X

Fact Check: स्कूल-कॉलेज खोलने को लेकर शिक्षा मंत्री ने नहीं दिया ये बयान, भ्रामक पोस्ट हो रही वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: September 11, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। कोरोना संक्रमण के मामलों के बीच सोशल मीडिया पर स्कूल-कॉलेज को फिर से खोलने से जुड़ा एक दावा वायरल हो रहा है। अलग-अलग यूजर अपनी पोस्ट में दावा कर रहे हैं कि शिक्षा मंत्री ने स्कूल और कॉलेज को खोलने को लेकर बयान दिया है। पोस्ट के दावे के मुताबिक, शिक्षा मंत्री ने बयान दिया है कि 21 सितंबर से 9वीं से लेकर 12वीं तक के बच्चों के लिए स्कूल खुल जाएंगे और 15 दिन बाद 8वीं तक के लिए। वायरल पोस्ट में ऐसे ही और भी दावे शिक्षा मंत्री के हवाले से किए जा रहे हैं। विश्वास न्यूज़ को फैक्ट चेकिंग वॉट्सऐप चैटबॉट (+91 95992 99372) पर भी फैक्ट चेक के लिए ये दावा मिला है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक साबित हुआ है। शिक्षा मंत्री की तरफ से ऐसा कोई बयान नहीं आया है। हालांकि, 9वीं से 12वीं तक की क्लास के लिए 21 सितंबर से कुछ बदलाव हुए हैं, लेकिन उनके साथ भी तमाम शर्तें हैं।

क्या हो रहा है वायरल

कोरोना संक्रमण की वजह से भारत में शैक्षणिक गतिविधियों पर तमाम तरह की रोक लगी है। 1 सितंबर से अनलॉक 4 में भी ये रोक काफी हद तक प्रभावी है। इस बीच सोशल मीडिया पर स्कूल-कॉलेज को फिर से खोलने से जुड़ा दावा अलग-अलग यूजर शेयर कर रहे हैं। ये दावा वॉट्सऐप, फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल है। Satesh Chauhan नाम के फेसबुक यूजर ने इसी दावे को एक पब्लिक ग्रुप (69000 प्राथमिक शिक्षक भर्ती (90,97 कट ऑफ समर्थक,)UPTET CTET समूह) में शेयर किया है। इस पोस्ट में लिखा है, ‘ब्रेकिंग न्यूज़ शिक्षा विभाग शिक्षा मंत्री का बयान 21 सितंबर से 9वीं से लेकर 12वीं तक बच्चों के लिए खोल दिए जाएंगे स्कूल 15 दिन के बाद 6th से लेकर आठवीं तक खोल दिए जाएंगे स्कूल उसके बाद 15 दिन बाद पहली से लेकर पांचवी तक के स्कूल खुले जाएशिक्षा मंत्री यूनिवर्सिटी अपने तय करेगी की एग्जाम कैसे लिया जाए अगले हफ्ते शुरू हो सकते हैं कॉलेज में एडमिशन प्रक्रिया 1अक्टूबर से सभी कॉलेजों में क्लास हो जाएगी शुरू।’

यहां वायरल दावे को ज्यों का त्यों लिखा गया है। इस वायरल पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

पड़ताल

हमने सबसे पहले जरूरी कीवर्ड्स (education minister, schools reopen etc) की मदद से इंटरनेट पर वायरल हो रहे दावे के बारे में खोजने की कोशिश की। हमें प्रामाणिक मीडिया हाउस की रिपोर्ट मिलीं। ऐसी ही एक रिपोर्ट हमें इंडियन एक्सप्रेस की मिली। इसमें बताया जा रहा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने फेजवाइज ऐच्छिक तौर पर 9वीं से 12वीं तक के स्कूल को खोलने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) जारी कर दी है। इसमें साफ लिखा है कि कंटेनमेंट जोन में रहने वाले स्टाफ, स्टूडेंट्स को स्कूल जाने की अनुमति नहीं होगी। इस रिपोर्ट को यहां क्लिक कर विस्तार में पढ़ा जा सकता है।

हमें स्वास्थ्य मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी ये SOP मिली है। इसे विस्तार से नीचे देखा जा सकता है।

