X

Fact Check: 2017 में रिलायंस फाउंडेशन को मिले खेल प्रोत्साहन अवॉर्ड की तस्वीर को किया जा रहा गलत दावे के साथ वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: February 3, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)- सोशल मीडिया पर नीता अंबानी की राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ अवॉर्ड लेते हुए एक तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर के साथ दावा किया जा रहा है कि नीता अंबानी को खेल रत्न अवॉर्ड से नवाज़ा गया है। विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में वायरल दावा फ़र्ज़ी साबित हुआ। रामनाथ कोविंद के साथ नीता अंबानी की यह तस्वीर साल 2017 की है, जब रिलायंस फाउंडेशन को खेल प्रोत्साहन अवॉर्ड मिला था, जिसे नीता अंबानी ने रिसीव किया था। अब इसी तस्वीर को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल पोस्ट में ?

फेसबुक यूजर Mohan Lal Yadav ने नीता अंबानी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की एक तस्वीर को अपलोड करते लिखा, ‘नीता अंबानी कौन सा खेल खेलती है। नीता अंबानी को खेल रत्न पुरस्कार”

पोस्ट के आर्काइव वर्जन को यहाँ देखें।

पड़ताल

पोस्ट की पड़ताल के लिए हमने सबसे पहले वायरल की जा रही तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज के ज़रिये सर्च किया। सर्च में हमारे हाथ 29 अगस्त 2017 को अपलोड हुई एक खबर लगी, जिसमें हमें वायरल तस्वीर नज़र आई। खबर में दी गयी तफ्सील के मुताबिक, ”रिलायंस फाउंडेशन को मंगलवार को नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रीय खेल पुरस्कार समारोह के दौरान खेलों को बढ़ावा देने में योगदान के लिए राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया गया। फाउंडेशन की चेयरपर्सन नीता अंबानी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से पुरस्कार ग्रहण किया। पूरी खबर यहाँ पढ़ी जा सकती है।

विश्वास न्यूज़ से बात करते हुए रिलायंस फाउंडेशन के पीआरओ ने बताया की वायरल की जा रही पोस्ट गलत है।

रिलायंस फाउंडेशन की तरफ से 29 अगस्त 2017 की किया गया एक ट्वीट मिला, जिसमें वायरल तस्वीर नज़र आई। ट्वीट में लिखा है, रिलायंस फाउंडेशन को मिले खेल प्रोत्साहन पुरस्कार को लेते हुए नीता अंबानी।

अधिक जानकारी के लिए विश्वास न्यूज़ ने हमारे साथी दैनिक जागरण के स्पोर्ट्स एडिटर अभिषेक त्रिपाठी से संपर्क किया और उन्हें वायरल किये जा रहे दावे से जुडी जानकारी दी। उन्होंने हमें बताया कि राष्ट्रपति भवन में नीता अंबानी को यह खेल प्रोत्साहन पुरस्कार जब मिला तो मैं उस समारोह में शामिल था। उन्हें ये पुरस्कार खेल को बढ़ावा देने के लिए मिला था। उन्होंने कहा कि खेल प्रोत्साहन अवॉर्ड उन लोगों को मिलता है, जो खेल को बढ़ावा देते हैं, जबकि राजीव गाँधी खेल रत्न पुरस्कार खिलाडियों को दिया जाता है, जो देश-दुनिया में नाम कमाते हैं।

खेल मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट और ट्विटर हैंडल पर हमें इस साल 2021 के खेल रत्न पुरस्कार जीतने वालों से जुडी कोई अपडेट नहीं मिली।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ की पड़ताल में हमने पाया कि नीता अंबानी की जिस तस्वीर को वायरल किया जा रहा है वह 2017 की खेल प्रोत्साहन पुरस्कार लेने की है। वायरल किया जा रहा दावा फ़र्ज़ी है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later