पूरा सच : राहुल गांधी ने पत्रकार को नहीं दिया था धक्‍का, मदद के लिए हाथ बढ़ाया था

0

नई दिल्‍ली(विश्‍वास टीम)। ”राफेल के सवाल पर इस पत्रकार को राहुल गांधी ने धक्का दे दिया !!” कुछ ऐसा मैसेज फेसबुक, ट्विटर के अलावा WhatsApp पर भी वायरल किया जा रहा है। मैसेज के साथ एक तस्‍वीर भी है। इसमें एक गिरते हुए फोटोग्राफर को राहुल गांधी देख रहे हैं। विश्‍वास टीम की पड़ताल में यह मैसेज फेक साबित हुआ। सच्‍चाई यह है कि 25 जनवरी को राहुल गांधी जब भुवनेश्‍वर एयरपोर्ट पर पहुंचे तो उनकी तस्‍वीर लेते वक्‍त एक फोटोग्राफर नीचे गिर गया था। इसकी मदद के लिए राहुल गांधी सामने आए थे।

क्‍या है वायरल पोस्‍ट में?

पिंकू शुक्‍ला (@shuklapinku) नाम के यूजर्स ने राहुल गांधी की एक तस्‍वीर के साथ ”राफेल के सवाल पर इस पत्रकार को राहुल गांधी ने धक्का दे दिया !!” लिखकर ट्वीट किया। 25 जनवरी को रात 11:37 बजे किए गए इस ट्वीट को अब तक 162 लोगों ने रीट्वीट किया है।

ट्विटर के अलावा यही पोस्‍ट फेसबुक पर भी देखने को मिली। बाबा प्रवीण त्रिपाठी बाबा नाम के फेसबुक अकाउंट पर 26 जनवरी को दोपहर एक बजे के करीब पोस्‍ट की गई राहुल गांधी की तस्‍वीर के साथ पत्रकार को धक्‍का देने की बात लिखी गई है।

फेसबुक पर वायरल फर्जी पोस्‍ट

पड़ताल

सबसे पहले हमने वायरल मैसेज के साथ यूज की जा रही तस्‍वीर को क्रॉप करके गूगल रिवर्स इमेज किया। यहां हमें कई खबरों का लिंक मिला। गूगल पर मौजूद खबरों के मुताबिक, भुवनेश्‍वर एयरपोर्ट पर जब एक फोटोग्राफर राहुल गांधी की तस्‍वीर ले रहा था, तो उसी वक्‍त उसका बैलेंस बिगड़ गया और वह नीचे गिर गया। खबर के अनुसार, फोटोग्राफर को गिरता देखकर राहुल गांधी उसे बचाने के लिए दौड़े।

गूगल पर मौजूद खबरों का प्रिंटशॉट

शुरुआती जांच में पता चला कि असली तस्‍वीर के साथ झूठा मैसेज फैलाया जा रहा है। इसके बाद हमने पूरी घटना का वीडियो सर्च किया। InVID टूल में हमने Rahul Gandhi Bhubeneshwar की वर्ड डालने के साथ @ANI लिखा। गूगल पर मौजूद खबरों के अनुसार, घटना 25 जनवरी की थी। इसलिए हमने 24 जनवरी से लेकर 25 जनवरी तक के बीच की डेट सेलेक्‍ट की।

InVid की मदद से खोजा गया है घटना का असली वीडियो।

InVID टूल की मदद से हमने ANI का एक ट्वीट मिला। 24 जनवरी को किए गए ट्वीट में एक वीडियो है। इसमें साफतौर पर दिख रहा है कि जैसे ही फोटोग्राफर नीचे गिरता है, राहुल गांधी उसे उठाने के लिए आगे बढ़ते हैं।

अंत में हमने फर्जी ट्वीट फैलाने वाले पिंकू शुक्‍ला की https://foller.me टूल से सोशल स्‍कैनिंग की। ट्विटर पर @shulapinku के नाम से मौजूद इस अकाउंट को 75.7 हजार से ज्‍यादा लोग फॉलो करते हैं। यह ट्विटर अकाउंट फरवरी 2012 में बनाया गया था। इस अकाउंट से अब तक पांच लाख से ज्‍यादा ट्वीट किए जा चुके हैं। एक खास विचारधारा के समर्थक इस अकाउंट के निशाने पर अक्‍सर विपक्ष के नेता रहते हैं।

फर्जी मैसेज फैलाने वाले पिंकू शुक्‍ला के अकाउंट का प्रिंटशॉट

निष्‍कर्ष : विश्‍वास टीम की पड़ताल में असली तस्‍वीर के साथ फर्जी मैसेज वायरल किया जा रहा है। राफेल के सवाल पर राहुल गांधी ने किसी पत्रकार को धक्‍का नहीं दिया था। सच्‍चाई यह है कि भुवनेश्‍वर एयरपोर्ट पर बैलेंस बिगड़ने से एक फोटोग्राफर नीचे गिर गया था। राहुल गांधी उसकी मदद के लिए आगे आए थे।

पूरा सच जानें… सब को बताएं

सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

Written BY Ashish Maharishi
  • Claim Review : राफेल के सवाल पर पत्रकारा को राहुल गांधी ने दिया धक्‍का!!
  • Claimed By : Pinku Shukla Social Media
  • Fact Check : False

टैग्स

संबंधित लेख