X

Fact Check: यह वीडियो एडिटेड है, केजरीवाल ने नहीं कहा कि वो आरएसएस के मेंबर थे

  • By Vishvas News
  • Updated: March 7, 2020

नई दिल्ली (विश्वास टीम)। सोशल मीडिया पर एक 7 सेकंड का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कैमरे पर बोलते सुना जा सकता है कि वह और उनका परिवार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सदस्य हैं। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह बात एक इंटरव्यू में मानी है कि वह और उनका परिवार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ा हुआ है।

विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। असल में इस वीडियो को क्रॉप किया गया है। वायरल सात सेकंड की क्लिप, 22 मिनट के एक इंटरव्यू से ली गई है जो केजरीवाल ने 3 फरवरी, 2020 को एनडीटीवी को दिया था। इंटरव्यू में केजरीवाल एक पूर्व भाजपा समर्थक के बारे में बात कर रहे थे, जिन्होंने कहा था कि वह दिल्ली राज्य चुनावों में आम आदमी पार्टी को वोट देंगे।

क्या हो रहा है वायरल?

वायरल वीडियो में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कैमरे पर बोलते सुना जा सकता है कि वह और उनका परिवार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सदस्य हैं। वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह बात एक इंटरव्यू में मानी है कि वह और उनका परिवार राष्ट्रीय स्वम यंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़ा हुआ है। वीडियो के साथ डिस्क्रिप्शन में लिखा है “अब हमें बताओ कि तुम आरएसएस की टीम हो या नहीं !! कोई शक !?

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहाँ पढ़ा जा सकता है।

पड़ताल

इस वीडियो की पड़ताल करने के लिए हमने इस वीडियो को invid टूल पर डाला और इसके कीफ्रेम्स निकाले। अब हमने इन कीफ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज पर सर्च किया। हमें यह वीडियो NDTV के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर 4 फरवरी, 2020 को अपलोडेड मिला जिसमें लिखा था कि इस वीडियो को 3 फरवरी को लाइव स्ट्रीम किया गया था। 22 मिनट के इस वीडियो में 7 मिनट 16 सेकंड के पर केजरीवाल कहते हैं, “मैं एक टीवी चैनल पर देख रहा था कि एक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थक एक चैनल पर बात कर रहा था कि, हमारा परिवार जनसंघ का परिवार है, जन्म से हम भाजपा के सदस्य पैदा हुए थे। मेरे पिता जनसंघ में थे और आपातकाल के दौरान जेल गए थे। लेकिन उन्होंने कहा कि वह इस बार केजरीवाल को वोट देंगे।” हमने पाया कि वायरल सात सेकंड की क्लिप 22 मिनट के इस इंटरव्यू से ली गई है जो केजरीवाल ने 3 फरवरी, 2020 को एनडीटीवी को दिया था। इंटरव्यू में, केजरीवाल एक पूर्व भाजपा समर्थक के बारे में बात कर रहे हैं, जिन्होंने कहा था कि वह दिल्ली राज्य चुनावों में आम आदमी पार्टी को वोट देंगे।

हमने इस विषय में आम आदमी पार्टी के नेता दीपक बाजपाई से बात की। उन्होंने कहा “भाजपा और संघ के लोगों ने अरविंद केजरीवाल जी का यह फर्जी वीडियो इसलिए बनाया क्योंकि वह देशभक्त और ईमानदार नेताओं से अपना संबंध दिखाना चाहते हैं। दरअसल संघ और भाजपा के लोगों में अपने नेताओं के प्रति ग्लानि का भाव है क्योंकि उन्होंने आजादी के आंदोलन में देश को धोखा दिया, अंग्रेजों का साथ दिया, देश में दंगे कराए और भ्रष्टाचार किया। यही काम वह सरदार पटेल के साथ कर रहे हैं। आज बीजेपी और संघ जिन सरदार पटेल की विरासत चुराने की कोशिश कर रही है वह संघ के सबसे बड़े आलोचक थे। जब सरदार पटेल अंग्रेजों से लड़ रहे थे, संघ के नेता अंग्रेजो के तलवे चाट रहे थे। संघ और बीजेपी का लज्जाजनक इतिहास उन्हें बार-बार दूसरे नेताओं की आभा चुराने को मजबूर करता है। मेरी सलाह है कि भाजपा और संघ के नेता अपना चरित्र निर्माण करें और उसे अनुकरणीय बनाएं। दूसरे नेताओं की साख और छवि चुराने से उनके संगठनों का कोई भला नहीं होगा।”

इस पोस्ट को सोशल मीडिया पर कई लोग शेयर कर रहे हैं। इन्हीं में से एक है @MalabarBiryani नाम का ट्विटर यूजर। इस यूजर के प्रोफाइल के अनुसार यूजर के ट्विटर पर 2,838 फ़ॉलोअर्स है।

निष्कर्ष: विश्वास न्यूज़ ने अपनी पड़ताल में पाया कि यह दावा गलत है। असल में इस वीडियो को क्रॉप किया गया है। वायरल सात सेकंड की क्लिप 22 मिनट के एक इंटरव्यू से ली गई है जो केजरीवाल ने 3 फरवरी, 2020 को एनडीटीवी को दिया था। इंटरव्यू में केजरीवाल एक पूर्व भाजपा समर्थक के बारे में बात कर रहे थे, जिन्होंने कहा था कि वह दिल्ली राज्य चुनावों में आम आदमी पार्टी को वोट देंगे।

  • Claim Review : Does anybody need further proof of Kejriwal's RSS roots?
  • Claimed By : @MalabarBiryani
  • Fact Check : झूठ
झूठ
    फेक न्यूज की प्रकृति को बताने वाला सिंबल
  • सच
  • भ्रामक
  • झूठ

पूरा सच जानें... किसी सूचना या अफवाह पर संदेह हो तो हमें बताएं

सब को बताएं, सच जानना आपका अधिकार है। अगर आपको ऐसी किसी भी मैसेज या अफवाह पर संदेह है जिसका असर समाज, देश और आप पर हो सकता है तो हमें बताएं। आप हमें नीचे दिए गए किसी भी माध्यम के जरिए जानकारी भेज सकते हैं...

  • वॅाट्सऐप नंबर 9205270923
  • टेलीग्राम नंबर 9205270923
  • ईमेल contact@vishvasnews.com
जानिए वायरल खबरों का सच क्विज खेलिए और सीखिए स्‍टोरी फैक्‍ट चेक करने के तरीके

टैग्स

संबंधित लेख

Post saved! You can read it later