पड़ताल के क्रम में हमें 29 अगस्त को गृह मंत्रालय की तरफ से अनलॉक 4 को लेकर जारी की गई गाइडलाइंस मिली। इसमें साफ लिखा है कि स्टूडेंट्स और रेग्युलर क्लास एक्टिविटी के लिए स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान 30 सितंबर तक बंद रहेंगे। हालांकि, कुछ को स्वास्थ्य मंत्रालय की SOP के अंतर्गत छूट का भी जिक्र है। इसे विस्तार में यहां क्लिक कर देखा जा सकता है।

इस नोटिफिकेशन में, जिन्हें शर्तों के अधीन छूट दी गई, उनमें परिजनों की लिखित अनुमति के बाद 9वीं से 12वीं के स्टूडेंट्स, ऑनलाइन टीचिंग/काउंसलिंग/टेस्ट के लिए 50 फीसदी तक टीचिंग-नॉन टीचिंग स्टाफ को बुलाने जैसी बातें शामिल हैं। इन्हें नीचे शेयर किए गए स्क्रीनशॉट में देखा जा सकता है:

इंटरनेट पर सर्च के दौरान हमें केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ का ऐसा कोई बयान नहीं मिला, जिससे वायरल दावे की पुष्टि करती हो। शिक्षा मंत्री का ऐसा कोई बयान नहीं है, जिसमें कहा गया हो कि एक अक्टूबर से कॉलेजों में एडमिशन शुरू हो जाएंगे या फिर 1 से लेकर 8वीं तक के स्कूल खोले जाएंगे।

अपनी पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए विश्वास न्यूज़ ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री के मीडिया एडवाइजर उमाकांत त्रिपाठी से संपर्क किया। उन्होंने बताया, ‘स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी SOP का पालन करते हुए, सुरक्षा के सभी मापदंडों को अपनाते हुए क्लास 9वीं से 12वीं के बच्चे सिर्फ अपने अध्यापकों से सलाह-मशविरा लेने जा सकते हैं। इसके लिए भी अभिभावकों की लिखित अनुमति की जरूरत होगी। आने वाले समय में स्थितियों को देखा जाएगा और फिर आगे का फैसला लिया जाएगा।’

विश्वास न्यूज़ की अबतक की पड़ताल में यह साबित हो चुका था कि स्कूलों की बात करें तो 21 सितंबर से खास परिस्थितियों में 9वीं से 12वीं तक के स्कूलों के लिए ही SOP आई है। बाकी 1 से लेकर 8वीं तक के स्कूलों को लेकर कोई निर्देश नहीं आया है। जहां तक कॉलेजों की बात है तो गृह मंत्रालय अनलॉक 4 की गाइडलाइंस में साफ बता चुका है कि 30 सितंबर तक ये भी बंद रहेंगे। हायर एजुकेशन में कुछ खास शैक्षणिक संस्थानों को शर्तों के अधीन खोलने की अनुमति दी गई, लेकिन इसे भी कोविड प्रोटोकॉल के हिसाब से ही तय होना है। 30 सितंबर के बाद क्या होना है, अभी इसको लेकर तो शिक्षा मंत्रालय की तरफ से कोई बयान/नोटिफिकेशन आया है और न ही गृह मंत्रालय की तरफ से।

विश्वास न्यूज़ ने इस पोस्ट को शेयर करने वाले फेसबुक यूजर Satesh Chauhan की प्रोफाइल को स्कैन किया। यूजर ने अपनी प्रोफाइल को लॉक कर रखा है।

निष्कर्ष: शिक्षा मंत्री ने स्कूलों और कॉलेजों को फिर से खोलने को लेकर कोई नया बयान नहीं दिया है। गृहमंत्रालय की अनलॉक 4 की गाइडलाइंस के मुताबिक और इसके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी SOP के मुताबिक शर्तों के अधीन 21 सितंबर से केवल 9वीं से 12वीं के स्टूडेंट्स को परामर्श के लिए स्कूल जाने की अनुमति होगी। इसके अलावा कुछ खास शैक्षणिक संस्थानों को भी खोलने की अनुमति है। बाकी शैक्षणिक गतिविधियों के लिए सारे स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान 30 सितंबर तक नहीं खुलेंगे।

  • Claim Review : अलग-अलग यूजर अपनी पोस्ट में दावा कर रहे हैं कि शिक्षा मंत्री ने स्कूल और कॉलेज को खोलने को लेकर बयान दिया है।
  • Claimed By : Satesh Chauhan
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later