X

Fact Check: आईपीएल 2020 में कोई चीनी स्पॉन्सर नहीं है, वायरल क्लेम फेक है

  • By Vishvas News
  • Updated: September 21, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल एक पोस्ट में दावा किया गया है कि चीन आईपीएल 2020 को स्पॉन्सर कर रहा है। यह पोस्ट लोगों को देश के हित में आईपीएल नहीं देखने के लिए उकसा रही है। Vishvas News की जांच में यह दावा फर्जी निकला। ड्रीम 11, एक भारतीय कंपनी, आईपीएल 2020 का प्रायोजक है और इस वर्ष कोई चीनी प्रायोजक नहीं है।

क्या हो रहा है वायरल?

एक ट्विटर यूजर ने लिखा, “आईपीएल आज से शुरू हो गया है, आईपीएल प्रायोजक चीन है, देश के हित में अपनी निगाहें रखो और आईपीएल मत देखो।”

इस पोस्ट के आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

हमने इस साल आईपीएल के प्रायोजकों के बारे में जानने के लिए इंटरनेट पर खबरों की खोज की। गलवन घाटी में भारत-चीन के बीच गतिरोध के बाद, चीनी मोबाइल कंपनी वीवो की जगह ड्रीम 11 को आईपीएल 2020 का टाइटल प्रायोजक बना दिया गया था।

दैनिक जागरण के एक लेख के अनुसार, ”भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इस साल की इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) की टाइटल स्पॉन्सरशिप ड्रीम इलेवन (Dream11) को देने की घोषणा की है। इसका मतलब है कि फैंटसी क्रिकेट लीग से जुड़ा प्लेटफॉर्म Dream11 इस साल के IPL का मुख्य प्रायोजक होगा। समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, Dream11 ने 222 करोड़ रुपये में टाइटल स्पॉन्सरशिप हासिल की है। फैंटसी क्रिकेट लीग प्लेटफॉर्म ने टाइटल स्पॉन्सरशिप की दौड़ में टाटा समूह और एजुकेशन से जुड़े प्लेटफॉर्म Byju’s और Unacademy जैसी कंपनियों को पीछे छोड़ा है।”

हमें बिजनेस स्टैंडर्ड द्वारा प्रकाशित एक लेख मिला, जिसमें स्पष्ट किया गया कि ड्रीम 11 कंपनी पूरी तरह से एक भारतीय ब्रांड है। लेख में कंपनी के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है कि ड्रीम 11 लगभग पूरी तरह से भारतीयों के स्वामित्व में है, जिसमें इसके संस्थापक, सभी 400+ भारतीय कर्मचारी और हमारे भारतीय निवेशक जैसे कि कलारी कैपिटल और मल्टीपल्स इक्विटी शामिल हैं। पांच निवेशकों में से एक निवेशक का चीनी मूल है और वो अल्पसंख्यक हिस्सेदारी रखता है।


बिजनेस स्टैंडर्ड द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट

हमने आगे IPL2020 के सह-प्रायोजकों के बारे में जांच की। स्पोर्ट स्टार के लेख के अनुसार, “जहां ड्रीम 11, फोनपे, अमेज़न और बायजू इसके सह-प्रायोजक हैं। वहीँ, पॉलीकैब, यूएसएल, कोका-कोला, आईटीसी फूड्स, मोंडेलेज, कमला पसंद, रमी सर्कल, एएमएफआई, P & G IPL2020 के सहयोगी प्रायोजक हैं। ”

हमने दावे को सत्यापित करने के लिए दैनिक जागरण के खेल संवाददाता अभिषेक त्रिपाठी से बात की। दावों से इनकार करते हुए उन्होंने कहा, “भारत और चीन के बीच सीमा तनाव के कारण वीवो को बाहर कर दिया गया था। आईपीएल 2020 में चीन का कोई प्रायोजक नहीं है। वायरल दावा फर्जी है। ”

फेसबुक उपयोगकर्ता वेदपाल यादव वायरल दावे को साझा करने वाले कई उपयोगकर्ताओं में से एक है। उनके प्रोफाइल की स्कैनिंग से पता चला कि वह उत्तर प्रदेश के खेकरा से हैं और उनके 5,000 फेसबुक फ्रेंड्स हैं।

निष्कर्ष: Vishvas News की जांच में यह दावा फर्जी निकला। ड्रीम 11, एक भारतीय कंपनी, आईपीएल 2020 का प्रायोजक है और इस वर्ष कोई चीनी प्रायोजक नहीं है।

  • Claim Review : भक्तों आज से IPL शुरू हो गया है,, IPL का स्पांसर चाइना है,, देश हित में अपनी आंखें फोड़ लेना लेकिन आईपीएल मत देखना
  • Claimed By : काकावानी फैन @alisohrabfan_
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later