X

Fact Check: संतरे के जूस में टार्टर क्रीम को मिलाकर लेने से स्मोकिंग छोड़ने में नहीं मिलती है मदद

विश्वास न्यूज (नई दिल्ली)। फेसबुक पर एक पोस्ट वायरल हो रही है। इसमें दावा किया जा रहा है कि संतरे के जूस और टार्टर क्रीम का मिक्सचर आपके शरीर से निकोटिन को बाहर निकाल कर सिगरेट छोड़ने में आपकी मदद करेगा। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह वायरल दावा झूठा निकला है।

क्या है वायरल पोस्ट में

Tim Altmix नाम के एक यूजर ने फेसबुक पर इस पोस्ट को शेयर किया है। अंग्रेजी में किए गए इस पोस्ट में लिखा है, ‘क्या आप स्मोक करते हैं और इसे छोड़ना चाहते हैं? क्या आप किसी ऐसे स्मोकर को जानते हैं जो इसे छोड़ना चाहता है? इसे आजमाएं: अपनी पसंदीदा ग्रॉसरी स्टोर पर जाएं और टार्टर क्रीम सीजनिंग व एक गैलन संतरा जूस खरीदें। एक गिलास में एक चम्मच मिलाएं और दिन में 2 बार पिएं। मेरा सुझाव यह है कि एक गिलास सुबह उठते ही और दूसरा ग्लास आधा दिन बीतने पर। मुझे पता है कि यह काफी आसान लग रहा है, लेकिन यह वास्तव में काम करता है। टार्टर क्रीम आपके सिस्टम से निकोटिन को निकालती है और इसे फिर से लेने से ब्लॉक भी करती है। करीब दो दिनों के बाद स्मोकिंग का टेस्ट टॉयलेट के गंदे पानी की तरह लगने लगता है। आपकी निकोटिन की तलब खत्म हो चुकी होती है। मुझे उम्मीद है कि हर कोई इसे शेयर करेगा, कई लोग स्मोकिंग छोड़ने के लिए संघर्ष कर रहे हैं और उनके पास इतना पैसा नहीं है कि वो उसकी मदद से ऐसा कर सकें।’

पड़ताल

विश्वास न्यूज ने इस वायरल क्लेम को इंटरनेट पर सर्च कर अपनी पड़ताल शुरू की। एक लाइफस्टाइल और एंटरटेनमेंट वेबसाइट Shareably पर हमें मई 2018 का एक आर्टिकल मिला।

ऐसा कोई वैज्ञानिक सबूत नहीं है जो इस बात की पुष्टि करता हो कि टार्टर क्रीम और संतरे का जूस पीने से शरीर से निकोटीन निकल जाती है। साथ ही, इससे स्मोकिंग छोड़ने में मदद मिलती है। Shareably पर मौजूद इस आर्टिकल में वेबसाइट Providr को इस जानकारी का प्राथमिक स्रोत बताया गया है। हालांकि, Snopes वेबसाइट ने Providr को लेकर फ्रॉड फेसबुक प्रैक्टिस का खुलासा किया था और इसे क्लिक-बेट वेबसाइट के रूप में चिह्नित किया था।

Providr पर मौजूद आर्टिकल को भी हटा दिया गया है। WayBack Machine से निकाले गए इसके आर्काइव वर्शन को यहां देखा जा सकता है।

Shareably पर मौजूद आर्टिकल में यह भी कहा गया है: ‘टार्टर क्रीम को रासायनिक तौर पर पोटैशियम हाइड्रोजन टार्ट्रेट के रूप में जाना जाता है। लो पोटैशियम स्मोकिंग से होने से वाले सारी हेल्थ समस्याओं से जुड़ा है। इसीलिए स्मोकिंग छोड़ते समय इसका इस्तेमाल प्रभावी है। यह आपके सिस्टम में पोटैशियम को वापस लाता है और आपकी एड्रेनल ग्रंथियों को शरीर के साथ मिलकर काम करने में मदद करता है।’

हमने इस दावे को ऑनलाइन और सर्च किया। हमें यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की वेबसाइट पर एक रिपोर्ट मिली। इसमें कहा गया है: ‘पोटैशियम केमिकलों के रासायनिक महत्व के बावजूद,  इस बात का कोई वैज्ञानिक आधार मौजूद नहीं है कि ये आपके शरीर से निकोटिन निकालने या स्मोकिंग छोड़ने में मदद कर सकता है।’

यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, ज्यादा मात्रा में टार्टर क्रीम का सेवन स्वास्थ्य पर बुरा असर भी डाल सकता है। इसके मुताबिक, टार्टर क्रीम का इस्तेमाल करने वाले लोगों में से कुछ केस जानलेवा ‘हाइपरक्लेमिया’ (पोटैशियम लेवल का काफी बढ़ जाना) के भी रिपोर्ट हुए।

किसी भी विश्वसनीय स्रोत पर ऐसी कोई रिपोर्ट पब्लिश नहीं हुई है जो टार्टर क्रीम को लेकर इस दावे की पुष्टि करती हो।

विश्वास न्यूज ने इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल के क्रिटिकल केयर एंड स्लीप मेडिसिन के डिपार्टमेंट ऑफ रेस्पिरेट्री  के पल्मोनोलॉजिस्ट डॉक्टर निखिल मोदी से बात की। उनके मुताबिक, ‘ऐसा कोई वैज्ञानिक सबूत नहीं है जो यह बताता हो कि टार्टर क्रीम को संतरे के जूस के साथ मिलाकर लेने से स्मोकिंग कम की जा सकती है या किसी शख्स के निकोटिन की निर्भरता को खत्म किया जा सकता है।’

विश्वास न्यूज ने उनसे यह भी पूछा कि क्या पोटैशियम की मात्रा बढ़ाने से स्मोकिंग की लत कम हो सकती है। उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि हमारे खून में मौजूद पोटैशियम एक अच्छा इलेक्ट्रोलाइट है, लेकिन ज्यादा पोटैशियम शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकता है।’

निष्कर्ष

इस दावे का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है कि टार्टर क्रीम शरीर से निकोटीन निकालने या स्मोकिंग छोड़ने में मदद कर सकती है। डॉक्टर भी इस दावे को गलत बता रहे हैं। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा फर्जी निकला है।

  • Claim Review : संतरे के जूस में टार्टर क्रीम को मिलाकर लेने से स्मोकिंग छोड़ने में मिलती है मदद
  • Claimed By : FB User: Tim Altmix
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later