महाराष्ट्र के मालेगाव में हुई बीजेपी शिवसेना की जॉइंट रैली की है। और इस तस्वीर में दिख रहा झंडा एक आम इस्लामिक झंडा है न कि पाकिस्तान का झंडा।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Claim Review : कश्मीर में भाजपा की रैली में भाजपा के झंडे के साथ पाकिस्तानी झंडा
Claimed By : Vinay Srivastava
Fact Check : False

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here