X

Fact Check: प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना के नाम पर फैलाया जा रहा है झूठ

  • By Vishvas News
  • Updated: September 19, 2019

नई दिल्‍ली (विश्‍वास टीम)। आज कल सोशल मीडिया पर एक एक मैसेज वायरल हो रहा है जिसमें लिखा है, “प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता में अपना रजिस्ट्रेशन करे और पाए 4500 हर महीने। रजिस्ट्रेशन करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर अपना फॉर्म भरे 👉 https://allyojana245.blogspot.com/ 🙏 क्रप्या ध्यान दे: 🙏 रजिस्ट्रेशन फ्री है अपने दोस्तों को भी शेयर करे जिससे उनको भी लाभ पहुचे हर युवा रोजगार जल्द से जल्द फॉर्म भरे.” असल में यह खबर गलत है। प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता जैसी कोई योजना नहीं है।

CLAIM

वायरल मैसेज में लिखा है, “प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता में अपना रजिस्ट्रेशन करे और पाए 4500 हर महीने। रजिस्ट्रेशन करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर अपना फॉर्म भरे 👉 https://allyojana245.blogspot.com/ 🙏 क्रप्या ध्यान दे: 🙏 रजिस्ट्रेशन फ्री है अपने दोस्तों को भी शेयर करे जिससे उनको भी लाभ पहुचे हर युवा रोजगार जल्द से जल्द फॉर्म भरे.”

*प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता* में अपना रजिस्ट्रेशन करे और पाए 4500 हर महीने रजिस्ट्रेशन करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर…

Posted by Ankit Yadav on Tuesday, 17 September 2019

FACT CHECK

अपनी पड़ताल को शुरू करने के लिए हमने इस मैसेज में दिए लिंक पर क्लिक किया। इस लिंक पर क्लिक करते ही हमारे सामने https://allyojana245.blogspot.com यूआरएल से एक पेज खुला। इस पेज पर प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर लगी है।

इस तस्वीर के नीचे लिखा है। प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना 2019 = मुबारक हो आप प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना के पात्र है = आपको प्रति महीना 4100 रूपये का भत्ता मिलेगा, जिसे आप ग्राम पंचायत में ग्राम विकास अधिकारी से प्राप्त करेंगे = पेंशन की अंतिम लिस्ट में नाम जुडवाने के लिए आपको नीचे दिये हुए नियमो का पालन करना पड़ेगा = इस योजना को WhatsApp पर 10 लोगो को शेयर करे = उसके बाद लिस्ट में अपना नाम जुडवाए = और फिर अंत में आपका आवेदन नंबर प्राप्त करें।

नीचे आपसे इस मैसेज को 10 और लोगों को वॉट्सऐप पर फॉरवर्ड करने को कहा जाता है।

यदि आप यह मैसेज 10 लोगों को शेयर करते हैं तो आपको एक पॉप अप नोटिफिकेशन आता है जिसमें लिखा होता है कि आपका रजिस्ट्रेशन सफलतापूर्वक प्राप्त हो गया है। साथ ही, आपको रजिस्ट्रेशन नंबर भी दिया जाता है।

इसके बाद जब आप रजिस्ट्रेशन कन्फर्म करने की कोशिश करते हैं तो आपसे फन ऐप डाउनलोड करने को कहा जाता है।

इस पूरे प्रकरण में कहीं भी आपका नाम या कोई और पर्सनल सूचना नहीं मांगी जाती।

पहले ही पेज पर ग्राम पंचायत में ग्राम विकास अधिकारी का ज़िक्र है इसलिए हमने ज़्यादा पुष्टि के लिए पंचायती राज मिनिस्ट्री के मीडिया कंसलटेंट अंजनी कुमार तिवारी से बात की। उन्होंने हमें बताया कि पंचायती राज मिनिस्ट्री के अंतर्गत ऐसी कोई भी बेरोज़गार भत्ता योजना नहीं चल रही है। लोग ऐसी फर्जी ख़बरों के झांसे में ना आएं।

हमने ढूंढा तो पाया कि प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता जैसी कोई सरकारी योजना है ही नहीं।

इस पोस्ट को Ankit Yadav नाम के फेसबुक यूजर ने शेयर किया था।

निष्कर्ष: हमारी पड़ताल में हमने पाया कि वायरल हो रहा मैसेज गलत है। प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता जैसी कोई योजना नहीं है। ऐप डाउनलोड कराने के लिए फैलाया जा रहा है फर्जी मैसेज।

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later