X

Fact Check : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और रामनाथ कोविंद द्वारा एकसाथ पूजा की ये तस्वीर दो साल पुरानी

पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह तस्वीर 2020 में झारखंड के देवघर की है। जब कोविंद एक आधिकारिक दौरे पर थे और द्रौपदी मुर्मू झारखंड की तत्कालीन राज्यपाल थी।

  • By Vishvas News
  • Updated: July 26, 2022

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के साथ यज्ञ कर सत्ता और देश की जिम्मेदारियों को उनके हाथ में सौंप दिया। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह तस्वीर 2020 में झारखंड के देवघर की है। जब कोविंद एक आधिकारिक दौरे पर थे और द्रौपदी मुर्मू झारखंड की तत्कालीन राज्यपाल थी।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर Praveen Gugnani ने वायरल तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, “#विरासत सौंपना या सत्ता हस्तांतरण करना, अपने आप में एक यज्ञ होता है। यज्ञ देवों और महादेव के साक्षित्व में होता है। हस्तांतरण के ये क्षण, इन क्षणों के भाव, अंतर्भाव और वातावरण ही इतिहास लिखते हैं। राष्ट्रपति पद का हस्तांतरण देखिए। राजनैतिक औपचारिकताएं होती रहेंगी, वैदिक प्रतिबद्धता प्रथमतः हो रही है..अब शुभ और लाभ दोनों ही मिलेंगे इस राष्ट्र को।”

पोस्ट का आर्काइव लिंक यहां देखा जा सकता है। 

पड़ताल

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए हमने फोटो को गूगल रिवर्स इमेज के जरिए सर्च किया। इस दौरान हमें वायरल दावे से जुड़ी एक रिपोर्ट Prabhat Khabar की वेबसाइट पर 29 फरवरी 2020 को प्रकाशित मिली। रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, तत्कालीन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद देवघर के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने बाबा बैद्यनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की थी। उनके साथ तत्कालीन राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू भी उपस्थित थीं। जागरण.कॉम सहित कई अन्य वेबसाइट ने भी इस रिपोर्ट को प्रकाशित किया था।

पड़ताल को आगे बढ़ाते हुए हमने गूगल पर संबंधित कीवर्ड्स के जरिए सर्च करना शुरू किया। इस दौरान हमें देवघर के डिप्टी कमिश्नर Shri Manjunath Bhajantri के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर वायरल दावे से जुड़ा एक वीडियो प्राप्त हुआ। वीडियो को 29 फरवरी 2020 को शेयर किया गया था। वीडियो में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को पूजा करते हुए देखा जा सकता है।

अधिक जानकारी के लिए हमने दैनिक जागरण के धनबाद यूनिट के प्रभारी चंदन शर्मा से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल दावा गलत है। यह तस्वीर तकरीबन दो साल पुरानी है। जब पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एक दौरे के लिए देवघर आए थे। उस दौरान द्रौपदी मुर्मू राज्यपाल थी। दोनों ने बाबा बैद्यनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की थी। हमने देवघर के धर्मरक्षिणी सभा के अध्यक्ष डॉ सुरेश भारद्वाज से भी संपर्क किया। उन्होंने भी हमें यही बताया कि वायरल दावा गलत है। यह तस्वीर 29 फरवरी 2020 की है। जब पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने बाबा बैद्यनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की थी।

जांच के आखिरी चरण में हमने पोस्ट शेयर करने वाले यूजर Praveen Gugnani का बैकग्राउंड चेक किया। हमने पाया कि यूजर को फेसबुक पर 14 हजार से ज्यादा लोग फॉलो करते हैं। प्रोफाइल पर दी गई जानकारी के मुताबिक, यूजर मध्य प्रदेश का रहने वाला है।

निष्कर्ष: पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर किया जा रहा दावा गलत है। विश्वास न्यूज ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह तस्वीर 2020 में झारखंड के देवघर की है। जब कोविंद एक आधिकारिक दौरे पर थे और द्रौपदी मुर्मू झारखंड की तत्कालीन राज्यपाल थी।

  • Claim Review : पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वर्तमान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के साथ यज्ञ कर सत्ता और देश की जिम्मेदारियों को उनके हाथ में सौंप दिया।
  • Claimed By : Praveen Gugnani
  • Fact Check : झूठ
झूठ
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later