X

Fact Check: गर्भवती हथिनी की मौत केरल के पलक्कड़ में हुई थी, मलप्पुरम में नहीं

  • By Vishvas News
  • Updated: June 5, 2020

नई दिल्ली विश्वास न्यूज़: केरल में पटाखे खाने से गर्भवती हथिनी की मौत के बाद सोशल मीडिया पर कई लोग इस वाकया पर पोस्ट शेयर कर रहे हैं। इनमें से कई पोस्ट दावा कर रहे हैं कि यह घटना केरल के मलप्पुरम जिले की है, जहां इस हथिनी को अनानास में भरकर पठाखे खिलाये गए, जिसके बाद इस गर्भवती हथिनी की मौत हो गई। विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में पता चला कि यह घटना केरल के पलक्कड़ में हुई थी, मल्लपुरम में नहीं। पलक्कड़, मलप्पुरम से लगभग 80 किलोमीटर दूर है।

क्या हो रहा है वायरल?

‘Baat मी’ नाम के एक फेसबुक पेज ने 3 जून को एक पोस्ट शेयर किया। इस पोस्ट में पानी में खड़े एक हाथी की तस्वीर थी। फोटो पर टेक्स्ट लिखा था। टेक्स्ट में लिखा गया था, “जंगली हाथी ने भोजन की तलाश में केरल के मल्लापुरम में के गाँव में जंगल की ओर प्रस्थान किया था। जब वह सड़क पर चल रही थी, तो उसे स्थानीय लोगों द्वारा पटाखों से भरा अनानास खिलाया गया। घायल हथनी वेल्लियार नदी तक चली गयी और वहां खड़ी हो गयी। वह वहीँ खड़ी-खड़ी मर गई !! इन्सानियत मर चुकी है।

पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

वायरल पोस्ट में मलप्पुरम का उल्लेख है, इसलिए विश्वास न्यूज़ ने मलप्पुरम के सहायक वन संरक्षक श्री इम्तियाज से संपर्क साधा। उन्होंने हमें बताया “यह घटना मलप्पुरम की नहीं, पलक्कड़ की है।” उन्होंने हमें पलक्कड़ प्राधिकरण से संपर्क करने को कहा।

इसके बाद हमने पलक्कड़ के जिला वन अधिकारी से फ़ोन पर बात की। हमसे बात करते हुए डीएफओ ने कहा, “यह घटना केरल के पलक्कड़ जिले में हुई थी। हथिनी को पलक्कड़ जिले के मन्नारक्कड़ में वन क्षेत्र से सटे एक छोटे-से जल प्रवाह में पाया गया था।”

उन्होंने यह भी कहा कि हथिनी की मौत की घटना विशुद्ध रूप से एक दुर्घटना थी। इस बात का कोई सबूत नहीं है कि उसे विस्फोटक खिलाया गया था।

डीएफओ के अनुसार, “हम नहीं कह सकते कि हथिनी को अनानास में भरकर पटाखे खिलाए गए थे। असल में यह जंगली सूअरों के लिए बिछाया गया कुछ जाल था, जिसे इस हथिनी ने खा लिया था।”

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने भी ट्वीट किया था कि यह दुखद घटना पलक्कड़ में हुई थी।

कई सोशल मीडिया यूजर्स इस घटना को मलप्पुरम में हुई घटना बताते हुए गलत दावे के साथ पोस्ट शेयर कर रहे हैं। उनमें से एक है ‘Baat मी’ नाम का एक फेसबुक पेज है। इस पेज के कुल 147 फ़ॉलोअर्स हैं।

डिस्क्लेमर: इस स्टोरी से कुछ गैर जरूरी शब्द हटाते हुए इसे अपडेट किया गया है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में पता चला कि गर्भवती हथिनी की मौत की घटना केरल के पलक्कड़ में हुई थी, मल्लपुरम में नहीं। पलक्कड़, मलप्पुरम से लगभग 80 किलोमीटर दूर है।

  • Claim Review : जंगली हाथी ने भोजन की तलाश में केरल के मल्लापुरम में के गाँव में जंगल की ओर प्रस्थान किया था। जब वह सड़क पर चल रही थी, तो उसे स्थानीय लोगों द्वारा पटाखों से भरा अनानास खिलाया गया। घायल हथनी वेल्लियार नदी तक चली गयी और वहां खड़ी हो गयी। वह वहीँ खड़ी-खड़ी मर गई
  • Claimed By : Baat मी
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later