X

Fact Check: 2012 की तस्वीर अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद में भ्रामक दावे से वायरल

मुंबई में अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद के संदर्भ में ब्रांदा पुलिस स्टेशन के बाहर नमाज अदा किए जाने के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर 2012 की है, जिसे हाल का बताकर भ्रामक संदर्भ में वायरल किया जा रहा है।

  • By Vishvas News
  • Updated: May 4, 2022

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। महाराष्ट्र में अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद के बीच सोशल मीडिया पर वायरल हो रही एक तस्वीर में सड़क पर लोगों को नमाज अदा करते हुए देखा जा सकता है। दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर हाल की है, जब महाराष्ट्र में बांद्रा रेलवे स्टेशन के बाहर मुस्लिमों ने नमाज अदा किया।

हमारी जांच में यह दावा भ्रामक निकला। नमाज बनाम हनुमान चालीसा विवाद के बीच वायरल हो रही यह तस्वीर 2012 की है, जिसे हाल का बताकर भ्रामक संदर्भ में वायरल किया जा रहा है।

क्या है वायरल?

फेसबुक यूजर ‘Ashish Kunwar Singh’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”Bandra Railway Station (west) in Mumbai But हनुमान चालीसा not allowed.😭
हनुमान चालीसा घर पर पढ़ें क्यूँ कि सड़क जाम है-ठाकरे सरकार।”

सोशल मीडिया पर भ्रामक दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर

कई अन्य यूजर्स ने भी इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

वायरल तस्वीर को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर यह गेट्टी इमेजेज की वेबसाइट पर मौजूद मिली। दी गई जानकारी के मुताबिक, यह तस्वीर 17 अगस्त 2012 की है, जब ईद के मौके पर मुस्लिमों ने बांद्रा पुलिस स्टेशन के बाहर नमाज अदा किया था।

Source-Getty Images

कई अन्य पुरानी न्यूज रिपोर्ट्स में भी इस तस्वीर का इस्तेमाल समान संदर्भ में किया गया है, जिसे हालिया अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद का बताकर वायरल किया जा रहा है।

वायरल हो रही तस्वीर को लेकर हमसे बांद्रा पुलिस स्टेशन के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर राजेश देवरे ने कहा, ‘पिछले कई सालों से ईद के मौके पर ब्रांद्रा पुलिस स्टेशन के बाहर नमाज पढ़ी जाती रही है और इस बार भी ऐसा हुआ है।’ कई न्यूज रिपोर्ट्स में मुंबई समेत देश के अलग-अलग हिस्सों में ईद के मौके पर नमाज अदा किए जाने की तस्वीरों को देखा जा सकता है।

स्पष्ट है कि वायरल हो रही तस्वीर न तो हाल की है और न ही इसका नमाज-हनुमान चालीस विवाद से कोई संबंध है। गौरतलब है कि मुंबई में अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। न्यूज रिपोर्ट्स के मुताबिक, महाराष्ट्र की शिवसेना ने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए तीन मई की समयसीमा को लेकर मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे को स्पष्ट संदेश देते हुए कहा कि राज्य अल्टीमेटम से नहीं चलता, बल्कि कानून के शासन से चलता है।

वायरल हो रही तस्वीर को भ्रामक दावे के साथ शेयर करने वाले यूजर को फेसबुक पर करीब एक हजार लोग फॉलो करते हैं और यह प्रोफाइल एक विचारधारा विशेष से प्रेरित है।

निष्कर्ष: मुंबई में अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद के संदर्भ में ब्रांदा पुलिस स्टेशन के बाहर नमाज अदा किए जाने के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीर 2012 की है, जिसे हाल का बताकर भ्रामक संदर्भ में वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : अजान बनाम हनुमान चालीसा विवाद में बांद्रा में स्टेशन के बाहर नमाज पढ़ते मुस्लिम
  • Claimed By : FB User-Ashish Kunwar Singh
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

टैग्स

अपना सुझाव पोस्ट करें
और पढ़े

No more pages to load

संबंधित लेख

Next pageNext pageNext page

Post saved! You can read it later