X

Fact Check: क्या वैक्स-कोटेड सेब खाने से मौत हो सकती है? भ्रामक वीडियो हो रहा वायरल

वायरल पोस्ट का यह दावा भ्रामक है कि वैक्स-कोटेड सेब को खाने से जान जा सकती है।

  • By Vishvas News
  • Updated: January 7, 2020

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में दावा किया जा रहा है कि वैक्स-कोटेड सेब खाने से मौत हो सकती है। इसमें दावा किया गया है कि सेब पर वैक्स की कोटिंग करना उसे सेहत के लिए नुकसानदायक बनाती है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह वायरल पोस्ट भ्रामक पाई गई है। 

क्या है वायरल पोस्ट में

सोशल मीडिया यूजर Dikshita Mahanta ने इस वायरल वीडियो को शेयर किया है। इसके साथ अंग्रेजी में लिखे गए कैप्शन के मुताबिक, ‘ऐसा कहते हैं कि एक सेब रोज आपको डॉक्टर से दूर रखता है। लेकिन मुझे लगता है कि अपनी नुकसानदायक वैक्स कोटिंग की वजह से एक अकेला सेब आपको मारने के लिए काफी है। आज जब मेरी बहन इस सेब को काटने वाली थी तो मैंने इसका अनुभव किया। आप लोग अपना ख्याल रखें, आपकी सुरक्षा अब आपके ही हाथों में है।’ इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है। 

पड़ताल

इस वीडियो क्लिप में दिख रहा है कि कोई सेब पर पतली सफेद परत को खुरच रहा है। कैप्शन में बताया गया है कि जो सफेद परत निकल रही है वो वैक्स है और ये सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकती है। 

विश्वास न्यूज को अपनी पड़ताल के दौरान अमेरिका के फूड एंड एग्रिकल्चरल ऑर्गनाइजेशन की एक रिपोर्ट मिली। रिपोर्ट के मुताबिक कुछ ताजे फलों को वैक्स या दूसरे फूड एडिटिव्स से कोट किया जाता है। यह एक तरह की रक्षात्मक कोटिंग होती है जो फल की क्वालिटी और ताजगी को बचाए रखने में मदद करती है। 

नीचे इस रेगुलेशन का स्क्रीनशॉट देखा जा सकता है जो ये बताता है कि कोटिंग का इस्तेमाल फल की ताजगी और गुणवत्ता को बचाए रखने के लिए हो सकता है। 


फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) के फूड एडिटिव्स रेगुलेशन के मुताबिक नीचे फूड ग्रेड वैक्स दिए गए हैं। FSSAI ने इन्हें अप्रूव कर रखा है: 


हॉन्गकॉन्ग सरकार के स्पेशल एडमिनिस्ट्रेटिव रीजन के सेंटर फॉर फूड सेफ्टी के मुताबिक फूड-ग्रेड वैक्स से कोटेड फल सामान्यतया सुरक्षित होते हैं। फलों को हमेशा विश्वसनीय दुकान से खरीदें। छीलने, काटने और खाने से पहले फल को नल के पानी की धार में अच्छे से धोएं। 


इस रिपोर्ट में आगे बताया गयाहै कि ये वैक्स फूड अडिटिव्स ही हैं। इनकी परख फूड एडिटिव्स पर जॉइंट FAO/WHO एक्सपर्ट कमेटी ने किया है। यह एक अंतरराष्ट्रीय फूड सेफ्टी अथॉरिटी है। इसने माना है कि फलों में इनका इस्तेमाल सेफ्टी के लिए चिंता की बात नहीं है। 


न्यू दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के असिस्टेंट डायरेक्टर डॉ. नीरज कांत के मुताबिक, अगर फूड-ग्रेड वैक्स का इस्तेमाल फलों की कोटिंग के लिए हुआ है तो ऐसे फलों को खाने में कोई नुकसान नहीं है। 

विश्वास न्यूज ने मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर के फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के जॉइंट डायरेक्टर (स्टैंडर्ड) डॉ. एसी मिश्रा से भी बात की। उन्होंने बताया, ‘कुछ निश्चित प्रकार के फूड-ग्रेड वैक्स को FSSAI से अनुमोदित किया गया है। इनका इस्तेमाल फलों की कोटिंग के लिए होता है। ऐसे वैक्स से कोट किए गए फलों के सेवन से कोई नुकसान नहीं होता।

निष्कर्ष: वायरल पोस्ट का यह दावा भ्रामक है कि वैक्स-कोटेड सेब को खाने से जान जा सकती है।

  • Claim Review : वैक्स-कोटेड सेब खाने से मौत हो सकती है
  • Claimed By : FB user: Dikshita Mahanta
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

अपनी प्रतिक्रिया दें

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later