X

Fact Check : नेपाली सैनिकों के साथ भारत ने नहीं की क्रूरता, पोस्‍ट झूठी है

  • By Vishvas News
  • Updated: July 12, 2020

नई दिल्‍ली (विश्‍वास न्‍यूज)। भारत-नेपाल विवाद के बीच सोशल मीडिया पर कई प्रकार के झूठ वायरल हो रहे हैं। तस्‍वीरों और वीडियो के माध्‍यम से फर्जी खबरें फैलाई जा रही हैं। इसी क्रम में अब एक वीडियो को वायरल करते हुए कहा जा रहा है कि भारतीय सेना ने नेपाली गोरखा सैनिकों के साथ बहुत बुरा सलूक किया। वीडियो में कुछ सैनिकों के ऊपर धुआं छोड़ते हुए देखा जा सकता है।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की पड़ताल की। यह फर्जी निकली। खुद भारतीय सेना ने इसे फेक बताया।

क्‍या हो रहा है वायरल

फेसबुक पेज कश्‍मीर ने 30 जून को एक वीडियो को अपलोड करते हुए दावा किया जा भारतीय सेना ने नेपाल के गोरखा सैनिकों के साथ बहुत बुरा बर्ताव किया। क्‍लेम को आप यहां पढ़ सकते हैं : ‘This is now Nepali Gorkha soldiers are treated by the Indian Army. They are known as the bravest warriors but they are treated as lower caste soldiers. This is a chemical attack drill without any protective equipment. It can cause permanent damage.’

वायरल पोस्‍ट के फेसबुक और आकाईव वर्जन को देखें।

पड़ताल

विश्‍वास न्‍यूज ने सबसे पहले वायरल वीडियो को ध्‍यान से देखा। 46 सेकंड के इस वीडियो में कुछ लोगों का एक झुंड बैठा हुआ है। इनके ऊपर एक शख्‍स को धुआं फैलाते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में यह भी बोलते हुए सुना जा सकता है कि नाक बंद करो…। वीडियो देखकर ही साफ लगा रहा है कि यह किसी प्रकार की ट्रेनिंग का वीडियो है।

इसके बाद हमने Youtube पर अलग-अलग कीवर्ड का इस्‍तेमाल करते हुए संबंधित वीडियो को सर्च करना शुरू किया। हमें NSG Commando ट्रेनिंग का एक वीडियो मिला। जिसमें वायरल वीडियो की तरह कुछ लोग एकजुट होकर बैठे हुए दिखें। जिसके बाद इनके ऊपर धुआं छोड़ा गया।

इसी तरह यह वीडियो हमें एक और Youtube चैनल पर मिला। इसमें बताया गया कि एनएसजी कमांडो को कैसे आंसू गैस से बचने की ट्रेनिंग दी जाती है, वीडियो उसी से जुड़ा हुआ है।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल वीडियो को लेकर भारतीय सेना से संपर्क किया। सेना के प्रवक्‍ता ने विश्‍वास न्‍यूज को बताया कि वायरल पोस्‍ट फर्जी है। यह किसी ट्रेनिंग का वीडियो हो सकता है।

विश्‍वास न्‍यूज को ओरिजनल वीडियो नहीं मिला, लेकिन यह तय था कि भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए ट्रेनिंग के वीडियो को झूठे दावों के साथ वायरल किया जा रहा है।

अंत में हमने फर्जी पोस्‍ट करने वाले यूजर की जांच की। कश्‍मीर नाम के इस पेज को जून 2020 में ही बनाया गया है। इसमें कश्‍मीर से जुड़ी खबरें, वीडियो, तस्‍वीरों को अपलोड किया जाता है।

निष्कर्ष: विश्‍वास न्‍यूज की जांच में पता चला कि वायरल पोस्‍ट फर्जी है। भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए फर्जी दावे के साथ वीडियो को वायरल किया जा रहा है।

  • Claim Review : दावा किया गया कि नेपाली सैनिकों के साथ भारतीय सेना ने किया बदसलूकी
  • Claimed By : फेसबुक पेज Kashmir
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

कोरोना वायरस से कैसे बचें ? PDF डाउनलोड करें और जानिए कोरोना वायरस से जुड़ी महत्वपूर्ण सूचना

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later