X

Fact Check: अमृतसर की घटना को गाजीपुर बॉर्डर का बता कर किया जा रहा वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: February 5, 2021

नई दिल्‍ली (Vishvas News)। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक टैंकर सड़क पर दो से तीन महिलाओं को कुचलता हुआ निकल जाता है। इसके बाद वहां मौजूद लोग शोर मचाते हैं, कुछ ही दूरी पर टैंकर को रोक लिया जाता है और चालक को पकड़ लिया जाता है। सड़क पर दो महिलाएं बेसुध पड़ी नजर आती हैं, जबकि एक महिला दर्द में कराहती दिखती है। दावा किया जा रहा है कि गाजीपुर बॉर्डर पर बिजली काटने के बाद जब पानी बंद किया तो गाजियाबाद नगर निगम जबरन पानी का टैंकर ले जाने लगा, तभी महिला किसान आगे लेट गई तो महिलाओं के ऊपर से टैंकर चढ़ा कर यूपी सरकार उसे वापस ले गई।

विश्वास न्यूज ने पड़ताल में पाया कि वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा सही नहीं है। यह घटना 26 जनवरी को अमृतसर के वल्ला कस्बे की है, जहां महिलाएं किसानों के समर्थन में धरने में शामिल होने जा रही थीं, तभी वहां से गुजरता हुआ पानी का टैंकर उन्हें रौंदता हुआ निकल गया।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर Yunus Khan ने यह वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखाः गाजीपुर बॉर्डर पर बिजली काटने के बाद सुबह के समय जब पानी बंद किया तो गाजियाबाद नगर निगम जबरन पानी के टैंकर ले जाने लगा महिल किसान आगे लेट गई तो महिलाओं के ऊपर ट्रैक्टर चढ़ा कर यूपी सरकार अपने पानी के टैंकर वापस ले गई wadsaap द्वारा प्राप्त विडियो हे Yunus Khan फॉलो करे

वायरल पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देख सकते हैं।

विश्वास न्यूज को अपने फैक्ट चेकिंग वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर भी यह वीडियो फैक्ट चेक के लिए मिला।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने पड़ताल शुरू करते हुए सबसे पहले इनविड टूल की मदद से वीडियो के स्क्रीनग्रैब्स लिए और इन्हें गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढा। हमें बहुत सारी मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं। इन मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, घटना अमृतसर के वल्लां कस्बे की है, जहां 26 जनवरी को कुछ महिलाएं किसानों के समर्थन में दिए जा रहे धरने में शामिल होने जा रही थीं, जब एक तेज रफ्तार टैंकर ने उन्हें कुचल दिया। इस घटना में दो महिलाओं की मौत हो गई, जबकि पांच गंभीर रूप से घायल हो गईं।

हमने इस मामले में और जानकारी जुटाने के लिए दैनिक जागरण के अमृतसर संवाददाता लखविंदर सिंह से संपर्क किया। उन्होंने बताया कि घटना के समय वो वहीं मौजूद थे और यह घटना वल्लां कस्बे में हुई। वहां पानी के टैंकर को लेकर कोई विवाद नहीं था, न ही पानी का टैंकर इस धरने का हिस्सा था। महिलाएं गुरुदवारा कोठा साहिब में अरदास करने के बाद सर्विस लेन से जा रही थीं, जब एलीमेंट्री स्कूल के सामने पीछे से आ रहे पानी के टैंकर ने उन्हें कुचल दिया। वायरल पोस्ट में किया जा रहा दावा गलत है।

अब बारी थी फेसबुक पर इस पोस्ट को साझा करने वाले यूजर Yunus Khan के बारे में जानने की। हमने पेज की प्रोफाइल को स्कैन किया तो पाया कि खबर लिखे जाने तक इस यूजर के 686 फॉलोअर्स थे।

निष्कर्ष: टैंकर से महिलाओं को कुचले जाने का यह वायरल वीडियो गाजीपुर बॉर्डर का नहीं, बल्कि अमृतसर के वल्लां कस्बे का है, जहां महिलाएं किसानों के समर्थन में धरना-प्रदर्शन करने जा रहीं थीं, जब यह हादसा उनके साथ पेश आया।

  • Claim Review : गाजीपुर बॉर्डर पर बिजली काटने के बाद सुबह के समय जब पानी बंद किया तो गाजियाबाद नगर निगम जबरन पानी के टैंकर ले जाने लगा महिला किसान आगे लेट गई तो महिलाओं के ऊपर ट्रैक्टर चढ़ा कर यूपी सरकार अपने पानी के टैंकर वापस ले गई
  • Claimed By : Fb User: Yunus Khan
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later