X

Fact Check: कोलकाता में 2019 में हुई रैली की तस्वीर को हाल में हुई लेफ्ट कार्यकर्ताओं की रैली का बताकर किया जा रहा है वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: March 1, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज़)। सोशल मीडिया पर एक भीड़ की तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह 28 फरवरी 2021 को पश्चिम बंगाल के ब्रिगेड मैदान में हुई रैली से है, जहां लोग सत्तारूढ़ पार्टी के प्रति अपना गुस्सा व्यक्त करने के लिए एकत्र हुए हैं।

Vishvas News की जांच में दावा भ्रामक निकला। लेफ्ट फ्रंट रैली की दो साल पुरानी तस्वीर को 28 फरवरी 2021 को हुई रैली का बता कर वायरल किया जा रहा है।

क्या हो रहा है वायरल

इस पोस्ट को कांग्रेस के राष्ट्रीय संयोजक सरल पटेल समेत कई लोगों ने शेयर किया। इनके आर्काइव लिक यहाँ यहाँ और यहाँ देखे जा सकते हैं।

पड़ताल

हिंदुस्तान टाइम्स की एक खबर के अनुसार वामपंथी-कांग्रेस-आईएसएफ गठबंधन ने रविवार 28 फरवरी 2021 को कोलकाता के प्रसिद्ध ब्रिगेड परेड ग्राउंड में मेगा रैली के साथ 2021 पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए अपने अभियान को शुरू किया।

हमने वायरल पोस्ट को ठीक से देखा तो पाया कि वायरल की जा रही दोनों तस्वीरें एक ही हैं। बस दूसरी तस्वीर में अलग फ़िल्टर लगा दिया गया है।

हमने Google रिवर्स इमेज सर्च टूल का उपयोग करके तस्वीर के स्रोत की खोज की। हमें यह तस्वीर indiacontent.in नाम की वेबसाइट पर मिली। इसके साथ कैप्शन में लिखा था,(अनुवादित) “वामपंथी दलों के कार्यकर्ता 3 फरवरी 2019 को कोलकाता के ब्रिगेड परेड मैदान में एक वाम मोर्चा की रैली में भाग लेते हुए। फोटो: आईएएनएस।”

हमें यही तस्वीर इसी डिस्क्रिप्शन के साथ फरवरी 2019 में peoplesdemocracy.in में पब्लिश की गयी एक खबर में भी मिली।

इस वायरल दावे के संबंध में हमने हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के कोलकाता ब्यूरो प्रमुख जेके वाजपेयी से संपर्क किया। उन्होंने कहा “यह तस्वीर 2019 की रैली की है।” उन्होंने हमारे साथ हाल में हुई रैली की असली तस्वीर भी शेयर की।

Original Image

विश्वास न्यूज ने इस वायरल दावे को शेयर करने वाले यूजर के प्रोफाइल को स्कैन किया। हमने पाया कि यूजर के 932 फॉलोअर्स हैं और वे कोलकाता से है।

निष्कर्ष: वायरल पोस्ट भ्रामक है। कोलकाता में लेफ्ट फ्रंट रैली की दो वर्ष पुराणी तस्वीर को 28 फरवरी 2021 को हुई रैली का बता कर शेयर किया जा रहा है।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later