X

Fact Check: नमक से ढक जिंदा नहीं किया जा सकता डूबा हुआ शख्स, पोस्ट का दावा फर्जी

  • By Vishvas News
  • Updated: August 27, 2019

नई दिल्ली (विश्वास टीम) सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है। इसमें एक लड़के को नमक से ढका दिखाया जा रहा है। पोस्ट का दावा है कि किसी डूबे शख्स को अगर 3-4 घंटे में ढूंढ लिया जाए और उसके शरीर को नमक से ढक दिया जाए तो उसे जिंदा किया जा सकता है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा फर्जी साबित हुआ है।

क्या है वायरल पोस्ट में

इस पोस्ट में एक लड़के की तस्वीर है जिसे नमक से ढका दिखाया जा रहा है। इस पोस्ट में दावा किया गया है- ‘अगर, कभी कोई पानी में डूब के मर जाए और उसका शरीर 3 से 4 घंटे में मिल जाए तो उसकी जिंदगी वापस ला सकता हूं। अगर कभी किसी को ऐसी दुर्घटना दिखे या सुनाई दे तो तुरंत किसी की जान बच सकती है। डेढ़ क्विंटल डले वाले खड़े नमक को बिस्तर जैसा बिछाकर मरीज को उस पर कपड़े कम करके लेटा दें। नमक धीरे-धीरे शरीर से पानी सोख लेगा। मरीज के होश आने पर अस्पताल ले जाएं। इससे पहले आप अस्पताल ले गए हों और डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया तो आप नमक वाला उपचार करें प्रभु कृपा से खुशी की लहर फैल जाएगी।’

इस पोस्ट को Manoj Sawaliya नाम के फेसबुक यूजर पर शेयर किया गया है।

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने इस फेसबुक पोस्ट पर आए कमेंट्स को देखा। कई यूजर्स ने कमेंट में लिखा है कि यह पोस्ट फर्जी है और इस तरह का कोई इलाज उपलब्ध नहीं है।

विश्वास न्यूज ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद, जयपुर के डॉक्टर हरीश भाकुनी से भी संपर्क किया। उन्होंने बताया, ‘नमक नेचुरल प्रिजर्वेटिव है, लेकिन जब कोई शख्स डूबता है तो पानी उसके फेफड़ों में चला जाता है। ऐसे हो सकता है कि वह नहीं बच पाए। एक बार जब व्यक्ति की मौत हो जाती है, तो उसे नमक तकनीक का इस्तेमाल कर जिंदा नहीं किया जा सकता। यह पूरी तरह से फर्जी है। अगर व्यक्ति के अंदर चेतना है तो उसे सीपीआर दिया जा सकता है, लेकिन डूबने के 3-4 घंटे बाद भी जीवित रहना संभव नहीं है।’

हमने ऑनलाइन इस तरह की खबर भी तलाशी कि कहीं कोई शख्स डूबने के बाद नमक इलाज से बचा है या नहीं। हमें ऐसी रिपोर्ट मिली, जिसमें डूबे हुए शख्स के परिजनों ने इस तरह के अंधविश्वास पर भरोसा किया, लेकिन मृतक को जिंदा नहीं कर पाए।

31 अगस्त 2018 को एक न्यूज वेबसाइट ने ऐसी ही एक घटना पर खबर प्रकाशित की। इसके मुताबिक, एक परिवार ने नमक इलाज करने की कोशिश की, लेकिन इसका कोई परिणाम नहीं निकला।

निष्कर्ष

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा फर्जी निकला है कि डूबने के 3-4 घंटे के बाद नमक की मदद से किसी को जिंदा किया जा सकता है।

पूरा सच जानें…

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

  • Claim Review : नमक से ढक जिंदा किया जा सकता डूबा हुआ शख्स
  • Claimed By : FB User: Manoj Sawaliya
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ
कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later