X

Fact Check: योग गुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण की यह तस्वीर पुरानी है, कोरोना संक्रमित होने के गलत दावे के साथ हो रही वायरल

  • By Vishvas News
  • Updated: May 11, 2021

नई दिल्ली (विश्वास न्यूज)। सोशल मीडिया पर योग गुरु बाबा रामदेव और उनके सहयोगी व पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ आचार्य बालकृष्ण की दो अलग-अलग तस्वीरें वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं और गंभीर स्थिति की वजह से दोनों को वेंटिलेटर पर रखा गया है।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा भ्रामक निकला। योग गुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण की वायरल हो रही तस्वीरें पुरानी हैं, जिसका कोरोना वायरस संक्रमण से कोई लेना-देना नहीं है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर ‘Mohammad Shahin Khan’ ने वायरल तस्वीर (आर्काइव लिंक) को शेयर करते हुए लिखा है, ”ऑक्सीजन पर ज्ञान देने वाला रामदेव बाबा अभी कुछ दिन पहले वेंटीलेटर पर था.. ।”

वहीं, ट्विटर यूजर ‘Dilsedesh’ ने रामदेव और बालकृष्ण की तस्वीर (आर्काइव लिंक) को समान दावे के साथ शेयर किया है।

पड़ताल

पड़ताल की शुरुआत हमने न्यूज सर्च से की। न्यूज सर्च में हमें ऐसी कोई खबर नहीं मिली, जिसमें योग गुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण वेंटिलेटर पर रखे जाने का जिक्र हो।

इसके बाद हमने दोनों वायरल तस्वीरों की बारी-बारी से पड़ताल की। गूगल रिवर्स इमेज सर्च किए जाने पर योग गुरु रामदेव की यह तस्वीर हमें तस्वीर इंडिया टुडे की वेबसाइट पर प्रकाशित एक पुरानी रिपोर्ट में मिली।

इंडिया टुडे की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट में लगी तस्वीर

दी गई जानकारी के मुताबिक, बाबा रामदेव ने 12 जून 2011 को देहरादून के एक अस्पताल में अपना अनशन समाप्त किया। न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, रामदेव सख्त भ्रष्टाचार विरोधी कानून की मांग को लेकर अनशन पर बैठे थे, लेकिन बीच में तबीयत खराब होने की वजह से उन्हें देहरादून के हिमालयन इंस्टीट्यूट ट्रस्ट हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा। इसके बाद श्री श्री रविशंकर और उनके समर्थकों ने अस्पताल जाकर उनका अनशन खत्म कराया था। यह तस्वीर उसी मौके की है, जिसे कोरोना वायरस संक्रमण से जोड़कर वायरल किया जा रहा है।

दूसरी वायरल तस्वीर रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण की है। गूगल रिवर्स इमेज सर्च किए जाने पर हमें यह तस्वीर अमर उजाला की वेबसाइट पर प्रकाशित पुरानी रिपोर्ट में लगी मिली।

अमर उजाला की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट

24 अगस्त 2019 को प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, ‘पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ व बाबा रामदेव के सहयोगी आचार्य बालकृष्ण का शुक्रवार दोपहर अचानक स्वास्थ्य खराब हो गया। तबीयत अधिक खराब होने पर उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया।’ यानी यह तस्वीर भी पुरानी है, जिसे हाल का बताकर इस दावे के साथ वायरल किया जा रहा है कि बालकृ्ष्ण कोरोना वायरस की वजह से संक्रमित हो गए हैं और उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखना पड़ा है।

हमें पतंजलि के प्रवक्ता एस के तिजारावाला का इस बारे में किया गया एक ट्वीट भी मिला, जिसके मुताबिक, फूड प्वाइजनिंग की वजह से आचार्य बालकृष्ण की तबीयत बिगड़ी थी।

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के हरिद्वार प्रभारी अनूप कुमार सिंह ने पुष्टि करते हुए बताया, ‘यह दोनों तस्वीरें पुरानी है। आचार्य बालकृष्ण की तस्वीर पुरानी है, जब फूड प्वाइजनिंग की वजह से उन्हें ऋषिकेश एम्स में भर्ती कराया गया था। वहीं, बाबा रामदेव की वायरल हो रही तस्वीर भी पुरानी है, जब वह काला धन के खिलाफ कानून की मांग को लेकर अनशन पर बैठे थे और उनकी तबीयत खराब हो गई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।’

वायरल तस्वीर को गलत दावे के साथ साझा करने वाले फेसबुक यूजर ने अपनी प्रोफाइल में खुद को कांग्रेस का कार्यकर्ता बताया है। उनकी प्रोफाइल को 78 लोग फॉलो करते हैं।

निष्कर्ष: योग गुरु बाबा रामदेव और पतंजलि के सीईओ आचार्य बालकृष्ण के कोरोना वायरस से संक्रमित और वेंटिलेटर सपोर्ट पर होने के दावे के साथ वायरल हो रही तस्वीरें पुरानी हैं, जिसे गलत संदर्भ में साझा किया जा रहा है। दोनों तस्वीरों का कोरोना वायरस संक्रमण से कोई लेना-देना नहीं है।

  • Claim Review : कोरोना संक्रमित होकर वेंटिलेटर सपोर्ट पर बाबा रामदेव
  • Claimed By : FB User-Mohammad Shahin Khan
  • Fact Check : भ्रामक
भ्रामक
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later