पूरा सचः तोड़ा-मरोड़ा गया है राहुल गांधी का कर्ज माफी संबंधी बयान

1

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आए जिसमें कांग्रेस ने तीन राज्यों में जीत हासिल की है। छत्तीसगढ़ में उसे प्रचंड बहुमत हासिल हुआ है, जबकि मध्य प्रदेश और राज्यस्थान में भी कांग्रेस सरकार मैनेज करने में कामयाब रही। कांग्रेस ने इस जीत का श्रेय राहुल गांधी की कप्तानी को दिया। ऐसा बताया जा रहा है कि उनके भाषणों ने किसानों को जबरदस्त लुभाया। उन्होंने किसानों से कर्जमाफी का वायदा किया। इसी वीडियो को आधार बनाकर कुछ लोग उनके वीडियो के एक हिस्से को काटकर सोशल मीडिया पर वायरल कर रहे हैं, जो कि पूरी तरह फर्जी है। राहुल ने कर्जमाफी पर पलटने जैसी कोई बात नहीं की है।

वायरल पोस्ट
राहुल गांधी के दो वीडियो को एक ही फ्रेम में लगा कर दिखाया जा रहा है। पहले वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं कि ‘मैं भरोसा दिलाना चाहता हूं इस स्टेज से, जिस दिन मध्य प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी उसके बाद आप 10 दिन गिनना और 10 दिन के अंदर गारंटी से कह रहा हूं कि यहां पर आपका कर्जा माफ हो जाएगा।’
इसके बाद इसी पोस्ट के दूसरे वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं, ‘मैंने अपने भाषणों में बोला कि कर्जमाफी एक सपोर्टिंग स्टेप है, कर्जमाफी सॉल्यूशन नहीं है, सॉल्यूशन ज्यादा कॉम्प्लेक्स होगा। सॉल्यूशन किसानों को सपोर्ट करने का होगा। इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने का होगा।’


इस वीडियो को ‘जय पूर्वांचल’ नाम के पेज से वायरल किया जा रहा है। सबसे हैरानी की बात है कि इसे अभी तक 5.5 हजार कमेंट मिल चुके हैं, जबकि 1 लाख 13 हजार 474 बार ये शेयर हो चुका है।
इसके अलावा ‘Politics Solitics’ नाम के पेज से वायरल किए गए इस वीडियो को अब तक 3.2 हजार कमेंट और 72538 बार शेयर किया जा चुका है।

इसी तरह से ये वीडियो कई और भी जगह डाला गया है।

पड़ताल
राहुल गांधी ने कई रैलियों के दौरान किसानों का कर्जा माफ करने का भाषण दिया था तो अब हमारा शक 11 दिसंबर को दिए गए वीडियो पर गया और हमने उसे पूरा सुनने का फैसला किया। हमने इस वीडियो में पाया कि राहुल गांधी से पूछा गया कि कर्जमाफी की घोषणा कब होगी? इसके जवाब में उन्होंने कहा कि जैसे ही हमारी सरकार बनेगी, किसानों की कर्जमाफी का प्रॉसेस शुरू हो जाएगा। इमिडिएटली।

फिर ये सवाल उठता है कि ये वीडियो कहां से आया है, इसलिए इस प्रेस कॉन्फ्रेंस को आगे सुनने का फैसला किया गया।
दरअसल यह एक दूसरे सवाल का जवाब है जिसको काटकर यूज किया गया है।

इसमें सवाल किया गया है कि आप लोग बार-बार कहते हैं कि 2009 में UPA की वापसी में कर्ज माफी का बड़ा रोल रहा है। क्या 2019 में फिर से कांग्रेस कर्जमाफी का वादा लेकर चुनावों में जाएगी? इसके जवाब में राहुल ने कहा, नहीं देखिए, मैंने अपने भाषणों में बोला कि कर्जमाफी सपोर्टिंग स्टेप है लेकिन सॉल्यूशन नहीं है.. सॉल्यूशन ज्यादा कॉम्प्लेक्स होगा। सॉल्यूशन किसानों को सपोर्ट करने का होगा, इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने का होगा। टेक्नोलॉजी देने का होगा और सॉल्यूशन फ्रेंकली मैं बोलूं.. सॉल्यूशन चैलेंजिंग चीज है और हम उसको करके दिखाएंगे..वट वो उसमें किसानों के साथ हमें काम करना पड़ेगा और देश की जनता के साथ करना पडेगा और हम करेंगे।

इस वीडियो को देखकर आप आसानी से अंदाजा लगा सकते हैं कि इस वीडियो के एक हिस्से को गलत तरीके से प्रसारित किया जा रहा है।

पूरा सच जानें…सब को बताएं 

सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Gaurav Tiwari
  • Claim Review : ऐसा दावा किया गया था कि राहुल गांधी किसान कर्ज माफी के मुद्दे से मुकर गए हैं
  • Claimed By : जय पूर्वांचल
  • Fact Check : Mostly false
vishal

Nice Article

संबंधित लेख