X

Fact Check: Amazon के नाम पर क्रिसमिस गिफ्ट को लेकर वायरल हो रहा यह लिंक क्लिकबेट है

  • By Vishvas News
  • Updated: December 18, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। वॉट्सऐप पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसे अमेजन शॉपिंग साइट के नाम पर वायरल किया जा रहा है। पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि क्रिसमस के टाइम पर अमेजन लोगों को एक छोटे-से सर्वे के बदले मोबाइल से लेकर लैपटॉप तक जीतने का मौका दे रहा है। इसके साथ एक लिंक भी शेयर किया जा रहा है। विश्वास न्यूज़ के फैक्ट चेकर को अपने वॉट्सऐप पर यह लिंक फैक्ट चेक के लिए मिला। विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में यह दावा फर्जी निकला है।

क्या हो रहा है वायरल

इस मैसेज में एक लिंक है, जिसे क्लिक करने पर एक वेबपेज खुलता है, जिसपर लिखा है- ‘More than 100 units of computer and mobile equipment, as well as 50 cash prizes ranging from 50 to 5000 US dollars. All you have to do is open the correct gift box. You have 3 tries, good luck!”


वायरल मैसेज का स्क्रीनशॉट।

हमें फेसबुक पर भी कुछ इसी तरह का मैसेज मिला। Nibia Peraza नाम की फेसबुक page पर भी इस लिंक को शेयर किया गया था।

पड़ताल

विश्वास न्यूज़ ने सबसे पहले पोस्ट में शेयर किए गए लिंक पर क्लिक किया। लिंक खुलने पर एक वेबपेज खुला, जिसपर लिखा था- ‘More than 100 units of computer and mobile equipment, as well as 50 cash prizes ranging from 50 to 5000 US dollars. All you have to do is open the correct gift box. You have 3 tries, good luck! Enter our quick survey and get your favorite gift on this Christmas!” इस पेज का यूआरएल ही हमें गड़बड़ लगा। अमेज़न का यूआरएल https://www.qi-whatapp.top/index.php?app=christmas# नहीं हो सकता।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने सर्वे में हिस्सा लिया। यहां हमसे 3 सवाल पूछे गए और गिफ्ट मिलने से पहले इस यूआरएल को 10 वॉट्सऐप ग्रुप्स में शेयर करने को कहा गया।

हमने इस संबंध में सीधे अमेजन से ट्विटर पर संपर्क किया। @AmazonHelp ने अपनी आधिकारिक ट्विटर आईडी से जवाब देते हुए बताया कि ये लिंक सही नहीं है। @AmazonHelp ने ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक करने या अपनी निजी सूचनाएं शेयर करने से बचने को भी कहा।

हमने इस विषय में ज़्यादा जानकारी के लिए साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ एवं राजस्थान सरकार की पब्लिक ग्रीवांस कमेटी के पूर्व आईटी सलाहकार आयुष भारद्वाज से संपर्क साधा। उन्होंने हमें बताया, “इस प्रक्रिया को तकनीकी भाषा में क्लिक बेटिंग कहा जाता है, इसमें यूजर्स को लॉटरी, डिस्काउंट कूपन, मोबाइल रिचार्ज आदि के लालच देकर ज्यादा से ज्यादा वक्त तक वेबसाइट पर एंगेज रखा जाता है। ऐसा कर उसे ऐड दिखाए जाते हैं। ऐड भी वेबसाइट के अलग-अलग पेज पर दिखाए जाते हैं और सर्वे के नाम पर यूजर को उन्हीं अलग-अलग पेजों पर घुमाया जाता है। यह “पे पर व्यू” आधारित होते हैं। जिसका मतलब गूगल इन साइबर अपराधियों को “पर व्यू” पैसा देता है।”आयुष भारद्वाज ने भी जनता को ऐसे लिंक्स पर क्लिक न करने की सलाह दी।

हमने फेसबुक पर इस मैसेज को शेयर करने वाले प्रोफाइल Arts&Crafts Marketplace Romania 🇷🇴🇷🇴🇷🇴 की सोशल स्कैनिंग की। प्रोफाइल पर दी गई जानकारी के मुताबिक, पेज को रोमानिया से संचालित किया जाता है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में सामने आया है कि अमेजन के नाम पर वायरल किया जा रहा यह मैसेज फर्जी और क्लिकबेट है। इसका अमेजन से कोई संबंध नहीं है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, ऐसे लिंक पर क्लिक करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later