X

Fact Check: यह शाहीन बाग का प्रदर्शनकारी नहीं, पुलवामा में पकड़ा गया संदिग्ध आतंकी है

  • By Vishvas News
  • Updated: January 23, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर बुर्का पहने हुए एक पुरुष की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसे लेकर दावा किया जा रहा है कि वह दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाओं के लिबास में प्रदर्शन कर रहा था।

विश्वास न्यूज की जांच में यह दावा गलत निकला। बुर्का पहने जिस व्यक्ति की तस्वीर को दिल्ली के शाहीन बाग का बताकर वायरल किया जा रहा है, वह वास्तव में जम्मू-कश्मीर में पकड़े गए संदिग्ध आतंकी की तस्वीर है।

क्या है वायरल पोस्ट में?

फेसबुक यूजर रवि चंद्र राय (Ravi Chandra Ray) ने बुर्काधारी पुरुष की तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है, ‘शाहीन बाग से सलमा का बुरखा पहनकर बलमा भी पहुंच रहे हैं। बिरयानी और 500 रुपये का सवाल है भई!’

फेसबुक पर वायरल हो रही फर्जी पोस्ट

कई अन्य सोशल मीडिया यूजर्स ने इस तस्वीर को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। पड़ताल किए जाने तक इस पोस्ट को करीब 200 से अधिक लोग शेयर कर चुके हैं।

(फेसबुक पोस्ट का आर्काइव लिंक)

पड़ताल

गूगल रिवर्स इमेज किए जाने पर ‘एनडीटीवी खबर’ की वेबसाइट पर न्यूज एजेंसी भाषा के हवाले से लिखी गई खबर का लिंक मिला, जिसमें इस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है। 16 अक्टूबर 2015 को प्रकाशित खबर के मुताबिक, ‘कश्मीर में बुर्का पहने आतंकियों ने व्यस्त बाजार में गोली चलाई, जिसमें तीन लोग घायल हो गए।’

तत्कालीन पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर जोन) एस जे एम गिलानी के मुताबिक, ‘आतंकवादियों ने पुलवामा शहर में पुलिस दल को देखकर गोलियां चलायीं, जिससे कुछ नागरिक घायल हो गये। बुर्का पहने एक संदिग्ध आतंकवादी को गिरफ्तार किया गया है।’

खबर से मिले कीवर्ड के साथ न्यूज सर्च करने पर हमें अंग्रेजी न्यूज चैनल ‘टाइम्स नाऊ’ के वेरिफाइड यू-ट्यूब चैनल पर अपलोड वीडियो बुलेटिन मिला, जिसमें इसी व्यक्ति की तस्वीर दिखाई गई है।

वीडियो के साथ दी गई जानकारी के मुताबिक, ‘कश्मीर में सुरक्षा बलों ने बुर्के में आतंकी को पकड़ा।’ खबर के मुताबिक, ‘यह घटना 16 अक्टूबर 2015 की है, जब जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में पुलिस ने एक संदिग्ध आतंकी को पकड़ा। संदिग्ध आतंकी बुर्का पहने हुए था और उसकी पहचान तारिक अहमद के तौर पर हुई है।’

एक अन्य न्यूज रिपोर्ट से भी इसकी पुष्टि होती है। 17 अक्टूबर 2015 की इस रिपोर्ट के मुताबिक, ‘जब पुलवामा में बुर्काधारी आतंकियों ने भीड़ पर गोलियां चलाई थीं। पुलिस ने इस दौरान एक बुर्काधारी को गिरफ्तार किया था, जबकि दो बुर्काधारी आतंकी भागने में कामयाब हो गए थे। पकड़े गए बुर्काधारी शख्स की पहचान तारिक अहमद के रूप में हुई थी।’

हमारे सहयोगी दैनिक जागरण के कश्मीर ब्यूरो ने भी इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया, ‘यह कश्मीर की पुरानी तस्वीर है।’

गौरतलब है कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले एक महीने से अधिक से प्रदर्शन हो रहा है, जबकि वायरल हो रहे व्यक्ति की तस्वीर करीब पांच साल पुरानी है।

निष्कर्ष: दिल्ली के शाहीन बाग में जारी प्रदर्शन के दौरान बुर्काधारी पुरुष की तस्वीर वायरल हो रही है, वह जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में गिरफ्तार हुए संदिग्ध आतंकी की है, जिसे 2015 में पकड़ा गया था।

  • Claim Review : दिल्ली के शाहीन बाग में बुर्के में पकड़ा गया पुरुष प्रदर्शनकारी
  • Claimed By : FB User- Ravi Chandra Ray
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

  • वॅाट्सऐप नंबर 9205270923
  • टेलीग्राम नंबर 9205270923
  • ईमेल contact@vishvasnews.com
जानिए वायरल खबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later