X

Fact Check: नरेंद्र मोदी की यह पुरानी फोटो है, जिसे एडिट कर जोड़ी गई है छोटा राजन की तस्वीर

(नई दिल्ली)। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें नरेंद्र मोदी के अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के साथ होने का दावा किया जा रहा है। विश्वास न्यूज की पड़ताल में यह तस्वीर फर्जी निकली। फोटोशॉप की मदद से मोदी की एक पुरानी तस्वीर को एडिट कर उसमें छोटा राजन की तस्वीर जोड़ दी गई है। वायरल हो रही तस्वीर नरेंद्र मोदी के 1993 के अमेरिकी दौरे की है, जिसमें वह अपने कुछ सहयोगियों के साथ जॉन एफ केनेडी एयरपोर्ट पर नजर आ रहे हैं।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक पर विजय अक्षित के प्रोफाइल पेज से एक तस्वीर को शेयर किया गया है, जिसमें नरेंद्र मोदी के साथ देवेंद्र फडणवीस और छोटा राजन के होने का दावा किया जा रहा है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फर्जी तस्वीर

पड़ताल

न्यूज सर्च में हमें ऐसी कई खबरों का लिंक मिला, जिसके मुताबिक, महाराष्ट्र में बीजेपी-शिव सेना की सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले) ने छोटा राजन के भाई दीपक निखलजे को सतारा की फलटन सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है। गठबंधन के तहत सीटों के बंटवारे में आरपीआई को 6 सीटें मिली हैं। निखलजे, आरपीआई अठावले के साथ कई वर्षों से जुड़े हुए हैं। इससे पहले उन्होंने पार्टी के टिकट पर चेंबूर से चुनाव लड़ा था, लेकिन चुनाव हार गए थे।

न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक उम्मीदवारी की घोषणा होने के अगले दिन ही निखलजे ने अपना नामांकन वापस ले लिया है।

वायरल तस्वीर को रिवर्स इमेज करने पर हमें अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के वेबसाइट पर 26 सितंबर 2014 को प्रकाशित आर्टिकल मिला, जिसमें इन तस्वीरों को इस्तेमाल किया गया है।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित आर्टिकल से ली गई तस्वीर (Via-सुरेश जानी)

खबर के मुताबिक यह तस्वीर 1993 की है, जब नरेंद्र मोदी अमेरिका गए थे। उस दौरान सुरेश जानी (नरेंद्र मोदी के दाएं) जॉन एफ केनेडी एयरपोर्ट पर उन्हें रिसीव करने आए थे। रिपोर्ट के मुताबिक सुरेश जानी, नरेंद्र मोदी के पुराने सहयोगी हैं, जो वडनगर से मोदी को जानते हैं। वडनगर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह क्षेत्र है।

वायरल तस्वीर के साथ जब मूल तस्वीर को मिलाकर देखते हैं तो पता चलता है कि जिस व्यक्ति (बाईं ओर खड़े)  छोटा राजन बताया गया है, वह कोई और हैं और उनकी तस्वीर को एडिट कर उसे छोटा राजन बना दिया गया है।

सर्च में हमें रेडिफ डॉट कॉम पर 26 सितंबर 2014 को प्रकाशित एक और आर्टिकल मिला, जिसमें  समान तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है।

खबर में जानी के बयान का भी जिक्र है। वह कहते हैं, ‘मैं मोदी को रिसीव करने एयरपोर्ट गया था, जब वह पहली बार 1993 में अमेरिका पहुंचे। इसके बाद वह 1997 और 2000 में भी आए।’ अपनी पहली यात्रा के दौरान मोदी ने पूर्वी और पश्चिमी तट के साथ बॉस्टन और शिकागो की यात्रा की। इसके बाद वह चार दिनों के लिए जानी के घर पर रुके। जानी बताते हैं, ‘वह दो झोला और एक छोटा बैग लेकर आए थे। उन्होंने साधारण कुर्ता और एचएमटी की घड़ी पहन रखी थी।’

बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने छोटा राजन के साथ नरेंद्र मोदी की वायरल तस्वीर को फर्जी बताया। हालांकि, उन्होंने मोदी के साथ नजर आ रहे सुरेश जानी और अन्य लोगों की पहचान की पुष्टि नहीं की।

निष्कर्ष: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वायरल हो रही अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन की तस्वीर एडिटेड है। जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, वह 1993 में नरेंद्र मोदी के अमेरिका यात्रा की है, जिसमें वह अपने पुराने सहयोगी सुरेश जानी के साथ नजर आ रहे हैं।

  • Claim Review : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन
  • Claimed By : FB User-Vijay Akshit
  • Fact Check : False
False
    Symbols that define nature of fake news
  • True
  • Misleading
  • False
जानिए सच्‍ची और झूठी सबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके क्विज खेले

पूरा सच जानें...

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी खबर पर संदेह है जिसका असर आप, समाज और देश पर हो सकता है तो हमें बताएं। हमें यहां जानकारी भेज सकते हैं। हमें contact@vishvasnews.com पर ईमेल कर सकते हैं। इसके साथ ही वॅाट्सऐप (नंबर – 9205270923) के माध्‍यम से भी सूचना दे सकते हैं।

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later