X

Fact Check: तलवार लेकर बिजली विभाग में हंगामा करते दिख रहे व्यक्ति का वायरल वीडियो जयपुर का नहीं जोधपुर की पुरानी घटना का है

  • By Vishvas News
  • Updated: October 15, 2020

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में एक व्यक्ति को हाथ में तलवार लिए हुए किसी दफ्तर के बाहर हंगामा करते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि यह घटना राजस्थान के जयपुर के बिजली विभाग के दफ्तर का है, जहां बिजली का बिल अधिक आने पर एक व्यक्ति तलवार लेकर बिजली विभाग के दफ्तर पहुंच गया।

विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह दावा भ्रामक निकला। सोशल मीडिया पर जयपुर के नाम से वायरल हो रहा यह वीडियो राजस्थान के जोधपुर जिले की पुरानी घटना का है।

क्या है वायरल वीडियो में?

सोशल मीडिया यूजर ‘Tanmay Modh’ ने वायरल वीडियो (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”बिजली का बिल जादा आने पर हाकिम मुल्ला तलवार लेके पहुचे बिजली विभाग यह जयपुर का सीन है ओर राजस्थान कांग्रेस की सरकार है।”

कई अन्य सोशल मीडिया यूजर ने इस वीडियो को राजस्थान के जयपुर का मानते हुए समान दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल हो रहा वीडियो एक मिनट 50 सेकेंड का है। 0.28 सेकेंड के फ्रेम में हमें दरवाजे के ऊपर ‘कनिष्ठ अभियंता कबीर नगर (94140 58961)’ लिखा नजर आया।

वायरल हो रहे वीडियो का स्क्रीन शॉट

इस नंबर पर कॉल किए जाने पर हमारी बात कबीरनगर स्थित बिजली वितरण विभाग की कनिष्ठ अभियंता आरती सिंह से हुई। सिंह ने बताया, ‘यह घटना 2018 के फरवरी महीने की है और जिस वक्त (सुबह करीब 11 बजे के आस-पास) यह सब हुआ वह ऑफिस में ही थीं। जो व्यक्ति हाथ में तलवार लहरा रहा था, उसका बिजली बिल ज्यादा आया हुआ था और उसे लग रहा था ऐसा बिजली विभाग की गलती की वजह से हुआ है।’ सिंह ने बताया, ‘वह जोधपुर के कबीरनगर में जेईएन (जूनियर इंजीनियर यानी कनिष्ठ अभियंता) के पद पर कार्यरत हैं और इसी दफ्तर में यह घटना हुई थी।’

इसके बाद हमने ”कबीर नगर बिजली तलवार” की-वर्ड से न्यूज सर्च किया। सर्च में हमें कई ऐसे न्यूज आर्टिकल मिले, जिसमें इस घटना की जानकारी है।

‘दैनिक भास्कर’ में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, ‘डिस्कॉम शहर वृत्त के कबीर नगर इलाके में कच्ची बस्ती ज्यादा होने के कारण बिजली चोरी 18 से 20 फीसदी तक है। यहां जेईएन लगने के बाद आरती सिंह ने लगातार बिजली चोरी के मामले पकड़े हैं और अवैध कनेक्शन नियमित करने के लिए अभियान चलाया है। इससे पहले उन्होंने बीकानेर शहर के चौकिना क्षेत्र में बिजली चोरी 40% से घटाकर 30% तक की थी। वहां चोरी में लिप्त स्टाफ को सस्पेंड भी करवाया था। आरती सिंह ने बताया कि गत 30 अक्टूबर को चैकिंग के दौरान उन्होंने अब्दुल हकीम के यहां बिजली चोरी पकड़ी थी। इसकी वीसीआर भरकर 9 हजार 992 रुपए जमा करवाने के लिए नोटिस भेजा, लेकिन उसने जवाब नहीं दिया। डिस्कॉम की टीम कनेक्शन काटने के लिए गई तो उसे भी डरा-धमका कर भगा दिया। इस पर यह राशि उसके जनवरी के बिल में जोड़कर भेजी। इस पर वह तीन दिन पहले ऑफिस आया और वीसीआर की राशि हटाने की जिद करने लगा। तब उसे कहा था- चोरी की है तो इसके पैसे भरने पड़ेंगे, यह राशि बिल से नहीं हटेगी। इसके बाद वह शुक्रवार सुबह तलवार लेकर धमकाने के लिए आ गया। घटना के संबंध में डिस्कॉम के एईएन राकेश शर्मा की ओर से आरोपी के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने, राजकार्य में बाधा पहुंचाने सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज करवाया गया है।’

दैनिक भास्कर में प्रकाशित रिपोर्ट

पत्रिका डॉट कॉम पर 9 फरवरी 2018 को प्रकाशित खबर में इस घटना के बारे में पढ़ा जा सकता है। आरती सिंह ने हमें बताया, ‘उन्हें पता है कि यह वीडियो एक बार फिर से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जबकि यह पुरानी घटना का वीडियो है।’ गौरतलब है कि जब यह घटना हुई थी, तब राजस्थान में कांग्रेस की सरकार नहीं थी।

सोशल मीडिया सर्च में हमें कई यूजर्स की प्रोफाइल पर यह वीडियो मिला, जिसे उन्होंने 2018 में अपलोड किया है। फेसबुक यूजर ‘पारुल बड़ौत’ ने इस वीडियो को 27 फरवरी 2018 को अपनी प्रोफाइल से शेयर किया था।

वायरल वीडियो को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर ने अपनी प्रोफाइल में खुद को पालनपुर का रहने वाला बताया है। उनकी प्रोफाइल को करीब तेहर सौ लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: हाथ में तलवार लिए हुए हंगमा कर रहे व्यक्ति का वीडियो जोधपुर के बिजली विभाग में फरवरी 2018 में हुई घटना का है, जिसे जयपुर का बताकर भ्रामक दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : बिजली का बिल ज्यादा आने पर जयपुर के बिजली विभाग में तलवार लेकर पहुंचा अब्दुल हकीम
  • Claimed By : FB User-Tanmay Modh
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later