X

Fact Check: यह रॉकेट दुर्घटना का वीडियो रूस का है, भारत का नहीं

  • By Vishvas News
  • Updated: July 22, 2020

विश्वास न्यूज़,नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रही है, जिसमें एक राकेट को लॉन्च के कुछ ही सेकंड के अंदर हवा में विस्फोट होते देखा जा सकता है। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल किया जा रहा है कि यह वीडियो एक भारतीय मिसाइल के विफल परीक्षण का है। यह पोस्ट भारत पर कटाक्ष करते हुए वायरल किया जा रहा है। विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि इस घटना का भारत से कोई संबंध नहीं है। यह एक रूसी रॉकेट था, जो 2013 में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।

क्या हो रहा है वायरल?

सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में लॉन्च के कुछ सेकंड के भीतर ही एक रॉकेट को विस्फोट होते देखा जा सकता है। सोशल मीडिया पर इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि यह भारतीय मिसाइल के विफल परीक्षण का वीडियो है। पोस्ट के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है, “Indian missile test is failed. Can this type of Army fight against Nepal?” जिसका हिंदी अनुवाद होता है-  “भारतीय मिसाइल परीक्षण विफल। क्या इस प्रकार की सेना नेपाल के खिलाफ लड़ सकती है?”

इस पोस्ट के आर्काइव लिंक को यहां देखा जा सकता है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज़ ने इस पोस्ट की पड़ताल करने के लिए इस वीडियो को InVID टूल पर डाला और इस वीडियो के की-फ्रेम्स निकाले। अब हमने इन की-फ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें rferl.org पर 2 जुलाई 2013 को अपलोडेड यह वीडियो मिला। वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा था, “A Russian Proton-M rocket carrying three satellites exploded on July 2 shortly after liftoff from the Russian-leased Baikonur launch facility in Kazakhstan. There were no reported injuries. The rocket was unmanned.” जिसका हिंदी अनुवाद होता है, “तीन उपग्रहों को ले जा रहा एक रूसी प्रोटॉन-एम रॉकेट कजाकिस्तान में रूसी-पट्टे बैंकोवुर लॉन्च सुविधा से लिफ्टऑफ करने के तुरंत बाद 2 जुलाई को विस्फोट हो गया। किसी क्षति की कोई ख़बर नहीं है। रॉकेट मानव रहित था।”

हमें यह वीडियो “यूरोन्यूज़” के यूट्यूब चैनल पर भी मिला। डिस्क्रिप्शन के अनुसार, यह एक मानव रहित रूसी प्रोटॉन-एम रॉकेट था जो जुलाई 2013 में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस खबर के अनुसार, यह रॉकेट तीन नेविगेशन सैटेलाइट ले जा रहा था और इसे कज़ाकिस्तान में रूसी-पट्टे बैंकोवुर लॉन्च सुविधा से लॉन्च किया गया था।

इस ममले में रूस की अंतरिक्ष एजेंसी रोस्कोसमोस ने भी एक स्टेटमेंट जारी की थी जिसमें कहा गया था, “दुर्घटना रॉकेट के इंजन को बंद करने के कारण हुई थी। दुर्घटना के कारण अनुमानित नुकसान लगभग 154 मिलियन यूरो था। हालांकि, किसी के घायल होने की सूचना नहीं थी।”

इस विषय में ज़्यादा पुष्टि के लिए हमने ISRO से संपर्क किया। कम्युनिकेशन इंचार्ज राजन ने हमें बताया कि इस वीडियो का भारत से कोई लेना-देना नहीं है।

इस पोस्ट को Irmak Idoya इरमक ईड्या 🇳🇵‏ नाम के एक ट्विटर यूजर ने शेयर किया था। इस यूजर के 9,325 फॉलोअर्स हैं। प्रोफाइल के अनुसार, यूजर नेपाल का नागरिक है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later