X

Fact Check : अरविंद केजरीवाल ने नहीं किया राम रहीम की मुलाकात वाला ट्वीट, वायरल पोस्‍ट फेक है

विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में अरविंद केजरीवाल के नाम से वायरल ट्वीट फेक निकला। उन्‍होंने राम रहीम को लेकर न कोई ट्वीट किया और ना ही मुलाकात।

  • By Vishvas News
  • Updated: February 21, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। पंजाब समेत देश के पांच राज्‍यों में विधानसभा चुनाव के बीच दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नाम से एक ट्वीट खूब वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया गया है कि केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि उन्‍होंने राम रहीम से मुलाकात की थी। जिसके बाद चुनावों में उनका आशीर्वाद मिला। विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल ट्वीट की जांच की। यह फर्जी निकला। अरविंद केजरीवाल की ओर से राम रहीम से कोई मुलाकात नहीं की गई थी। ना ही दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री की ओर से ऐसा कोई ट्वीट किया गया था। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में इसे फर्जी पाया।

क्या है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर मनजीत संधू ने 13 फरवरी को अरविंद केजरीवाल और राम रहीम की तस्‍वीरों का एक कोलाज शेयर किया। उसमें केजरीवाल के नाम से एक ट्वीट का इस्‍तेमाल किया गया था। इसमें केजरीवाल की तस्‍वीर का भी इस्‍तेमाल किया गया। लिखा गया Met Baba Ram Rahim Insan ji, same energy same divine personality, got his blessings and he promised to bless AAp in Upcoming elections.

फेसबुक पोस्‍ट के कंटेंट को यहां ज्‍यों का त्‍यों लिखा गया है। इसके आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखें। फेसबुक पर कुछ अन्य यूजर्स ने भी इस वीडियो को पोस्ट करते हुए समान दावा किया।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने अरविंद केजरीवाल और राम रहीम की मुलाकात के दावे की सच्‍चाई जानने के लिए सबसे पहले गूगल ओपन सर्च का सहारा लिया। हमने यह जानने का प्रयास किया कि क्‍या दोनों में कोई मुलाकात हुई। संबंधित कीवर्ड से सर्च करने पर हमें एक भी ऐसी खबर नहीं मिली, जो वायरल दावे की पुष्टि कर सकें।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए विश्‍वास न्‍यूज ने अरविंद केजरीवाल के नाम से वायरल ट्वीट की सच्‍चाई जानने के लिए सबसे पहले उनके ट्विटर हैंडल का रूख किया। वायरल ट्वीट में 11 फरवरी की तारीख और 9:17 बजे का वक्‍त लिखा हुआ था। इसके आधार पर पड़ताल की शुरुआत की गई। ट्विटर एडवांस्ड सर्च से हमें पता चला कि राम रहीम को लेकर ट्वीट नहीं किया गया। 11 फरवरी को केजरीवाल के ट्विटर हैंडल से एक आम आदमी पार्टी के एक ट्वीट को री-ट्वीट को किया गया। इसके अलावा भगवंत मान के ट्वीट को री-ट्वीट किया गया।

पड़ताल को अगले चरण में विश्‍वास न्‍यूज ने पंजाब में आम आदमी पार्टी के वरिष्‍ठ प्रवक्‍ता अहबाब ग्रेवाल से संपर्क किया। उन्‍होंने बताया कि कुछ राजनीतिक पार्टियां आम आदमी पार्टी की लोकप्रियता से बौखला गईं हैं। इसलिए ऐसा झूठ वायरल किया जा रहा है।

अब हमें यह जानना था कि फर्जी पोस्‍ट को वायरल करने वाला यूजर कौन था। फेसबुक यूजर मनजीत संधू की सोशल स्‍कैनिंग में पता चला कि यूजर पंजाब के अजनारा में रहते हैं। उनकी ज्‍यादातर पोस्‍ट पंजाबी में होती है।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की पड़ताल में अरविंद केजरीवाल के नाम से वायरल ट्वीट फेक निकला। उन्‍होंने राम रहीम को लेकर न कोई ट्वीट किया और ना ही मुलाकात।

  • Claim Review : केजरीवाल के नाम से एक ट्वीट
  • Claimed By : फेसबुक यूजर मनजीत संधू
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later