X

Fact Check: बांग्लादेश में नमाज पढ़ते लोगों की तस्वीर को किया जा रहा भारत की बताते हुए शेयर

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल की तो पाया कि इस तस्वीर का भारत से कोई लेना-देना नहीं है। यह बांग्लादेश की जुमे की नमाज़ की फोटो है।

  • By Vishvas News
  • Updated: December 18, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)- सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें सड़क और वहां खड़ी गाड़ियों पर लोगों को नमाज़ पढ़ते हुए देखा जा सकता है। तस्वीर को शेयर करते हुए यूजर दावा कर रहे है कि यह भारत की फोटो है। जब विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल की तो पाया कि इस तस्वीर का भारत से कोई लेना-देना नहीं है। यह बांग्लादेश की जुमे की नमाज़ की फोटो है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर ने वायरल पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा, हिंदी अनुवाद, ‘शुक्रवार की नमाज अदा करने के लिए भारत में एक हाईवे पर ट्रैफिक को ब्लॉक कर दिया। यह मुझे प्रार्थना नहीं लगती; यह दूसरों को डराने के लिए संख्याओं का प्रदर्शन है। उन्हें प्रार्थना स्थलों पर जाने के लिए कहने के किसी भी प्रयास को ‘भेदभाव’ करार दिया जाएगा।”

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें

पड़ताल

हमने वायरल तस्वीर की पड़ताल को शुरू करते हुए सबसे पहले तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज के जरिये सर्च किया। सर्च में हमें सबरीना आबिद नाम की एक ट्विटर यूजर की तरफ से ट्वीट की गई यही वायरल तस्वीर मिली। तस्वीर को ट्वीट करते हुए यूजर ने लिखा है। हिंदी अनुवाद- ‘ढाका, बांग्लादेश के बाहरी इलाके में दुनिया के सबसे बड़े तीर्थस्थलों में से एक, विश्व इज्तेमा में नमाज पढ़ते लोग। ध्यान से देखिए, आप देख सकते हैं कि आदमी ट्रक के बेड पर नमाज पढ़ रहे हैं।’

वायरल तस्वीर को गौर से देखे जाने पर हमें उसमे बस के ऊपर ‘BRTC’ लिखा हुआ नज़र आया। सर्च में हमने पाया कि बीआरटीसी की बसें बांग्लादेश में चलती हैं। वायरल तस्वीर में नज़र आ रही बस की तस्वीरें हमें बांग्ला ट्रिब्यून, फाइनेंशियल एक्सप्रेस, टीबीएस न्यूज़ डॉट नेट और बीआरटीसी (बांग्लादेश रोड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन) की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी मिली।

हमें इसी वायरल तस्वीर का एक बड़ा वर्जन alamy की वेबसाइट पर भी मिला। यहाँ तस्वीर के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, यह बांग्लादेश के बिश्व इज्तेमा की तस्वीर है, जहाँ लोग जुमे की नमाज़ पढ़ रहे हैं।

वायरल तस्वीर से जुड़ी पुष्टि के लिए हमने बांग्लादेश द बिज़नेस स्टैंडर्ड के फोटोग्राफर मिथुन सदिकुर रहमान से सम्पर्क किया और वायरल पोस्ट उनके साथ शेयर की। उन्होंने हमें जानकारी देते हुए बताया कि यह तस्वीर बांग्लदेश की है और इस फोटो में बांग्लादेश की बीआरटीसी बस भी देखी जा सकती है।

अब बारी थी भ्रामक पोस्ट को शेयर करने वाले पेज ‘Divine Shaligram’ की सोशल स्कैनिंग करने की। यूजर को 49,225 लोग फॉलो करते हैं और इस पेज को कर्नाटक से चलाया जाता है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल की तो पाया कि इस तस्वीर का भारत से कोई लेना-देना नहीं है। यह बांग्लादेश की जुमे की नमाज़ की फोटो है।

  • Claim Review : Blocking traffic on a highway in India to perform Friday prayers . This doesn't seem to me as a prayer; it's a demonstration of numbers to intimidate others. Any attempt to ask them to move to designated prayer spaces will be labelled 'discrimination'
  • Claimed By : Divine Shaligram
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later